IPL 2020 : RCB में जाते ही एरोन फिंच की बिगड़ी चाल, लग गई विराट वाली बीमारी

एरोन फिंच इस वक़्त ऑस्ट्रेलिया में चल रहे बिग बैश लीग के नौंवे संस्करण में टीम मेलबर्न रेनेगेड्स की कमान संभाले हुए हैं.
Big Bash League Aaron Finch, IPL 2020 : RCB में जाते ही एरोन फिंच की बिगड़ी चाल, लग गई विराट वाली बीमारी

इंडियन प्रीमियर लीग – भारतीय क्रिकेट का वो महाकुम्भ जिसमें अनगिनत किस्से सिमटे हुए हैं. चाहे रेकॉर्ड्स हों, खिलाड़ियों का उदय और पतन हो या फिर हो टीमों की परफॉरमेंस. इस पिटारे में वो नौटंकियां कैद हैं जिनकी कोई एक्सपायरी डेट नहीं है. एक बदनसीब किस्सा है (शापित शब्द शायद सही रहेगा) विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) का.

11 सीजन में 2 फाइनल खेले. विश्व के 6 नामचीन कप्तानों के हाथ RCB की कमान रही मगर वे हर साल टूर्नामेंट के अंत में खुद को असफलता की धूल तले दबा हुआ ही पाते हैं. सिर्फ दिल जीतने की इस आदत को बदलने की कोशिशें हर साल प्लेयर ऑक्शन में की जाती है. इस साल भी की गई और खरीदा गया विश्व का सबसे बेहतरीन T20 ओपनर, वर्तमान ऑस्ट्रेलिया कप्तान एरोन फिंच को… वो भी पूरे 4.4 करोड़ रुपये में. लेकिन कुदरत के नियम भी तो इतने कड़े हैं कभी कभी ज़िन्दगी से भरोसा उठने से लगता है.

दरअसल, फिंच इस वक़्त ऑस्ट्रेलिया में चल रहे बिग बैश लीग के नौंवे संस्करण में टीम मेलबर्न रेनेगेड्स की कमान सम्भाले हुए हैं. आपको बता दें कि ये वो टीम है जिसने पिछले साल BBL फाइनल में मेलबर्न स्टार्स को 13 रन से हराकर ट्रॉफी उठाई थी. लेकिन इस साल शायद कप्तान फिंच को RCB का श्राप लग गया है. BBL 2019-20 की शुरुआत के दो दिन बाद ही फिंच को RCB ने खरीदा और उसी दिन रेनेगेड्स फिंच की कप्तानी में अपना पहला मैच हार जाती है.

बार-बार हार सिर्फ संयोग नहीं

चलिए माना कि एक बार ऐसा हो सकता है पर 22 दिनों में कुल 7 मैच खेलने के बाद भी परिणाम वही हो तो आप इसे क्या कहेंगे? ये और कुछ नहीं बल्कि कड़वा स‍च है कि BBL ट्रॉफी के डिफेंडिंग चैंपियंस ने जीत का खाता भी नहीं खोला है और शून्य अंकों के साथ पॉइंट्स टेबल के निचले पायदान पर मौजूद हैं.

वहीं दूसरी तरफ फिंच का प्रदर्शन उनके हुनर के मुकाबले काफी निराशाजनक रहा. 7 मैचों की 7 पारियों में वो अब तक 27.2 की औसत से 191 रन बटोर चुके हैं जिनमे 2 अर्धशतक शामिल हैं. तीन बार 20 का आंकड़ा पार किया पर तीस से पहले ही आउट हो गए. एक बार 9 पर जबकि 7 जनवरी के मैच में गोल्डन डक पर ही चलते बने.

किस्मत और परफॉरमेंस पर वापस कमान हासिल करने के लिए अब फिंच और उनकी टीम के पास 7 मौके और हैं. ये काम जितना आसान लगता है उतना है नहीं क्योंकि अब शर्त यह है कि अगर फाइनल चार में जगह बनानी है तो सभी बचे मैचों को हर हाल में जीतना होगा.

चुनौती का पहला पड़ाव देखने को मिलेगा शुक्रवार को भारतीय समयानुसार दोपहर 1:30 बजे. तब मेलबर्न के डॉकलैंड्स स्टेडियम में रेनेगेड्स का मुक़ाबला टूर्नामेंट की शीर्ष टीम, ग्लेन मैक्सवेल की मेलबर्न स्टार्स के साथ होगा.

ये भी पढ़ें

BBL: मैक्सवेल की तूफानी पारी ने दिलाई टीम को जीत, इस दिग्गज खिलाड़ी ये कहा ‘सनकी’ खिलाड़ी

BBL: एक दिन में हुए दो मैच, पहले में राशिद खान तो दूसरे में रउफ ने हैट्रिक लेकर मचाई सनसनी

Related Posts