एशेज सीरीज में स्मिथ का कहर, एक और शतकीय पारी, बनाया रिकॉर्ड

स्मिथ को एक साल पहले बॉल टेम्परिंग विवाद के कारण 12 महीने का प्रतिबंध लगा दिया गया था. उन्होंने इसी एशेज सीरीज से टेस्ट में वापसी की और आते ही बर्मिघम में खेले गए पहले टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जमाया. स्मिथ ने उस टेस्ट में क्रमश: 144 और 142 रनों की पारियां खेली थीं.

मैनचेस्टर: ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ ने गुरुवार को एक और शतकीय वापसी करते हुए रिकॉर्ड अपने नाम किया है. तीसरे एशेज टेस्ट में चोट के कारण नहीं खेल पाए स्मिथ ने ओल्ड ट्रेफर्ड मैदान पर खेले जा रहे चौथे टेस्ट की पहली पारी में शतक जमाया है. यह स्मिथ के टेस्ट करियर का 26वां शतक है और इसी के साथ वह टेस्ट में सबसे तेजी से 26 शतक बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज बन गए हैं.

स्मिथ से पहले नंबर सर डॉन ब्रैडमेन का है, जिन्होंने सिर्फ 69 टेस्ट में 26 शतक लगा दिए थे. स्मिथ इस एशेज सीरीज में सर्वोच्च स्कोर भी बन गए हैं. यह इंग्लैंड के खिलाफ पिछली आठ पारियों में उनका पांचवां शतक है.

स्मिथ को एक साल पहले बॉल टेम्परिंग विवाद के कारण 12 महीने का प्रतिबंध लगा दिया गया था. उन्होंने इसी एशेज सीरीज से टेस्ट में वापसी की और आते ही बर्मिघम में खेले गए पहले टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जमाया. स्मिथ ने उस टेस्ट में क्रमश: 144 और 142 रनों की पारियां खेली थीं.

इसके अगले मैच में लॉडर्स मैदान पर उन्होंने 92 रनों की पारी खेली थी लेकिन वह दूसरी पारी में बल्लेबाजी नहीं कर पाए थे क्योंकि जब वह 80 रनों पर खेल रहे थे तब इंग्लैंड के जोफ्रा आर्चर की गेंद उनके कान के नीचे गर्दन पर लगी और वह जमीन पर गिर पड़े. थोड़ी देर बाद वह रिटायर्ड हर्ट होकर बाहर चले गए और कुछ देर बाद मैदान पर वापस आए.

दूसरी पारी में उन्होंने दिक्कत हुई इसलिए वह बल्लेबाजी करने नहीं उतरे और इसी कारण वह तीसरे टेस्ट में नहीं खेले. चौथे टेस्ट में उन्होंने वापसी की और जहां एक छोर से इंग्लैंड के गेंदबाज विकेट ले रहे थे वहां दूसरा छोर संभाले रखा. मैच के दूसरे दिन भोजनकाल तक स्मिथ ने अपनी शतकीय पारी में 163 गेंदों का सामना कर 101 रन बना लिए हैं। वह 11 चौके लगा चुके हैं.

एशेज में सबसे ज्यादा शतक लगाने के मामले में भी स्मिथ तीसरे नंबर पर आ गए हैं. उनके एशेज सीरीज में कुल 11 शतक हो गए हैं. इस मामले में 19 शतकों के साथ ब्रेडमैन पहले स्थान पर हैं तो वहीं जैक होब्स 12 शतकों के साथ दूसरे स्थान पर हैं.