पायलट के समर्थन में 300 इस्तीफों के बाद राजस्थान कांग्रेस की सभी यूनिट भंग, नई टीम बनाने की तैयारी

राजस्थान NSUI के अध्यक्ष अभिमन्यु पूनिया (Abhimanyu Puniya) ने कहा कि सचिन पायलट को कांग्रेस ने तवज्जो नहीं दी. वहीं अभिमन्यु के साथ-साथ NSUI के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और PCC के मौजूदा सदस्य अनिल चोपड़ा ने भी इस्तीफा दे दिया है.
Rajasthan resignations in support of Pilot in Congress, पायलट के समर्थन में 300 इस्तीफों के बाद राजस्थान कांग्रेस की सभी यूनिट भंग, नई टीम बनाने की तैयारी

सचिन पायलट (Sachin Pilot) को कांग्रेस (Congress) ने राजस्थान (Rajasthan) के डिप्टी सीएम और प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया है.  इसके बाद राज्य में पार्टी के कई नेता पायलट के समर्थन में अपने पद से इस्तीफा दे चुके हैं. प्रदेश भर से करीब 300 पदाधिकारियों के इस्तीफे सामने आए हैं. इनमें कुछ जिलों-ब्लॉकों के अध्यक्ष भी शामिल हैं. इसके बाद कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ने की बात कही जा रही है.

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी से करीब 30 पदाधिकारियों के इस्तीफे के बाद प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडेय ने प्रदेश कार्यकारिणी, समस्त विभागों, प्रकोष्ठ को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया गया है.उन्होंने कहा कि राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के नए अध्यक्ष की नियुक्ति के साथ ही नए प्रदेश कार्यकारिणी, विभागों एवं प्रकोष्ठों का गठन किया जाएगा.

पांडेय ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा की अनुमति के बिना कोई भी कांग्रेसजन मीडिया से संवाद नहीं करेगा.

 

‘सचिन पायलट को कांग्रेस ने नहीं दी तवज्जो’

इसी कड़ी में अब राजस्थान में एनएसयूआई के अध्यक्ष अभिमन्यु पूनिया ने भी इस्तीफा दे दिया है. अभिमन्यु पूनिया (Abhimanyu Puniya) ने कहा कि सचिन पायलट को कांग्रेस ने तवज्जो नहीं दी. वहीं राजस्थान PCC ने पूनिया का इस्तीफा मंजूर कर अभिषेक चौधरी को राजस्थान NSUI का नया अध्यक्ष बना दिया है.

NSUI के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का भी इस्तीफा

वहीं अभिमन्यू के साथ-साथ NSUI के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पीसीसी के मौजूदा सदस्य अनिल चोपड़ा ने भी इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने कहा कि सचिन पायलट की बदौलत ही राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनी है.

‘कांग्रेस नहीं संभली तो सरकार का गिरना तय’

उन्होंने कहा कि सचिन पायलट ने पार्टी को आगाह किया है. अगर समय रहते कांग्रेस नहीं संभली तो सरकार का गिरना तय है. इसके साथ ही चौपड़ा ने यह भी कहा कि गहलोत सरकार के में प्रदेश में कोई विकास कार्य नहीं हुआ है.

पायलट के समर्थन में लगी इस्तीफों की झड़ी

मालूम हो कि सचिन पायलट को पद से हटाने के बाद से कांग्रेस में इस्तीफों की झड़ी लग गई है. इससे पहले कांग्रेस पार्टी की टोंक इकाई के 59 पदाधिकारियों ने डिप्टी सीएम और राजस्थान पीसीसी चीफ के रूप में सचिन पायलट को हटाने के विरोध में अपना इस्तीफा दे दिया है. वहीं सचिन पायलट के समर्थक पीसीसी सचिव प्रशांत सहदेव शर्मा और राजेश चौधरी भी अपने पद से इस्तीफा चुके हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts