प्रवीण कुमार ने पहनी 18 लाख रुपये की गोल्ड चेन, दिलाई ‘वास्तव’ के संजय दत्त की याद

प्रवीण कुमार ने तस्वीर के साथ कैप्शन लिखा- बहुत गंभीरता से संजू बाबा... ये देख मां 50 तोला.

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक तस्वीर पोस्ट की है. प्रवीण की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है. क्रिकेट फैन्स इस तस्वीर पर खूब लाइक बरसा रहे हैं और मजेदार कमेंट्स भी कर रहे हैं. दरअसल, प्रणीव इस तस्वीर में सोने की एक मोटी सी चेन पहने हुए नजर आ रहे हैं.

प्रवीण ने तस्वीर के साथ कैप्शन लिखा- बहुत गंभीरता से संजू बाबा… ये देख मां 50 तोला. मालूम हो कि यह डायलॉग साल 1999 में आई संजय दत्त अभिनीत फिल्म ‘वास्तव’ का है, जो फैंस के बीच काफी लोकप्रिय भी हुआ था.

 

View this post on Instagram

 

When I took sanju baba too seriously @duttsanjay “yeh dekh maa 50 tola” 😀😀😀😂🥰

A post shared by Praveen Kumar(PK) (@praveenkumarofficial) on

2014 में चोरी हुई 7 लाख की चेन
क्रिकेट फैन्स जानते हैं कि प्रवीण कुमार को सोने की चेन पहनने का शौक पहले से रहा है. 2014 में विजय हजारे ट्रॉफी मैच खेलने के दौरान तो उनकी चेन चोरी भी हो गई थी. चोरी हुई चेन 250 ग्राम की थी, जिसकी उस वक्त कीमत करीब 7 लाख रुपये थी.

बता दें कि प्रवीण कुमार ने पिछले साल ही अक्टूबर में क्रिकेट के सभी फॉर्मेट को अलविदा कह दिया था. उन्होंने 2005 में लिस्ट ए में डेब्यू करने के बाद 13 साल के अपने सफर पर विराम लगा दिया था. उन्हें दोनों तरह से गेंद को मूव करवाने में महारत हासिल थी.

दुनियाभर के बल्लेबाजों को किया परेशान
33 साल के प्रवीण कुमार अपने गेदों से दुनियाभर के बल्लेबाजों को परेशान किया करते थे. उनकी गेंदों का सामना करना हर एक बल्लेबाज के लिए आसान नहीं था. प्रवीण ने 6 टेस्ट में 27, 68 वनडे में 77 और 10 टी20 में 8 विकेट झटके.

प्रवीण कुमार ने साल 2018 में इंटरनैशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. उन्होंने साल 2007 में पाकिस्तान के खिलाफ जयपुर में वनडे मैच खेलकर अपने इंटरनैशनल करियर की शुरुआत की थी. प्रवीण ने अपने इंटरनैशनल करियर में 6 टेस्ट, 68 वनडे और 10 टी20 मैच में भारतीय टीम का हिस्सा रहे.

ये भी पढ़ें-
वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप के फाइनल में हारीं मंजू रानी, सिल्वर मेडल से करना पड़ा संतोष

पुणे टेस्ट में भारत की शानदार जीत, साउथ अफ्रीका को पारी और 137 रनों से चटाई धूल

भारतीय टीम जब जीतेगी तब समझ आएगा आखिर क्यों विराट को नहीं तिहरे शतक का लालच?