CWC 2019: बारिश से मैच धुल जाने पर क्या फैंस को टिकट के पैसे वापस मिलते हैं?

क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 में अब तक 18 मैच खेले जा चुके हैं, जिसमें से 4 मैच बारिश की वजह से रद्द हो गए हैं.

लंदन. भारत और न्यूजीलैंड के बीच नॉटिंघम के ट्रेंट ब्रिज मैदान पर गुरुवार को होने वाला मुकाबला बारिश के कारण धुल गया. ये इस वर्ल्ड कप का बारिश में धुलने वाला चौथा मुकाबला था. इसके अलावा एक मैच ऐसा भी था जिसमे 41 ओवर का ही मैच हो सका. 18 मैच में से 5 मैच किसी न किसी तरह बारिश से प्रभावित हुए हैं.

बारिश से मैच प्रभावित होने से सबसे ज्यादा नुक्सान मैदान पर मौजूद दर्शकों को होता है. बहुत से दर्शक दूसरे देश से मैच देखने आये होते हैं. ऐसे में मैच का रोमांच न मिल पाने के साथ ही उनको आर्थिक नुक्सान भी झेलना पड़ता है.

बारिश से कोई मैच रद्द होता है तो मेजबान बोर्ड को भी इसका बड़ा नुकसान झेलना पड़ता है. उसके अलावा प्रायोजक, टेलीकास्ट कंपनियों और टिकेट विक्रेता को भी इसका नुक्सान होता है. पर क्या मैच बारिश के कारण धुल जाने पर क्या दर्शकों के टिकट का पैसा वापस होता है? इस सवाल का जवाब ICC वर्ल्ड कप की रेन पॉलिसी में दिया हुआ है:

अगर कोई मैच किसी कारण से उस वेन्यु पर नहीं होता है जिसके लिए टिकट वैलिड है ( इसमें रिजर्व डे भी शामिल है) तो टिकट खरीददार फीस को छोड़कर मूल प्राइस को रिफंड का क्लेम कर सकता है-

(a) खराब मौसम के चलते 15 ओवर से कम का मैच हो तो पूरी राशि रिफंड होगी.

(b) यदि 15.1 से 29.5 ओवर तक का मैच हुआ हो तो 50% राशि रिफंड होती है. 

भारत का अगला मैच पाकिस्तान के खिलाफ 16 जून को मैनचेस्टर के ओल्ड ट्राफ्फोर्ड मैदान पर खेला जाना है. अगर ये मैच बारिश से धुला तो ये निश्चित है कि भारतीय और पाकिस्तान फैंस बहुत ठगा हुआ महसूस करेंगे. क्रिकेट पर मौसम का बड़ा असर पड़ता है और इंग्लैंड के मौसम को देखते हुए ये कहा जा सकता है कि इस वर्ल्ड कप में टीमों की किस्मत बारिश के भरोसे है.

ये भी पढ़ें: विश्वकप के सेमीफाइनल में जरूर लौटेंगे गब्बर, विराट कोहली को है भरोसा

ये भी पढ़ें: विश्वकप फाइनलिस्ट को लेकर गूगल के CEO सुंदर पिचाई ने की ये भविष्यवाणी