Exclusive: मुझे जो कहा गया वह अच्छा नहीं लगा, जहर का घूंट पीकर भी जवाब नहीं दिया: सचिन पायलट

सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने कहा, ''मुझे लगता है राजनीति में व्यक्तिगत टीका-टिप्पणी से बचाना चाहिए. विचार और सैद्धान्तिक मुद्दों की राजनीति हमें करनी चाहिए. ये उदहारण नौजवान पीढ़ी को देना चाहिए.''

File Pic- Sachin Pilot

मंगलवार को जयपुर पहुंचे सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने टीवी9 भारतवर्ष से बातचीत की. उन्होंने राजस्थान में चली सियासी उठापटक को लेकर कहा, ”हमारे जो मुद्दे थे पार्टी को बताए हैं. पार्टी ने उन मुद्दों पर कमेटी गठन का निर्णय लिया है. हम लोगों ने मिलकर आलाकमान तक अपनी बात पहुंचाई और बहुत जल्द जो उम्मीद हमें है, उस आधार पर निर्णय लिए जाएंगे.”

‘आज भी उन शब्दों का जवाब नहीं देना चाहता’

उन्होंने कहा, ”मुझे नाकारा निक्कमा कहा गया, किसी को भी इस तरह के शब्द सुनना अच्छा थोड़ी लगता है. लेकिन जिन्होंने जो बोला है, मैंने उनको जवाब नहीं दिया.”

सचिन पायलट ने कहा, ”मुझे लगता है राजनीति में व्यक्तिगत टीका टिप्पणी से बचाना चाहिए. विचार, सैद्धान्तिक,मुद्दों की राजनीति हमें करनी चाहिए. ये उदहारण नौजवान पीढ़ी को देना चाहिए. इसलिए मैंने बहुत जहर का घूट पीकर भी जवाब नहीं दिया. आज भी उन शब्दों का जवाब नहीं देना चाहता हूं. मैं तो मुद्दों, पब्लिक और सैद्धान्तिक बात करना चाहता हूं.”

इसलिए प्रदेश के बाहर रहने को मजबूर थे…

उन्होंने कहा, ”18 महीनें से मेरी मुख्यमंत्री से बात हुई या नहीं हुई, उन्होंने सवाल उठाया, उसका जवाब मुख्यमंत्री जी ही देगें. हमारे विधायकों पर 30-35 FIR हो रखी थीं. इसलिए प्रदेश के बाहर रहने को मजबूर थे. वो नोएडा में रहे, दिल्ली में रहे, कहीं भी रहे, ये सब कहना बड़ा आसान है. लेकिन हम सभी विधायकों ने मिलकर वकीलों का रहने-खाने खर्चा खुद उठाया है. हम बीजेपी से मिले हुए जो लोग आरोप लगाने चाहते थे आज उनको सच्चाई का सामना करना पड़ रहा है.”

‘कार्यकर्ताओं के काम नहीं हो रहे थे तो सत्ता का क्या मतलब है’

सचिन पायलट ने कहा, ”मेरे को पद की लालसा नहीं है. आज भी मैं पद नहीं मांग रहा हूं. मेरे जो मुद्दे हैं आज उन पर बात कर रहा हूं. पार्टी ने बहुत कुछ दिया है. मान-सम्मान है. रेस्पेक्ट है. फ्री डम है. सिर्फ बंगले और गाड़ी के लिए कोई सरकार में नहीं आता है. कार्यकर्ताओं के काम नहीं हो रहे थे तो सत्ता का क्या मतलब है.”

‘कमेटी पर पूरा विश्वास है’

उन्होंने कहा, ”कमेटी पर पूरा विश्वास है. कमेटी के माध्यम से जो हम चाहते है, वो काम होगा मुझे पूरा विश्वास है. पार्टी और मेरे बीच जो मुद्दे थे मैंने सब रखे हैं विस्तार से. जो लोग कहे रहे थे हम बीजेपी से मिले हुए हैं, आज उनको सच्चाई का सामना करना पड़ रहा है. हमारे विधायकों पर FIR हुई थी इसलिए प्रदेश से बाहर गए. वहां होटल से लेकर वकीलों का खर्चा हमारे विधायकों ने उठाया है.”

Related Posts