राजस्थान: कांग्रेस ने की विधायक दल की बैठक, राज्यपाल से मिले BJP नेता, पढ़ें- सियासी हलचल के सभी अपडेट्स

सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने राज्यपाल को 102 विधायकों के समर्थन की लिस्ट दी है और जल्द से जल्द विधानसभा सत्र (Vidhan Sabha Satra) बुलाकर फ्लोर टेस्ट की मांग की है. सीएम ने कहा कि हमने पूरी रात इंतज़ार किया, लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली.
Live Updates Rajasthan political Crisis, राजस्थान: कांग्रेस ने की विधायक दल की बैठक, राज्यपाल से मिले BJP नेता, पढ़ें- सियासी हलचल के सभी अपडेट्स

राजस्थान की सियासत (Rajasthan Politics) अब एक नए मोड में नज़र आ रही है. जहां हाई कोर्ट (High Court) से पायलट गुट को स्पीकर के नोटिस से राहत मिल गई है तो वहीं अशोक गहलोत जल्द से जल्द विधानसभा सत्र बुलाने की मांग कर रहे हैं. उन्होंने गर्वनर कलराज मिश्र के घर पर करीब 4 घंटे तक प्रदर्शन भी किया. उन्होंने कहा कि गवर्नर दबाव में हैं इसलिए फ्लोर टेस्ट (Floor Test) नहीं कराया जा रहा है.

सीएम ने राज्यपाल को 102 विधायकों के समर्थन की लिस्ट दी है और जल्द से जल्द विधानसभा सत्र बुलाकर फ्लोर टेस्ट की मांग की है. सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि हमने पूरी रात इंतज़ार किया, लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली. गहलोत ने आरोप लगाया है कि राज्यपाल के रुख के पीछे भारतीय जनता पार्टी (BJP) की भूमिका है. गहलोत (Gehlot) बार-बार इस बात को दोहरा रहे हैं कि हमारे पास बहुमत है. विपक्ष (BJP) को इसका स्वागत करना चाहिए, लेकिन यहां उल्टी गंगा बह रही है.

गवर्नर ने कहा अभी हां नहीं कह सकते

गवर्नर हाउस (Governor House) में गहलोत समेत करीब 100 से ज्यादा विधायक प्रोटेस्ट में शामिल हुए उनकी मांग थी कि बहुमत परीक्षण के लिए सत्र बुलाया जाए. वहीं राज्यपाल (Governor Kalraj Mishra) ने CM से कहा कि वो मामले में कानूनी राय ले रहे हैं, क्योंकि ये मामला सुप्रीम कोर्ट के समक्ष भी है. मुख्यमंत्री ने कहा कि वो विधानसभा सत्र की घोषणा होने तक प्रोटेस्ट करते रहेंगे, ऐसे में राज्यपाल ने फिर दोहराया कि वो अभी हां नहीं कह सकते.

राहुल गांधी ने लगाए आरोप

वहीं दूसरी ओर मामले में शुक्रवार को राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि राजस्थान के राज्यपाल (Rajasthan Governor) को एक विधानसभा सत्र बुलाना चाहिए ताकि कांग्रेस सरकार (Congress Government) बहुमत साबित कर सके. राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने शुक्रवार को यह भी आरोप लगाया कि अशोक गहलोत सरकार को गिराने के लिए भाजपा की साजिश स्पष्ट थी.

“देश में कानून और संविधान के अनुसार शासन किया जाता है. सरकारें लोगों के जनादेश के आधार पर बनती और चलती हैं. राजस्थान सरकार को गिराने के लिए भाजपा की साजिश स्पष्ट है. यह राजस्थान के 8 करोड़ लोगों का अपमान है. राज्यपाल विधानसभा सत्र बुला सकते हैं, ताकि देश के सामने सच्चाई आए.

राजस्थान Latest Updates 

  • केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कानून-व्यवस्था का मुद्दा उठाते हुए ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, “वास्तव में गहलोत जी की चिंता का विषय यह है कि आपके नेतृत्व में राज्य में अपराध का ग्राफ दिन-प्रतिदिन बढ़ रहा है, जबकि आपके विधायक रिसॉर्ट्स में आनंद ले रहे हैं. राजस्थान में एक ही दिन में घटित अपराधों की कुछ खबरों पर नजर डालें. गलत प्राथमिकताएं!”

  • राजस्थान राजभवन ने ट्वीट कर जानकारी दी, “राजस्थान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया और नेता प्रतिपक्ष गुलाब चन्द कटारिया के नेतृत्व में 15 सदस्यीय भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल कलराज मिश्र जी से मुलाकात कर प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण और प्रदेश के राजनैतिक स्थिति के बारे में चर्चा की.”

