अलवर में थानागाजी के बाद अब कठूमर में दलित महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म

राजस्थान के अलवर में ये हाल में दुष्कर्म का तीसरा मामला है. इससे पहले पति के सामने पत्नी के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया था.
अलवर, अलवर में थानागाजी के बाद अब कठूमर में दलित महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म

जयपुर. राजस्थान के अलवर जिले के थानागाजी के बाद अब कठूमर कस्बे से शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है. इस बार अस्पताल के लेबर रूम में दलित महिला से सामूहिक दुष्कर्म किया गया है. अस्पताल में रात्रि ड्यूटी पर कार्यरत कंपाउंडर और एंबुलेंस चालक ने इस वारदात को अंजाम दिया और घटना के बारे में किसी को बताने पर नवजात पोते को मारने और बहू की डिलीवरी खराब करने की धमकी दी.

वहीं, पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर के आरोपी की तलाश शुरू कर दी है. पूरा मामला अलवर के कठूमर कस्बे के राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का है. इस मामले में गुरुवार को पीड़िता की ओर से कठूमर थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है. पीड़िता 5 मई को अपनी पुत्रवधू की डिलीवरी कराने सरकारी अस्पताल पहुंची थी. 7 मई की रात करीब 8 बजे एक मेल नर्स जो ड्यूटी पर तैनात था, प्रसूता के नाम कागज बनाने के बहाने उसे डिलीवरी रूम में ले गया. वहां एंबुलेंस का ड्राइवर पहले से मौजूद था.

इस दौरान जैसे ही वो डिलीवरी रूम में अंदर गई, तो मेल नर्स ने गैलरी का गेट बंद कर दिया और उसे बेड पर पटक दिया. उसके बाद ड्राइवर ने उसके साथ दुष्कर्म किया. महिला ने खुद को बचाने के लिए आरोपी को लात मार कर गिरा दिया और दोनों से दूर हट कर खड़ी हो गई और मदद की गुहार लगाने लगी. पीड़िता को चीखता देख आरोपियों ने उसके साथ मारपीट की और धमकाया. साथ ही बहू की डिलीवरी को खराब करने और नवजात पोते को मार देने की धमकी दी. घटना के बाद महिला ने प्रसूता बहू की छुट्टी कराके सुरक्षित घर पहुंचाया. इसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज कराई.

फिलहाल, पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल करा मामले की जांच में जुटी हुई है. वहीं एसआई उदय भान ने बताया कि एंबुलेंस चालक और मेल नर्स के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है और तफ्तीश जारी है.

ये भी पढ़ें- Video:’3 घंटे तक बारी-बारी से रेप किया, विरोध पर पीटते रहे’, अलवर गैंगरेप पीड़‍िता की आपबीती

ये भी पढ़ें- बलात्कार की घटनाओं से फिर शर्मसार हुआ राजस्थान, आखिर कब जागेगी सरकार?

अलवर का हाल में तीसरा मामला

हाल ही में अलवर जिले के थानागाजी इलाके में पति को बंधक बनाकर पत्नी से पांच युवकों ने न केवल गैंगरेप किया था, बल्कि इसका वीडियो भी बनाया था. पीड़िता ने दो मई को रिपोर्ट दर्ज कराई थी. इसमें कहा गया था कि वह 26 अप्रैल को दोपहर तीन बजे पति के साथ बाइक से गांव लालवाड़ी से तालवृक्ष जा रही थी. इस मामले में पुलिस पर भी आरोप लगे कि उन्होंने चुनाव के कारण मामले को चार दिन तक दबाए रखा.

अलवर जिले में इसके बाद एक और गैंगरेप का मामला सामने आया था. पीड़िता द्वारा दर्ज कराई गई रिपोर्ट के मुताबिक, वह 27 अप्रैल को भहतरी बाबा के दर्शन के लिए गई थी. इस दौरान उसकी पलसाना गांव के निवासी कैलाश मीणा और उसके एक दोस्त से मुलाकात हुई. कैलाश ने उसे जूस पिलाया. इससे थोड़ी देर बाद उसे चक्कर आने लगा. महिला ने यह बात कैलाश को बताई. कैलाश ने उसे डॉक्टर के पास लेकर जाने की बात कहकर गाड़ी में बिठा दिया. पीड़िता को जब होश आया तो उसने खुद को एक कमरे में बंद पाया. आरोप था कि उस कमरे में रात को विश्राम नामक युवक ने उसके साथ दुष्कर्म किया. इसके अगले दिन उसे जयपुर ले जाकर दुष्कर्म किया गया.

अलवर के बाद राजधानी जयपुर से एक नाबालिग छात्रा के साथ दुष्कर्म कर अश्लील वीडियो और फोटो लेकर ब्लैकमेल करने का मामला सामने आया था.

Related Posts