पाकिस्तान क्रिकेट टीम में आखिरकार फवाद आलम के लिए खुला दरवाजा, 11 साल बाद हुई वापसी

इंग्लैंड के खिलाफ साउथैंप्टन टेस्ट में फवाद आलम (Fawad Alam) की बल्लेबाजी पर हर किसी की नजर रहेगी. पहले दिन के पहले सेशन का खेल देखने के बाद साफ लग रहा है कि उन पर मिडिल ऑर्डर को संभालने की जिम्मेदारी रहेगी.
Fawad Alam Come back in Pakistan team, पाकिस्तान क्रिकेट टीम में आखिरकार फवाद आलम के लिए खुला दरवाजा, 11 साल बाद हुई वापसी

पाकिस्तान (Pakistan) क्रिकेट में पिछले काफी समय से उथल पुथल मची हुई है. फवाद आलम पर बात करने से पहले थोड़ा ‘रिवाइंड’ करते हैं. इस उथल पुथल की वजह बताते हैं आपको, वैसे वजह एक नहीं बल्कि कई हैं. पाकिस्तान में डिपार्टमेंटल क्रिकेट में की गई फेरबदल को लेकर उथल पुथल मची हुई थी. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) में वित्तीय अनियमितताओं को लेकर सीएजी की रिपोर्ट को लेकर उथल पुथल मची हुई थी. मिस्बाह उल हक (Misbah-ul-Haq) को हेड कोच, चीफ सेलेक्टर और बैटिंग कंसलटेंट की तिहरी जिम्मेदारी को लेकर बवाल था.

इसके बाद बवाल मचा उमर अकमल (Umar Akmal) के पीएसएल में कथित सट्टेबाजों से हुई मुलाकात के बाद उन पर लगे बैन को लेकर. दानिश कनेरिया और सलीम मलिक के पाकिस्तान क्रिकेट में वापसी की गुजारिश को लेकर भी माहौल गर्माया रहा. इस सारी बातों के बीच में एक खिलाड़ी की अंतर्राष्ट्रीय टीम में वापसी को लेकर भी लगातार चर्चा चलती रही. वो खिलाड़ी हैं फवाद आलम. आखिरकार 11 साल बाद फवाद आलम को इंग्लैंड (England) के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच के लिए टीम में शामिल कर लिया गया.

फवाद आलम पर रहेगी हर किसी की नजर

इंग्लैंड के खिलाफ साउथैंप्टन टेस्ट में फवाद आलम की बल्लेबाजी पर हर किसी की नजर रहेगी. पहले दिन के पहले सेशन का खेल देखने के बाद साफ लग रहा है कि फवाद आलम पर मिडिल ऑर्डर को संभालने की जिम्मेदारी रहेगी. बता दें कि फवाद आलम ने 2009 में श्रीलंका के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी. इसी साल नवंबर तक उन्होंने टेस्ट करियर में 3 मैच खेले थे. इन तीन मैचों में उन्होंने 41.66 की औसत से 250 रन बनाए थे. इसमें एक शतक भी शामिल था, लेकिन इस प्रदर्शन के बाद उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया.

इसके बाद पिछले एक दशक में फवाद आलम ने पाकिस्तान की घरेलू क्रिकेट में तहलका मचा रखा था. उन्होंने हर मैदान में, हर टूर्नामेंट में रन बनाए थे. फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उन्होंने 34 शतक और 60 अर्धशतक जड़ दिए थे. यही वजह है कि पाकिस्तान के कई पूर्व क्रिकेटर लगातार फवाद आलम के नाम की वकालत कर रहे थे.

पहले ही मैच में विदेशी धरती पर ठोका था शानदार शतक

फवाद आलम ने अपना पहला टेस्ट मैच बतौर सलामी बल्लेबाज खेला था. जुलाई 2009 में कोलंबों में खेले गए उस टेस्ट मैच की पहली पारी में तो फवाद आलम सिर्फ 16 रन बनाकर आउट हो गए थे. लेकिन दूसरी पारी में उन्होंने 168 रनों की शानदार पारी खेली थी. उस पारी में उन्होंने 6 घंटे से ज्यादा बल्लेबाजी की थी. उनके इस शतक के अलावा पाकिस्तान के 7 खिलाड़ी दहाई के आंकड़े तक भी नहीं पहुंच पाए थे. नतीजा पाकिस्तान को 7 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था. बावजूद इसके मैन ऑफ द मैच फवाद आलम ही थे. पाकिस्तान की टीम एक बार फिर उनसे इसी तरह की पारी की उम्मीद लगाए बैठी है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts