बाबर आजम के प्रदर्शन से निराश हुए शोएब अख्तर, कहा ऐसे नहीं बनते नाम

शोएब अख्तर ने कहा कि आज पाकिस्तान टीम (Pakistan Team) में जिस खिलाड़ी से सबसे ज्यादा उम्मीदें हैं, वो हैं बाबर आजम, लेकिन मैनचेस्टर टेस्ट में बाबर उन उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए.
Babar Azam needs to establish himself, बाबर आजम के प्रदर्शन से निराश हुए शोएब अख्तर, कहा ऐसे नहीं बनते नाम

इंग्लैंड दौरे (England Tour) पर पाकिस्तान टीम (Pakistan Team) की हार के बाद हाहाकर शुरू हो गया है. पाकिस्तान के दिग्गज खिलाड़ी हार के अलग-अलग कसूरवार बता रहे हैं. किसी को अजहर अली की कप्तानी ने निराश किया, तो कोई सलामी बल्लेबाज आबिद अली से नाराज दिखाई दिया.

वहीं पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर कप्तान (Shoaib Akhtar) अजहर अली (Azhar Ali) के अलावा उपकप्तान बाबर आजम (Babar Azam) के प्रदर्शन से भी नाराज हैं. उन्होंने तो बाबर आजम को नसीहत देते हुए यहां तक कह दिया कि ऐसे नाम नहीं बनता. इसके लिए आपको मैच जिताना पड़ता है.

‘मैच विनर बनोगे तभी बनेगा नाम’

पाकिस्तान के स्टार बल्लेबाज बाबर आजम इंग्लैंड (England) के खिलाफ पहले टेस्ट मैच (Test Match) में पाकिस्तान (Pakistan) को जीत नहीं दिला पाए. इसी वजह से वो शोएब अख्तर के निशाने पर आ गए हैं.

शोएब अख्तर ने कहा कि – ‘पाकिस्तान के पास मौका था बड़ा स्कोर बनाने का, लेकिन उन्होंने वही गलती की जो वो बंटवारे के वक्त से करते आ रहे हैं, बल्लेबाजी ने हमें निराश किया. अगर आप 107 रन की बढ़त का फायदा नहीं उठा सकते, तो फिर आप चाहे कितने भी बड़े बल्लेबाज क्यों ना हों, आप किसी काम के नहीं है.

शान मसूद दुर्भाग्यशाली रहे लेकिन उन्होंने अपने हिस्से का काम कर दिया था. असद शफीक रन आउट हो गए, ये उनकी गलती थी. लेकिन बाबर आजम को इस स्थिति को अपने शानदार प्रदर्शन से संभालना चाहिए था, क्योंकि ऐसे आप नाम नहीं बना सकते. आप अच्छे खिलाड़ी हो सकते हैं, लेकिन आपको खुद को मैच विनर के तौर पर स्थापित करना होगा’.

मुश्किल में बाबर के बल्ले से नहीं निकले रन

आज पाकिस्तान टीम (Pakistan Team) में जिस खिलाड़ी से सबसे ज्यादा उम्मीदें हैं, वो हैं बाबर आजम, लेकिन मैनचेस्टर टेस्ट में बाबर उन उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए. उन्होंने पहली पारी में अर्धशतक लगाते हुए 69 रन बनाए थे, जबकि दूसरी पारी में वो दहाई का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाए और पांच रन बनाकर आउट हो गए.

पाकिस्तान टीम मजबूत स्थिति से मुसीबत में पड़ चुकी थी. बाबर के इस प्रदर्शन के बाद शोएब अख्तर ने कहा कि – ‘हमें साझेदारी बनाने की जरूरत थी, जहां ‘लूज’ गेंद मिले वहां स्ट्रोक लगाने चाहिए थे.

पाकिस्तान के पास शानदार मौका था कि वो 350-400 रन बोर्ड पर लगाए, लेकिन फिर पाकिस्तान का कोई स्टार बल्लेबाज रन नहीं बना पाया. अगर आपको एक बड़ा खिलाड़ी बनना है और नाम कमाना है, तो इन्हीं मौकों को भुनाना होता है’.

Related Posts