अश्विन और जडेजा की जोड़ी के सामने बिना विकेट खोए रन बनाना सबसे मुश्किल – बीजे वाटलिंग

टीम इंडिया में अश्विन और जडेजा की जोड़ी विरोधियों के खिलाफ काफी असरदार साबित हुई थी. खासकर भारतीय पिचों की बात की जाए, जहां स्पिनर्स को काफी मदद मिलती है. वहां अश्विन और जडेजा की घूमती गेंदों में बल्लेबाज फंसते रहे हैं. ये बात बीजे वाटलिंग ने भी मान ली है.

विश्व क्रिकेट में आज भारतीय गेंदबाजों का दबदबा दिखाई देता है. पिछले करीब दो साल में भारतीय गेंदबाजों ने विरोधियों के खिलाफ जबरदस्त हमला बोला है. बात चाहे तेज गेंदबाजों की हो या फिर फिरकी की. भारतीय गेंदबाज हर मामले में आगे हैं. यही वजह है कि न्यूजीलैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज बीजे वाटलिंग भी मानते हैं कि अगर पिच मददगार है तो फिर रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा की जोड़ी के सामने बिना विकेट खोए रन बनाना सबसे मुश्किल चुनौती है.

‘जडेजा और अश्विन सबसे मुश्किल’

टीम इंडिया में अश्विन और जडेजा की जोड़ी विरोधियों के खिलाफ काफी असरदार साबित हुई थी. खासकर भारतीय पिचों की बात की जाए, जहां स्पिनर्स को काफी मदद मिलती है. वहां अश्विन और जडेजा की घूमती गेंदों में बल्लेबाज फंसते रहे हैं. ये बात बीजे वाटलिंग ने भी मान ली है. उन्होंने कहा कि – ‘अगर भारतीय पिच पर खेलने की बात की जाए तो वहां स्पिनर्स को खेलना काफी मुश्किल होता है. अगर ‘कंडिशन्स‘ उनके लिए मददगार हैं तो फिर रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा के सामने बिना आउट हुए रन बनाना काफी मुश्किल होता है.’

इसके अलावा वाटलिंग ने साउथ अफ्रीका के गेंदबाजों के बारे में भी बात की. उन्होंने कहा कि – ‘साउथ अफ्रीका में डेल स्टेन और मोर्ने मॉर्कल का सामना करना काफी मुश्किल चुनौती है. मुझे लगता है कि विश्व की कुछ सबसे तेज पिचें वहां हैं. हालांकि बाद में वो टूटती हैं. लेकिन उस तरह के टेस्ट मैच, जहां इस तरह के गेंदबाज आपके सामने हों तो उनको खेलना काफी मुश्किल होता है.’

अश्विन और जडेजा का प्रदर्शन

अश्विन और जडेजा दोनों ही भारत के शानदार स्पिनर हैं. इस जोड़ी ने 28 टेस्ट मैच में 315 विकेट लिए हैं. इन दोनों गेंदबाजों के अलग-अलग प्रदर्शन की बात करें तो अश्विन ने अब तक 71 टेस्ट मैच में 365 विकेट लिए हैं. वहीं जडेजा ने 49 टेस्ट मैच में 213 विकेट लिए हैं.

अश्विन और जडेजा की फिरकी से खुद को बचाना किसी भी बल्लेबाज के लिए एक कड़ी चुनौती है. हालांकि अब ये जोड़ी बहुत ज्यादा दिखाई नहीं देती. किसी मैच में जडेजा को मौका मिलता है और किसी में अश्विन को. टीम कॉम्बिनेशन और पिच के मिजाज के आधार पर सब निर्भर करता है. साथ ही टेस्ट क्रिकेट में कुलदीप यादव के आने के बाद समीकरण काफी बदल गए हैं. लिहाजा अब ये जोड़ी भले ही ज्यादा नहीं दिखती लेकिन इनकी कामयाबी क्रिकेट की रिकॉर्ड बुक में दर्ज है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts