Rajasthan: राज्यपाल ने इन तीन शर्तों के साथ गहलोत सरकार को दिया सत्र बुलाने का निर्देश

राज्यपाल कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) ने कुछ शर्तों के साथ राज्य सरकार को विधानसभा बुलाने का निर्देश दिया है. साथ ही उन्होंने कहा कि कहा कि राजभवन की विधानसभा सत्र न बुलाने जैसी कभी कोई मंशा नहीं थी.
Rajasthan Governor directed Gehlot government, Rajasthan: राज्यपाल ने इन तीन शर्तों के साथ गहलोत सरकार को दिया सत्र बुलाने का निर्देश

राजस्थान (Rajasthan) के राज्यपाल कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) ने कुछ शर्तों के साथ राज्य सरकार को विधानसभा सत्र बुलाने का निर्देश दिया है. साथ ही उन्होंने कहा कि कहा कि राजभवन की विधानसभा सत्र न बुलाने जैसी कभी कोई मंशा नहीं थी.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

राजस्थान राजभवन की तरफ से जारी आधिकारिक बयान के मुताबिक, राज्यपाल ने राज्य सरकार से तीन पहलुओं पर विचार-विमर्श करने के लिए कहा- सत्र बुलाने से पहले 21 दिन का नोटिस पीरियड, अगर फ्लोर टेस्ट किया जाए, तो उसमें सोशल डिस्टेंसिंग और दूसरी गाइडलाइंस का पालन किया जाना चाहिए.

क्या हैं राज्यपाल की वो तीन शर्तें?

  • विधानसभा का सत्र 21 दिन का क्लीयर नोटिस देकर बुलाया जाए.
  • यदि किसी भी परिस्थिति में विश्वास मत हासिल करने की विधानसभा सत्र में कार्यवाही की जाती है, तो विश्यास मत प्राप्त करने की पूरी प्रक्रिया संसदीय कार्य विभाग के प्रमुख नसचिव की मौजूदगी में की जाए और पूरे प्रोसेस की वीडियों रिकॉर्डिंग कराई जाए. साथ ही ऐसा विश्वास मत केवल हां या ना के बटन के जरिए ही किया जाए. फ्लोर टेस्ट का लाइव टेलीकास्ट भी कराया जाए.
  • इसके अलावा यह भी साफ किया जाए कि अगर विधानसभा का सत्र बुलाया जाता है, तो विधानसभा के सत्र के दौरान डिस्टेंसिंग का पालन किस प्रकार किया जाएगा. क्या कोई ऐसी व्यवस्था है जिसमें 200 विधायकों और 1000 से ज्यादा अधिकारी /कर्मचारियों को इकट्ठा होने पर उनको संक्रमण का कोई खतरा नहीं हो और यदि उनमें से किसी को संकमण हुआ तो उसे अन्य में फैलने से कैसे रोका जायेगा?

सीएम गहलोत ने राज्यपाल को भेजा सत्र बुलाने का प्रस्ताव

बता दें कि राजस्थान (Rajasthan) के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने 31 जुलाई से राज्य विधानसभा सत्र (Assembly Session) का विशेष सत्र बुलाने के लिए राज्यपाल कलराज मिश्र (Kalraj Mishr) को एक नया प्रस्ताव पेश किया था. साथ ही इस प्रस्ताव में सत्र का एजेंडा बदलकर अब कोरोनोवायरस (Coronavirus) कर दिया गया था. इसमें फ्लोर टेस्ट का कोई जिक्र नहीं है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts