INDvsENG: 8 साल पहले वर्ल्ड कप में इंडिया ने बनाए थे 338 रन, आज इंग्लैंड ने रखा 338 का लक्ष्य

इस मैच में रनों का ऐसा संयोग बना है जो 2011 विश्वकप के दौरान भारत-इंग्लैंड मैच की याद दिला रहा है. 27 फरवरी 2011 को बेंगलुरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में विश्व कप का 11वां मुकाबला मेजबान भारत और इंग्लैंड के बीच खेला गया था.

नई दिल्ली: 2019 क्रिकेट विश्वकप के दौरान इंग्लैंड के बर्मिंघम में भारत और इंग्लैंड के बीच मैच खेला जा रहा है. इंग्लैंड टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 337 रन बनाए. जॉनी बेयरस्टो ने इस मैच में शतक जड़ा.

इस मैच में रनों का ऐसा संयोग बना है जो 2011 विश्वकप के दौरान भारत-इंग्लैंड मैच की याद दिला रहा है. 27 फरवरी 2011 को बेंगलुरु का एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम के मैदान में विश्व कप का 11वां मुकाबला मेजबान भारत और इंग्लैंड के बीच खेला गया था.

विश्व कप का सबसे रोमांचकारी मैच उस दिन खेला गया था. भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 338 रन बनाए थे. इंग्लैंड ने इस मैच में लक्ष्य का पीछा करते हुए 338 रन बनाए और मैच ड्रॉ हो गया.

आखिरी ओवर में ऐसा था मैच का रोमांच

इंग्लैंड को जीतने के लिए 6 गेंदों पर 14 रन की जरुरत थी, वहीं भारत को जीतने के लिए दो विकेट लेने थे.आखिरी ओवर फेंकने की जिम्मेदारी मुनाफ पटेल को मिली. पटेल की पहली गेंद पर स्वान ने दो रन बनाए.

इंग्लैंड को जीतने के लिए पांच गेंदों में 12 रन की दरकार थी. दूसरी गेंद पर स्वान ने एक रन बनाया. तीसरी गेंद पर शहजाद ने तेजी से बल्ला घुमाया छक्का जड़ दिया. इस बीच दर्शकों में जीत को लेकर असमंजस की स्थिति बन गई.

आखिरी तीन गेंदों में इंग्लैंड को पांच रनों की दरकार थी. चौथी गेंद शहजाद के पैड पर लगी और दोनों बल्लेबाजों ने दौड़कर एक रन पूरा किया.

मैच के रोमांच का पारा बढ़ता जा रहा था. भारत को जीत के लिए दो गेंदों में दो विकेट की जरूरत थी, वहीं इंग्लैंड को जीत के लिए दो गेंदों में 4 रन बनाने थे. पांचवीं गेंद पर स्वान ने बड़ा शॉट खेलना चाहा, लेकिन गेंद उनके बल्ले के भीतरी किनारे को लेते हुए फील्डर के हाथों में गई, दोनों बल्लेबाजों ने दौड़कर दो रन पूरे कर लिए.

मैच की आखिरी गेंद पर इंग्लैंड को दो रन चाहिए थे. मुनाफ पटेल ने आखिरी गेंद फेंकी और स्ट्राइक लिए स्वान ने जमकर शॉट मारा, लेकिन गेंद सीधी फील्डर के हाथों में गई कि इसी बीच दोनों ने दौड़कर एक रन पूरा कर लिया और विश्व कप के इतिहास में मैच टाई हो गया.

इनके बल्ले से बरसे थे रन

भारतीय टीम की ओर से इस मैच में सचिन तेंदुलकर 115 गेंदों में 120 रन की शानदार शतकीय पारी खेली थी. गौतम गंभीर ने 61 गेंदों में 51 रन और युवराज सिंह 50 गेंदों पर 58 रन बनाए थे. सचिन, गंभीर और युवराज के रनों के बदलौत भारत ने 338 रनों का बड़ा स्कोर.