अजिंक्य रहाणे के टेस्ट करियर के पहले मैच में सचिन तेंदुलकर की वो सीख जो अब भी रहाणे को है याद

अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने साल 2013 में टेस्ट करियर की शुरूआत की थी. रहाणे हमेशा से सचिन तेंदुलकर की ‘गुड बुक्स’ में रहे हैं. दिलचस्प बात ये है कि तेंदुलकर ने जब क्रिकेट को अलविदा कहा और उस रोज वो ड्रेसिंग रूम में गए तो भी उन्होंने रहाणे की बहुत तारीफ की थी.
Ajinkya Rahane on Sachin Tendulkar, अजिंक्य रहाणे के टेस्ट करियर के पहले मैच में सचिन तेंदुलकर की वो सीख जो अब भी रहाणे को है याद

भारतीय टेस्ट टीम के भरोसेमंद बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने अपने टेस्ट करियर का पहला मैच याद किया है. वो सीख याद की है जो पहले टेस्ट में क्रीज पर उतरने के बाद मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने दी थी.

क्रिकेटर दीपदास गुप्ता के साथ बातचीत में उन्होंने कहा कि- “ उस दिन मैं नहीं समझ पा रहा था कि कैसे रिएक्ट करना है, वो एक तरह के मिले जुले भाव था. निश्चित तौर पर वो मेरे लिए एक खास लम्हा था. जिसे लेकर मैं नर्वस भी था और ‘एक्साइटेड’ भी”.

आपको याद दिला दें कि अजिंक्य रहाणे ने साल 2013 में टेस्ट करियर की शुरूआत की थी. दरअसल, रहाणे हमेशा से सचिन तेंदुलकर की ‘गुड बुक्स’ में रहे हैं. दिलचस्प बात ये है कि तेंदुलकर ने जब क्रिकेट को अलविदा कहा और उस रोज वो ड्रेसिंग रूम में गए तो भी उन्होंने रहाणे की बहुत तारीफ की थी.

अच्छा नहीं था रहाणे का पहला टेस्ट

अजिंक्य रहाने जब बल्लेबाजी करने आए तब भारतीय टीम 148 रनों पर तीन विकेट गंवा चुकी थी. उस वक्त विकेट के दूसरे छोर पर सचिन तेंदुलकर बल्लेबाजी कर रहे थे. सचिन ने जब अपने सामने एक नर्वस युवा बल्लेबाज को देखा तो उन्होंने वो सलाह दी जो रहाणे को अब भी याद है.

अजिंक्य रहाणे बताते हैं- “मैं जब बल्लेबाजी के लिए पहुंचा तो सचिन पाजी दूसरे छोर पर थे. उन्होंने मुझसे कहा कि एक खिलाड़ी के तौर पर तुम अपने पहले मैच में अच्छा करना चाहते होगे और आने वाले मैचों में भी. लेकिन इस समय इस तरह की कोई भी बात मत सोचो. बस इस लम्हे का आनंद लो. मेरा पहला टेस्ट मैच मेरे लिए कोई महान मैच नहीं था लेकिन वो यादगार मैच जरूर बना”.

दरअसल अजिंक्य रहाणे अपनी पहली पारी में सिर्फ 19 गेंद तक ही क्रीज पर टिक पाए थे. उन्होंने सिर्फ 7 रन बनाए थे. दूसरी पारी में भी रहाणे क्रीज पर ज्यादा वक्त नहीं बीता पाए और सिर्फ 1 रन बनाकर आउट हो गए. बावजूद इसके भारतीय टीम ने वो टेस्ट मैच 6 विकेट से जीता था.

टीम के भरोसेमंद बल्लेबाज हैं अजिंक्य रहाणे

करियर के शुरूआती दौर में अजिंक्य रहाणे के साथ एक बड़ी परेशानी थी उनका बैटिंग ऑर्डर. रहाणे टॉप ऑर्डर में बल्लेबाजी किया करते थे. लेकिन टीम इंडिया में उन्हें मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी करनी थी. लेकिन धीरे धीरे रहाणे ने जरूरी बदलाव किए और आज वो भारत के भरोसेमंद बल्लेबाजों में से हैं. 32 साल के अजिंक्य रहाणे आज भारत के लिए 65 टेस्ट मैच खेल चुके हैं. इन 65 टेस्ट मैचों में उन्होंने 4203 रन बनाए हैं. इसमें 11 शतक और 22 अर्धशतक शामिल हैं.

Ajinkya Rahane on Sachin Tendulkar, अजिंक्य रहाणे के टेस्ट करियर के पहले मैच में सचिन तेंदुलकर की वो सीख जो अब भी रहाणे को है याद

Related Posts