पहलू खां मामले की जांच करेगी SIT, भारी विरोध के बाद राज्य सरकार ने दिए निर्देश

पहलू खां मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी की अध्यक्षता नितिनदीप बल्लगन करेंगे. नितिनदीप बल्लगन एसओजी में उपमहानिरीक्षक पुलिस हैं.

बहु चर्चित पहलू खां हत्याकांड मामले में एक नया मोड़ आ गया है. राजस्थान की निचली अदालत के सभी आरोपियों को रिहा किए जाने के फैसले के बाद राज्य सरकार सवालों के कठघरे में आ गई थी. इसके बाद सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए एसआईटी गठित कर मामले की जांच के आदेश दिए हैं.

पहलू खां मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी की अध्यक्षता नितिनदीप बल्लगन करेंगे. नितिनदीप बल्लगन एसओजी में उपमहानिरीक्षक पुलिस हैं. एसआईटी में सीआईडी सीबी के एसपी रणधीर सिंह और सुनील कुमार एएसपी शामिल हैं. एसआईटी इस मामले में हुई खामियों की हर एंगल से जांच पड़ताल करेगी और प्रकरण में जिम्मेदारों की भूमिका भी तय करेगी.

सूत्रों ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पहलू खां मॉब लिंचिंग मामले की फिर से जांच पर चर्चा के लिए शुक्रवार को बैठक की. मुख्यमंत्री कार्यालय के सूत्र ने पुष्टि की कि फिर से जांच के लिए आदेश जल्द जारी किया जाएगा.

मालूम हो कि पहलू खां हत्या मामले के सभी आरोपियों के बरी होने के बाद राजस्थान की कांग्रेस सरकार तमाम राजनीतिक दलों के निशाने पर आ गई थी. खुद पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी ने कोर्ट के इस फैसले पर हैरानी जताई थी. बीएसपी प्रमुख मायावती ने भी इस मामले को लेकर राज्य सरकार पर हमला बोला था.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, “राजस्थान कांग्रेस सरकार की घोर लापरवाही व निष्क्रियता के कारण बहुचर्चित पहलू खां माब लिंचिंग मामले में सभी 6 आरोपी वहां की निचली अदालत से बरी हो गए, यह अतिदुर्भाग्यपूर्ण है. पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के मामले में वहां की सरकार अगर सतर्क रहती तो क्या यह संभव था, शायद कभी नहीं.”

ये भी पढ़ें: पहलू खान फैसले पर ट्वीट कर फंसी प्रियंका गांधी, बिहार में दर्ज हुआ आपराधिक केस