Rajasthan government report, राजस्थान: कोटा में हाइपोथर्मिया से हुई 110 बच्चों की मौत, जांच पैनल की रिपोर्ट
Rajasthan government report, राजस्थान: कोटा में हाइपोथर्मिया से हुई 110 बच्चों की मौत, जांच पैनल की रिपोर्ट

राजस्थान: कोटा में हाइपोथर्मिया से हुई 110 बच्चों की मौत, जांच पैनल की रिपोर्ट

राजस्थान सरकार के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने बच्चों की मौत पर कहा कि 'यह दिल दहला देने वाली घटना है. इस पर जिम्मेदारी तय होनी चाहिए.'
Rajasthan government report, राजस्थान: कोटा में हाइपोथर्मिया से हुई 110 बच्चों की मौत, जांच पैनल की रिपोर्ट

राजस्थान में मौत का अस्पताल एक नहीं बल्कि कई हैं. कोटा के बाद बूंदी, बीकानेर, जोधपुर, अजमेर सहित कई जिलों से खबरें सामने आ रही हैं. लेकिन कोटा में जिस तरह की लापरवाही सामने आई थी उसके बाद सरकार ने जांच पैनल नियुक्त किया था.

विशेषज्ञों की टीम ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि हाइपोथर्मिया यानी शरीर का तापमान असंतुलित हो जाना के कारण बच्चों की मौत हुई है. यानी ठंड के कारण बच्चों की मौत बड़ी वजह बतायी गयी है.

राजस्थान सरकार के उपमुख्यमंत्री और राजस्थान कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने इस मसले पर शनिवार को बयान दिया था. उन्होंने कहा था कि यह दिल दहला देने वाली घटना है. इस पर जिम्मेदारी तय होनी चाहिये.

इस पर रविवार को राजस्थान के चिकित्सा मंत्री रधु शर्मा ने पलटवार करते हुए अपने उपमुख्यमंत्री पर सवाल खड़े कर दिये. उन्होनें कहा कि जब अस्पताल की छत टपक रही थी और खिड़कियां टूटी हुई थीं तो अस्पताल प्रशासन पीडब्ल्यूडी विभाग को लिख रहा था. इसे ठीक करने के लिए कदम क्यों नहीं उठाए.

पूर्व चिकित्सा मंत्री और राजस्थान विधानसभा के उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि राज्य की चिकित्सा सेवाएं बदहाल हैं. सरकार आंकड़ेबाजी में लगी हुई है और सरकार के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कल जो अपना बयान दिया, जवाबदेही निश्चतौर पर तय होनी चाहिये.

उन्होंने कहा कि ‘सरकार को चाहिये कि जो कमियां हैं उनको आगे आकर दुरस्त करे और एक तरह से ये अलर्ट है. इस इमरजेंसी अलर्ट के अन्दर निजी चिकित्सकों की सेवाएं ली जाएं. जहां इस प्रकार की मृत्यु हो रही है. पहले कोटा, फिर बीकानेर फिर जोधपुर. मैं समझता हूं. लगभग सभी जगह ये हालात हैं. मैं समझता हूं. इस पर सरकार को कदम उठाना चाहिये.’

राठौड़ ने कहा कि ‘ये निश्चिततौर पर क्रिमिनल नेग्लिजेंस है. राजस्थान के चिकित्सा मंत्री योग्य व्यक्ति हैं. परन्तु इस कांग्रेस की गुटबंधी के कारण आपने देखा होगा कि एक बार चिकित्सा मंत्री और परिवहन मंत्री जाते हैं और उसके दूसरे दिन राजस्थान के उपमुख्यमंत्री राजस्थान के दो मंत्रीयों के साथ जाते है. दोनों के बयानों को देखकर लगता है कि सब बयानवीर बने हुये हैं. काम कोई नहीं करना चाहते है.’

ये भी पढे़ं-

सुरक्षित नहीं रहेंगे छात्र तो कैसे होगी तरक्की, JNU हिंसा पर हूं स्तब्ध: CM केजरीवाल

दिल्ली पुलिस ने JNU कैंपस में किया फ्लैग मार्च, ‘दिल्ली पुलिस वापस जाओ’ के लगे नारे

JNU Violence: ABVP का दावा- लेफ्ट विंग ने रची इंटरनेट कनेक्शन काटने की साजिश, हमारे 11 कार्यकर्ता लापता

Rajasthan government report, राजस्थान: कोटा में हाइपोथर्मिया से हुई 110 बच्चों की मौत, जांच पैनल की रिपोर्ट
Rajasthan government report, राजस्थान: कोटा में हाइपोथर्मिया से हुई 110 बच्चों की मौत, जांच पैनल की रिपोर्ट

Related Posts

Rajasthan government report, राजस्थान: कोटा में हाइपोथर्मिया से हुई 110 बच्चों की मौत, जांच पैनल की रिपोर्ट
Rajasthan government report, राजस्थान: कोटा में हाइपोथर्मिया से हुई 110 बच्चों की मौत, जांच पैनल की रिपोर्ट