कुंबले पहले टेस्ट मैच में ही लगाना चाहते थे शतक, 117वें टेस्ट में मिली थी कामयाबी

कुंबले ने कहा, "वो शतक बेहद खास था. क्योंकि उसके लिए मैंने बहुत कोशिश की थी, पहले मैच से ही मैं कोशिश कर रहा था और वो मुकाम मुझे 117वें टेस्ट में मिला.

Anil Kumble, कुंबले पहले टेस्ट मैच में ही लगाना चाहते थे शतक, 117वें टेस्ट में मिली थी कामयाबी

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और दिग्गज स्पिनर अनिल कुंबले को अपना टेस्ट करियर में लगाया इकलौता शतक याद आया. कुंबले ने अपनी गेंदबाजी के दम पर तो कई मैच भारत की झोली में डाले. वो भारत की जीत के कई बार हीरो रहे. लेकिन आठवें नंबर पर बल्ला थामने वाले कुंबले ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में शतक जड़कर भारत की ताकत बढ़ाई थी. कुंबले ने इसी शतक से जुड़ी अपनी यादें साझा की.

पहले मैच में ही शतक लगाना चाहते थे कुंबले

इंटरनेशनल क्रिकेट में 900 से ज्यादा विकेट लेने वाले अनिल कुंबले से बड़े-बड़े बल्लेबाज खौफ खाते थे. उनके रिकॉर्ड्स का जलवा आज तक कायम है. लेकिन गेंदबाजी से अलग भी कुंबले के बड़े ख्वाब थे. आपको शायद जानकर ताज्जुब होगा लेकिन कुंबले पहले मैच में ही शतक लगाना चाहते थे. उन्होंने अपने 117वें टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ शतक जड़ा भी था.

कुंबले ने कहा, “वो शतक बेहद खास था. क्योंकि उसके लिए मैंने बहुत कोशिश की थी, पहले मैच से ही मैं कोशिश कर रहा था और वो मुकाम मुझे 117वें टेस्ट में मिला. मैं अपने पहले टेस्ट मैच से ही बल्लेबाजी के दौरान लगातार अंदाजा लगाता था कि गेंदबाज क्या कर सकता है, आखिरकार 117वें टेस्ट मैच में मेरा अनुमान सही हुआ. अगर आप बालकनी में देखे, तो मुझसे ज्यादा मेरे साथी खिलाड़ी खुश थे. मुझे लगता है कि लक्ष्मण मेरे शतक का जश्न मनाते हुए गिर गए थे.”

उन्होंने आगे कहा, “मैं जानता था कि दूसरे छोर पर मेरे साथ आखिरी खिलाड़ी खड़ा था. श्रीसंत दूसरे छोर पर आखिरी खिलाड़ी के रूप में खड़े थे. मैंने उनके साथ करीब 30 रन बनाए थे. मुझे पता था कि उन्होंने तीसरी या चौथी नई गेंद ली है, मुझे याद नहीं है. इसलिए मुझे पता था कि मुझे रन बनाने हैं और श्रीसंत को स्ट्राइक नहीं देनी है. लेकिन वो शतक बनाने का अनुभव ही अलग था. उस सीरीज में मैं अकेला शतक लगाने वाला खिलाड़ी था, जो काफी आश्चर्य की बात है.”

कुंबले का क्रिकेट करियर

अनिल कुंबले जिन्हें साथी खिलाड़ी जंबो कहते थे, उन्होंने करीब 18 साल क्रिकेट खेला था. कुंबले ने 1990 में अपने इंटरनेशनल करियर का आगाज किया था. उन्होंने 132 टेस्ट मैच में 2506 रन बनाए और 619 विकेट लिए. कुंबले टेस्ट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज भी हैं. साथ ही टेस्ट में उनके नाम एक शतक और पांच अर्धशतक शामिल हैं.

वहीं 271 वनडे मैच में अनिल कुंबले ने 337 विकेट अपने खाते में दर्ज किए. उन्होंने कई बड़े कारनामे भी किए. कुंबले पहले भारतीय गेंदबाज हैं, जिन्होंने किसी भी टीम के खिलाफ एक पारी में 10 विकेट लेने की उपलब्धि हासिल की. ये कारनामा उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ किया था.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts