वर्ल्ड कप में बांग्लादेश के खिलाफ हार की हैट्रिक से बचना चाहेगी इंग्लैंड

दोनों टीमों को पिछले मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा था. इंग्लैंड जहां पाकिस्तान के खिलाफ बड़े टारगेट का पीछा करने में असफल रही थी, वहीं बांग्लादेश को न्यूजीलैंड ने बड़ा टारगेट खड़ा करने से रोककर मैच अपने लिए आसान बना दिया था.
इंग्लैंड vs बांग्लादेश, वर्ल्ड कप में बांग्लादेश के खिलाफ हार की हैट्रिक से बचना चाहेगी इंग्लैंड

England vs Bangladesh; आईसीसी विश्व कप-2019 के अपने दूसरे मैच में पाकिस्तान से अप्रत्याशित हार झेलने वाली मेजबान इंग्लैंड को शनिवार को बांग्लादेश का सामना करना है. इंग्लैंड इस मैच में एक बार फिर जीत के रास्ते पर लौटना चाहेगी और यही ख्वाहिश बांग्लादेश की भी होगी.

बांग्लादेश के खिलाफ हार की हैट्रिक से बचना चाहेगी इंग्लैंड  

बत दें कि, इंग्लैंड को 2011 और 2015 वर्ल्ड कप में बांग्लादेश के खिलाफ मैच में हार का सामना करना पड़ा था. 2015 में इंग्लैंड को एडीलेड मैदान पर खेले गए मुकाबले में बंगलादेश के हाथों 15 रन से हार का सामना करना पड़ा था. कहा जाता है इसी हार के बाद इंग्लैंड टीम में बड़े स्तर पर बदलाव हुए और अब इंग्लैंड टीम विश्व में नंबर-1 टीम है.

दोनों टीमों को पिछले मुकाबले में मिली हार

अपने पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका को मात देने वाली बांग्लादेश दूसरे मैच में न्यूजीलैंड से हार गई थी. दोनों टीमें हार खाकर इस मैच में आ रही हैं और जीत के लिए बेसब्र हैं, ऐसे में मैच के रोमांचक होने की उम्मीद है.

पाकिस्तान के खिलाफ इंग्लैंड की गेंदबाजी विफल रही थी और पाकिस्तान ने बोर्ड पर 348 रन टांग दिए थे. पाकिस्तान ने जिस तरह से वापसी की थी, उसी तरह की वापसी करने का दम बांग्लादेश रखती है. दक्षिण अफ्रीका को मात दे उसने बता दिया है कि वह इस विश्व कप में कमजोर नहीं है और बड़ा स्कोर करने का माद्दा भी रखती है.

बांग्लादेश की ताकत उसका तजुर्बेदार बल्लेबाजी क्रम

तमीम इकबाल, सौम्य सरकार, मुश्फीकुर रहीम और शाकिब अल हसन बांग्लादेश की बल्लेबाजी की मजबूत कड़ी हैं. इंग्लैंड ने अगर इन्हें सस्ते में पवेलियन में बैठा दिया तो उसका काम आसान हो जाएगा. न्यूजीलैंड के गेंदबाज बांग्लादेशी बल्लेाबाजों को रोकने में कामयाब रहे थे, इस बात से इंग्लैंड को प्रेरणा मिल सकती है.

इंग्लैंड की गेंदबाजी का मुख्य दारोमदार युवा जोफ्रा आर्चर पर होगा.  उनसे उम्मीद की जाएगी कि वह शुरुआत में विकेट झटक कर बांग्लादेश को कमजोर कर दें. क्रिस वोक्स, लियाम प्लंकट और मार्क वुड पर भी यही जिम्मेदारी होगी. मध्य क्रम में लेग स्पिनर आदिल राशिद और मोइन अली पर जिम्मेदारी होगी.

ये भी पढ़ें: धोनी के जिस बलिदान बैज पर छिड़ी बहस, वो कांच चबाने के बाद हासिल होता है

ये भी पढ़ें: ICC का बलिदान बैज लगाने से साफ इनकार, अब क्या करेंगे धोनी ?

इंग्लैंड की ताकत भी उसकी बल्लेबाजी

मेजबान इंग्लैंड की ताकत उसकी मजबूत बल्लेबाजी है. पाकिस्तान के खिलाफ हालांकि अहम समय पर वह बिखर गई थी और करीब आकर मैच हार गई थी लेकिन ऐसा बहुत कम होता है कि इंग्लैंड का मजबूत बल्लेबाजी क्रम बिखर जाए. इस टीम में बड़े से बड़े स्कोर को हासिल करने का माद्दा है और इस बात को यह टीम काफी बार साबित कर चुकी है.

जेसन रॉय और जॉनी बेयरस्टो की सालमी जोड़ी मौजूदा दौर की सबसे खतरनाक सलामी जोड़ी है. मध्य क्रम में टीम के पास जोए रूट और कप्तान इयोन मोर्गन हैं जो संभलकर भी खेल सकते हैं और वक्त आने पर एक्सीलेटर पर पैर रख रनगति को आगे बढ़ा सकते हैं. इन चारों के बाद भी इंग्लैंड की बल्लेबाजी खत्म नहीं होती. बेन स्टोक्स, जोस बटलर और मोइन अली जैसे बल्लेबाज उसके लिए कुछ भी कर सकते हैं.

बांग्लादेश को अगर इंग्लैंड को कमजोर करना है तो उसे लगातार विकेट लेते रहने होंगे.  शुरुआत में यह जिम्मेदारी मुस्ताफिजुर रहमान, कप्तान मशरफे मुर्तजा पर होगी दो मध्य क्रम में शाकिब और मेहदी हसन मिराज को यह काम करना होगा.

संभावित प्लेयिंग-XI: 

बांग्लादेश: तमीम इकबाल, सौम्य सरकार, शाकिब अल हसन, मुश्फिकुर रहीम (WK), मोहम्मद मिथुन, महमदुल्लाह, मोसद्देक हुसैन, मोहम्मद सैफुद्दीन, मेहेदी हसन, मशरफे मुर्तजा (C), मुस्तफिजुर रहमान.

इंग्लैंड: जेसन रॉय, जॉनी बेयरस्टो (WK), जो रूट, इयोन मोर्गन (C), बेन स्टोक्स, जोस बटलर, मोइन अली, क्रिस वोक्स, लियाम प्लंकेट, जोफ्रा आर्चर, मार्क वुड.

Related Posts