इंग्लैंड दौरे पर पाकिस्तान के गेंदबाजों के लिए होगी कड़ी परीक्षा, बिना सलाइवा के इस्तेमाल कैसे करेंगे रिवर्स स्विंग?

पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी मोहम्मद यूसुफ भी मानते हैं कि इंग्लैंड में पाकिस्तान के गेंदबाज संघर्ष करते हुए नजर आ सकते हैं. क्योंकि बिना सलाइवा के इस्तेमाल के गेंदबाज रिवर्स स्विंग कैसे करेंगे.
England tour of Pakistan, इंग्लैंड दौरे पर पाकिस्तान के गेंदबाजों के लिए होगी कड़ी परीक्षा, बिना सलाइवा के इस्तेमाल कैसे करेंगे रिवर्स स्विंग?

पाकिस्तान टीम इंग्लैंड दौरे पर खुद को माहौल में ढाल रही है. टीम ने मैदान पर प्रैक्टिस की. पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच 5 अगस्त से पहला टेस्ट मैच शुरू होगा. लेकिन उससे पहले ही पाकिस्तान के कई पूर्व खिलाड़ियों को टीम के प्रदर्शन को लेकर चिंता सता रही है. खासतौर पर वो गेंदबाजी को लेकर परेशान दिख रहे हैं. पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी मोहम्मद यूसुफ भी मानते हैं कि इंग्लैंड में पाकिस्तान के गेंदबाज संघर्ष करते हुए नजर आ सकते हैं. क्योंकि बिना सलाइवा के इस्तेमाल के गेंदबाज रिवर्स स्विंग कैसे करेंगे.

इंग्लिश पिच पर पाकिसातानी गेंदबाजों के लिए मुश्किल चुनौती

अनुभवी और युवा गेंदबाजों के दल के साथ पाकिस्तान ने इंग्लैंड में कदम रखा. इस टीम में मोहम्मद अब्बास से लेकर युवा नसीम शाह तक को शामिल किया गया है. लेकिन सवाल यही है बिना सलाइवा के इस्तेमाल किए कैसे पाकिस्तान के गेंदबाज रिवर्स स्विंग करेंगे. क्योंकि पाकिस्तान के गेंदबाजों का सबसे घातक हथियार ही रिवर्स स्विंग है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

मोहम्मद यूसुफ ने कहा, “मुझे लगता है कि हमारे गेंदबाज इंग्लैंड में संघर्ष कर सकते हैं. क्योंकि हमारी टीम बहुत ज्यादा रिवर्स स्विंग पर निर्भर करती है. ICC के नए नियमों के साथ पाकिस्तान पहली बार खेलेगा. जबकि इंग्लैंड को अनुभव हो चुका होगा. साथ ही युवा गेंदबाजों के पास अनुभव की कमी है. ऐसे में उनके बारे में कुछ साफ तौर पर नहीं कहा जा सकता है. लेकिन बिना सलाइवा के इस्तेमाल के गेंदबाजी करना पाकिस्तान के लिए बड़ी चुनौती होगी. क्योंकि हमें इसकी आदत है.”

बाबर आजम और हैदर अली से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद

गेंदबाजी के बारे में बात करने के अलावा मोहम्मद यूसुफ ने पाकिस्तान की बल्लेबाजी पर भी अपनी राय रखी. उन्होंने कहा कि बाबर आजम ने पहले भी अच्छा प्रदर्शन किया हुआ है. ऐसे में उनसे एक बार फिर शानदार प्रदर्शन कि उम्मीद रहेगी. लेकिन युवा खिलाड़ी हैदर अली को भी देखना होगा. उन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अच्छी बल्लेबाजी की है. उन्हें मौका मिला तो इंग्लैंड में भी शानदार प्रदर्शन करने की काबिलियत रखते हैं.

हैदर अली ने अब तक इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू नहीं किया है. उन्होंने सात फर्स्ट क्लास क्रिकेट मैच खेल हैं जिसमें उन्होंने 645 रन बनाए हैं. मोहम्मद यूसुफ से पहले भी पाकिस्तान के कई पूर्व खिलाड़ी गेंदबाजी को लेकर चिंता जाहिर कर चुके हैं. रमीज राजा ने भी कहा था कि इंग्लैंड में मोहम्मद अब्बास के लिए मुश्किल हो सकती है. ऐसे में कप्तान अजहर अली पर सही टीम का चयन करने की बड़ी जिम्मेदारी होगी.

Related Posts