पाकिस्तान की हार के बाद मैनेजमेंट पर फूटा दिग्गजों का गुस्सा, कहा- बाबर को करने दो खुलकर कप्तानी

इंग्लैंड के खिलाफ पाकिस्तान टीम (England vs Pakistan) टेस्ट सीरीज हार चुकी है. अब उसके ऊपर टी-20 में भी हार का खतरा मंडरा रहा है. ऐसे में अब पाकिस्तान के पास हार को टालने का आखिरी मौका तीसरे टी-20 मैच में ही होगा.

इंग्लैंड दौरे पर पाकिस्तान टीम (Pakistan Cricket Team) की हार का सिलसिला जारी है. सीरीज का पहला मैच बारिश की भेंट चढ़ने के बाद दूसरे टी-20 में पाकिस्तान को पांच विकेट से हार झेलनी पड़ी. इस हार के बाद पाकिस्तान के कई पूर्व खिलाड़ियों ने मैनजमेंट पर अपनी नाराजगी जाहिर की है. मैनेजमेंट पर अपनी नाराजगी जाहिर करने वालों में पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) और पूर्व कप्तान रमीज राजा (Ramiz Raja) शामिल हैं.

एक ओर शोएब कह रहे हैं कि टीम में बायो इनसिक्योर बबल बनाया हुआ है, तो दूसरी ओर रमीज राजा मानते हैं कि बाबर (Babar Azam) को फैसले लेने का पूरा हक नहीं मिल पा रहा है. पहली टेस्ट सीरीज में मेजबान इंग्लैंड (England Team) ने पाकिस्तान को हराया. और अब टी-20 सीरीज में भी पाकिस्तान की किस्मत नहीं बदल पा रही है.

‘पाकिस्तान टीम में इनसिक्योर बबल’

पाकिस्तान के बारे में कहा जाता है कि जैसे वहां सरकार के फैसले पाकिस्तान आर्मी लेती है, ठीक वैसे ही पाकिस्तान टीम के फैसले कप्तान की बजाए कोच और मैनेजमैंट के लोग लेते हैं. अब यही बात शोएब अख्तर खुलकर कह रहे हैं. उन्होंने कहा, “पाकिस्तान की हार के लिए रनों की थोड़ी कमी दिखाई दी. पाकिस्तान को मैनेचेस्टर की पिच पर कम से कम 230 रन बनाने चाहिए थे. लेकिन इससे बड़ी हार की वजह है बाबर आजम के बंधे हुए हाथ.”

उन्होंने आगे कहा, “वो (बाबर आजम) कप्तान के तौर पर फैसले नहीं ले रहे हैं. इंग्लैंड दौरे पर पाकिस्तान टीम बायो इनसिक्योर बबल में है. लेकिन पाकिस्तान टीम के अंदर भी एक इनसिक्योर बबल है. जहां कप्तान को उसकी टीम बनाने का हक नहीं है. इस मैच में हैदर अली की जगह बनती थी. लेकिन उन्हें नहीं खिलाया गया. साथ ही शादाब को बल्लेबाजी क्रम में ऊपर खिलाना चाहिए था. लेकिन ये फैसले नहीं लिए गए.”

‘बाबर को जरूरत से ज्यादा दी जाती है सलाह’

पाकिस्तान के सीमित ओवर के कप्तान बाबर आजम से इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज में बहुत उम्मीद की जा रही थी. मैनेजमैंट को यकीन था कि बाबर, पाकिस्तान को जीत दिलाएंगे. लेकिन पाकिस्तान अपनी हार नहीं बचा पाया. बतौर बल्लेबाज बाबर आजम ने बेहतर प्रदर्शन करते हुए दूसरे टी-20 मैच में 56 रन की पारी खेली थी. लेकिन वो कप्तान के तौर पर चूक रहे हैं. ये बात रमीज राजा भी मानते हैं.

उन्होंने कहा, “पाकिस्तान ने 195 रन बोर्ड पर लगाए, जो एक अच्छा स्कोर था. लेकिन गेंदबाज काफी महंगे साबित हुए. हालांकि इंग्लैंड के कप्तान ऑयन मॉर्गन और डेविड मलान ने जबरदस्त बल्लेबाजी की. लेकिन मैच के दौरान जिस तरह सीनियर खिलाड़ी हर्डल बनाकर कई बार बाबर को सलाह देते हुए नजर आए, वो सही नहीं था. मुमकिन है कि बाबर के दिमाग में जो रणनीति थी उसे भी वो आजमा नहीं पाए होंगे. उन्हें खुद जिम्मेदारी लेकर चीजें संभालनी होंगी. गेंदबाज के साथ एक अच्छा तालमेल बिठाना होगा. क्योंकि मुश्किल वक्त में जब आपको जरूरत से ज्यादा सलाह मिलने लगें तो कोई भी घबरा जाता है.”

इंग्लैंड के खिलाफ पाकिस्तान टीम टेस्ट सीरीज हार चुकी है. अब उसके ऊपर टी-20 में भी हार का खतरा मंडरा रहा है. ऐसे में अब पाकिस्तान के पास हार को टालने का आखिरी मौका तीसरे टी-20 मैच में ही होगा. जो 1 सितंबर को खेला जाना है.

Related Posts