  • सतीश पूनिया ने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री और गृह मंत्री की तरफ से गई ‘8 करोड़ लोग राजभवन का घेराव करेंगे’ की चेतावनी पर आईपीसी की धारा 124 के तहत सजा हो सकती है.

  • पूनिया ने कहा कि राजस्थान का मशहूर पॉलिटिकल ड्रामा चल रहा है. कल का घटनाक्रम अपराधिक दायरे में आता है. सत्र आहूत करना राज्यपाल का अपना अधिकार क्षेत्र में आता है. कांग्रेस के नेता कल जबरदस्ती कागजों पर साइन करवाना चाहते थे, जो गैर संवैधानिक है.
  • राजस्थान भाजपा अध्यक्ष सतीश पूनिया की राजभवन के बाहर प्रेस वार्ता शुरू.
  • जयपुर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया, नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ पहुंचे राजभवन. राज्यपाल कलराज मिश्र से करेंगे मुलाकात. जानकारी के मुताबिक राज्यपाल कलराज मिश्र से सभी भाजपा नेता राजस्थान में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के बारे में जानकारी और बचाव के लिए सुझाव देंगे.

  • कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, “राजस्थान में जनता की निर्वाचित सरकार धरने पर बैठी है. बीजेपी जनमत की हत्या में मगन है. प्रजातंत्र बेड़ियों में है और देश खतरे में है! संविधान और लोकतंत्र की रक्षा हम करेंगे. संघर्ष की इस आंधी के बाद नया दृष्य आएगा. मूल्यों और नीति का झंडा फिर से लहराएगा.”

  • कांग्रेस विधायक दल की बैठक में विधायकों ने सीएम गहलोत की बात समर्थन करते हुए. जरूरत पड़ने पर राष्ट्रपति भवन तक जाने की बात कही है.
  • राज्य में कोरोना और उससे उत्पन्न स्थितियों को लेकर बीजेपी का एक डेलिगेशन राज्यपाल कलराज मिश्र से मिलने राजभवन पहुंचेगा. यह प्रतिनिधिमंडल प्रदेश अध्यक्ष शसतीश पूनियां और नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया की अगुआई में आज शाम 5 बजे राजभवन में राज्यपाल से मिलेगा. प्रतिनिधिमंडल में जयपुर में मौजूद सभी प्रमुख नेता उपस्थित रहेंगे.

  • जयपुर के फेयरमोंट होटल में कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक खत्म हो गई है. इस दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि जरूरत पड़ने पर हम राष्ट्रपति से मिलने राष्ट्रपति भवन जाएंगे. यदि आवश्यक हो, तो हम पीएम के निवास के बाहर भी विरोध प्रदर्शन करेंगे.

  • शाम 4 बजे राज्यपाल कलराज मिश्र से मिलेंगे राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधानसभा सत्र बुलाने के लिए नए प्रस्ताव देने के लिए राज्यपाल कलराज मिश्र से मिलने का समय मांगा था.

  • कांग्रेस के राजस्थान में किए जा रहे बीजेपी के खिलाप प्रदर्शन के चलते गहलोत कैबिनेट की मीटिंग का समय बदला, गहलोत कैबिनेट की बैठक 4 बजे होगी.
  • जहां राज्यपाल को स्वयं मुख्यमंत्री धमका कर असुरक्षित महसूस करवाए, वहां चोरी, डकैती, बलात्कार, हत्या और हिंसक झड़पों से त्रस्त राजस्थान वासियों को मुख्यमंत्री के आगे अपनी सुरक्षा के लिए गुहार लगाना बेकार है!

  • होटल फेयरमाउंट में चल रही है विधायक दल की बैठक, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कर रहे है विधायकों से चर्चा. शाम 4 बजे होगी गहलोत कैबिनेट की बैठक.
  • दोपहर 12.30 राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने फिर से कैबिनेट मीटिंग बुलाई है. कल देर रात हुई बैठक में कोई निर्णय नहीं हो सका. राज्यपाल को भेजे जाने वाले प्रस्ताव पर इस मीटिंग में फिर से चर्चा होगी. 6 आपत्तियों के जवाब के साथ प्रस्ताव तैयार किया जाएगा.
  • भारतीय जनता पार्टी की ”लोकतंत्र की हत्या की साजिश’’ के खिलाफ कांग्रेस आज राजस्थान के सभी जिला मुख्यालयों पर विरोध प्रदर्शन करेगी-कांग्रेस.

  • मीटिंग खत्म होने के बाद मीडिया को कोई जानकारी नहीं दी गई है, और न ही सरकार की तरफ से कुछ भी बातचीत की गई है.
  • फ्लोर टेस्ट की मांग और राज्यपाल के रुख को लेकर गहलोत कैबिनेट की बैठक देर रात खत्म हुई, ये बैठक करीब दो घंटे तक चली.

Related Posts