B’DAY SPCL : पाक के खिलाफ इस मुकाबले से रातोंरात स्टार बन गए थे MS धोनी, नहीं भूले होंगे पाकिस्तानी

एमएस धोनी के अंतराष्ट्रीय क्रिकेट करियर का ये पाचंवा वनडे मैच था. धोनी ने अबतक खेले गए चार मुकाबलों में कुल 22 रन ही बनाए थे.

भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज व पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी आज अपना 38वां जन्मदिन मना रहे हैं. इसी मौके पर उनकी पाकिस्तान के खिलाफ वह पारी याद आ रही है, जिसने उन्होंने रातोंरात स्टार बना दिया था. महेंद्र सिंह धोनी ने अपने करियर में जा बड़ा मुकाम हासिल किया, उसमे इस पारी का बड़ा योगदान है.

पाकिस्तानी टीम भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के लिए खास मायने रखती है. इसकी वजह भारत और पाकिस्तान के बीच साल 2005 में खेला गया वो मैच है जिसमें एमएस धोनी ने शानदार 148 रनों की पारी खेली थी. धोनी की इसी पारी से उन्हें दुनियाभर में पहचान मिली थी. धोनी ने अपनी इस दमदार पारी से दिखा दिया था कि वो लंबी रेस के घोड़े हैं.

धोनी के अंतराष्ट्रीय क्रिकेट करियर का ये पाचंवा वनडे मैच था. धोनी ने अबतक खेले गए चार मुकाबलों में कुल 22 रन ही बनाए थे. इनमें उनका बेस्ट स्कोर 12 रन था. ऐसे में जाहिर सी बात है कि पाकिस्तानी टीम उन्हें हल्के में ले रही थी. उस समय शायद ही किसी ने सोचा होगा कि आज का मुकाबला इतिहास के पन्नों में दर्ज होने वाला है.

धोनी सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग के साथ बल्लेबाजी कर रहे थे. धोनी और सेहवाग दोनों ने पाकिस्तानी गेंदबाजों की बखिया उखेड़नी शुरू कर दी. एक छोर से धोनी तो दूसरे छोर से सहवाग ताबड़तोड़ चौक्के-छक्के लगा रहे थे. इसी बीच सहवाग 40 गेंदों पर शानदार 74 रन बनाकर आउट हो गए.

सहवाग के बाद क्रीज पर सौरव गांगुली आए. गांगुली केवल 9 रन बनाकर ही आउट हो गए. इसके बाद धोनी ने राहुल द्रविड के साथ लंबी पार्टनरशिप की. धोनी ने 31वें ओवर में शतक पूरा किया. इसके बाद उनका बल्ला थमने का नाम ही नहीं ले रहा था. धोनी 41वें ओवर में ताबड़तोड़ 148 रन बनाकर आउट हुए. धोनी ने इस पारी में 15 चौके और 4 छक्के लगाए थे.