जब तक बोर्ड हमारी मांगें पूरी नहीं करेगा…तब तक कोई क्रिकेट नहीं होगा: शाकिब अल हसन

अगर बांग्लादेशी क्रिकेट बोर्ड खिलाड़ियों के साथ समझौता करने में नाकाम होता है तो इसका असर 3 नवंबर से भारत के खिलाफ होने वाली सीरीज पर भी पड़ेगा.

टेस्ट और टी 20 कप्तान शाकिब अल हसन ने सोमवार को कहा कि जब तक की बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) खिलाड़ियों की 11 मांगें नहीं पूरी कर देता तब तक बांग्लादेश की टीम किसी भी क्रिकेट एक्टिविटी में हिस्सा नहीं लेगी. ऐसे में अगर बांग्लादेशी क्रिकेट बोर्ड खिलाड़ियों के साथ समझौता करने में नाकाम होता है तो इसका असर 3 नवंबर से भारत के खिलाफ होने वाली सीरीज पर भी पड़ेगा.

एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि बांग्लादेशी क्रिकेटरों द्वारा की गई मांगों में ढाका प्रीमियर लीग में सैलरी कैप का न होना भी एक प्रमुख पॉइंट है. साथ ही बांग्लादेश प्रीमियर लीग को अपना प्रारूप बरकरार रखने की भी मांग की गई है.

खिलाड़ियों ने मांग की है कि बिग बैश लीग के तर्ज पर बांग्लादेश प्रीमियर लीग के प्रारूप को संशोधित नहीं किया जाना चाहिए. खिलाड़ियों ने यह भी मांग की है कि स्थानीय क्रिकेटरों को विदेशी खिलाड़ियों के समान भुगतान किया जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें: टेस्‍ट क्रिकेट के 142 साल में कोई नहीं कर पाया था ऐसा, अजिंक्‍य रहाणे ने मार ली बाजी

ये भी पढ़ें: टीम इंडिया में जो चलेगा उसे मिलेगा बिजनेस क्‍लास ट्रेवल का मौका, वाइस कैप्‍टन को सुइट