टी-20 वर्ल्ड कप में जीत का चौका लगाने के लिए तैयार हैं भारत की बेटियां

श्रीलंका के खिलाफ आखिरी लीग मैच शनिवार को है. भारतीय टीम ने पिछले मुकाबले में न्यूज़ीलैंड को हराया था.
Women T20 World Cup, टी-20 वर्ल्ड कप में जीत का चौका लगाने के लिए तैयार हैं भारत की बेटियां

भारतीय क्रिकेट फैंस के लिए शनिवार का दिन सुपर वीकेंड होगा. ऐसा इसलिए क्योंकि कल ही ऑस्ट्रेलिया में एक और बड़ा मैच होगा. दरअसल, टी-20 महिला विश्व कप में जीत की हैट्रिक लगा चुकी टीम इंडिया शनिवार को श्रीलंका के खिलाफ अपना आखिरी लीग मैच खेलेगी. इस मैच में जीत हार का टीम इंडिया के लिए कोई बहुत मायना नहीं है क्योंकि उसने सेमीफाइनल में पहले ही जगह बना ली है. बावजूद इसके टीम इंडिया चाहेगी कि वो जीत के सिलसिले को कायम रखे. सेमीफाइनल में जगह पक्की करने के बाद अब मौका ‘एक्सपेरीमेंट’ का है.

श्रीलंका के खिलाफ आखिरी लीग मैच शनिवार को है. भारतीय टीम ने पिछले मुकाबले में न्यूज़ीलैंड को हराया था. न्यूज़ीलैंड के खिलाफ एक समय तो मैच फंसता हुआ दिख रहा था, लेकिन फिर गेंदबाज शिखा पांडे ने अपने अनुभव का फायदा उठाते हुए टीम की जीत के सिलसिले को कायम रखा. आखिरी गेंद पर न्यूज़ीलैंड को 5 रन चाहिए थे, लेकिन शिखा पांडे ने बल्लेबाज को बड़ा शॉट खेलने से रोका और टीम को जीत दिलाई. इस टूर्नामेंट में बड़ी बात यही है कि टीम इंडिया ने तीनों जीत अपने स्कोर को डिफेंड करके हासिल की है. यानी गेंदबाजी यूनिट बहुत शानदार फॉर्म में है.

श्रीलंका की टीम को पहली जीत का इंतजार

श्रीलंका की टीम भारत के मुकाबले कमजोर है. अब तक खेले गए दोनों मैचों में उसे हार का सामना करना पड़ा है. भारत के लिहाज से बड़ी बात ये भी है कि श्रीलंका को हराने वाली ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड दोनों टीमों को उसने हराया है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय टीम ने टूर्नामेंट का पहला मैच खेला था. ऑस्ट्रेलिया की टीम चार बार विश्व कप जीत चुकी है. भारतीय टीम को कमजोर आंका जा रहा था, लेकिन भारतीय बेटियों ने ऑस्ट्रेलिया को 17 रन से हराकर शानदार आगाज किया. इसके बाद बांग्लादेश के खिलाफ तो भारतीय टीम का पलड़ा भारी माना जा रहा था.

Women T20 World Cup, टी-20 वर्ल्ड कप में जीत का चौका लगाने के लिए तैयार हैं भारत की बेटियां

बांग्लादेश के खिलाफ भारत ने 18 रनों से जीत हासिल की. न्यूज़ीलैंड के खिलाफ टीम इंडिया ने जीत की हैट्रिक लगाई. भारतीय टीम के पास शेफाली वर्मा के तौर पर तुरुप का इक्का है, जो विश्व कप में अब तक धमाकेदार बल्लेबाजी करती आ रही हैं. उनका शानदार प्रदर्शन जारी रहा तो आने वाले मैचों में भी टीम का पलड़ा भारी रहेगा. शेफाली वर्मा को लेकर टीम की रणनीति बिल्कुल साफ है. टीम इंडिया ने उन्हें खुलकर खेलने का लाइसेंस दिया हुआ है. यानी वो विकेट पर जाते ही धुआंधार बल्लेबाजी शुरू कर देती हैं. जिसका फायदा स्कोरबोर्ड पर दिखाई देता है.

कप्तान हरमनप्रीत कौर से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद

इस टूर्नामेंट में भारतीय टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर अब तक अपने रंग में नहीं दिखी हैं. इस बात पर चर्चा इसलिए नहीं हो रही है क्योंकि टीम इंडिया लगातार जीत रही है. अब श्रीलंका के खिलाफ मैच में उनके पास भी इस बात का मौका होगा कि वो अपनी फॉर्म में लौटें और सेमीफाइनल मुकाबलों से नए आत्मविश्वास के साथ टीम की कमान संभालें. क्योंकि श्रीलंका के खिलाफ मैच में हार जीत के भले ही कोई मायने ना हों लेकिन उसके बाद नॉक-आउट मुकाबले होंगे. यानी गलती की तो खाली हाथ घर वापसी.

ये भी पढ़ें : किसी अग्निपरीक्षा से कम नहीं है टीम इंडिया के लिए दूसरा टेस्ट मैच, इशांत पर सस्पेंस

Related Posts