ऑस्ट्रेलिया के पूर्व खिलाड़ी एडम गिलक्रिस्ट ने 12 साल बाद बताया संन्यास का सच

गिलक्रिस्ट का कहना है कि वो हमेशा से ऐसे समय पर रिटायर होना चाहते थे, जब वो काफी अच्छी फॉर्म में हों और लोग उनसे कहें कि आप अभी क्यों रिटायर हो रहे हैं.

क्रिकेट में हर खिलाड़ी का रोल तय है. बल्लेबाज को रन बनाने है और गेंदबाज को विकेट झटकने है. लेकिन विकेटकीपर एक ऐसा किरदार है जिससे टीम को कई उम्मीदें रहती हैं. एक वक्त था जब क्रिकेट टीम में सिर्फ विकेटीकीपिंग की काबिलियत पर भी जगह मिल जाती थी, लेकिन धीरे-धीरे विकेटकीपिंग के साथ साथ बल्लेबाजी का आना जरूरी हो गया. अब ज्यादातर टीम ऐसे विकेटकीपर की तलाश में रहती हैं, जो कीपिंग के साथ-साथ अच्छी बल्लेबाजी भी करते हों.

ये सोच जिन खिलाड़ियों की वजह से आई उसमें से एक हैं एडम गिलक्रिस्ट. जो जितने शानदार विकेटकीपर थे, उतने ही जबरदस्त बल्लेबाज. गिलक्रिस्ट को आज भी सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर बल्लेबाजों में से एक माना जाता है. गिलक्रिस्ट ने 12 साल पहले 2008 में क्रिकेट से संन्यास लिया था और इस फैसले को लेने में जहां कुछ खिलाड़ी कई साल लगा देते हैं. वहीं गिलक्रिस्ट ने महज एक टेस्ट मैच के दौरान ही ये तय कर लिया था कि वो अब आगे नहीं खेलेंगे.

लक्ष्मण का कैच छूटा और गिलक्रिस्ट ने संन्यास ले लिया

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व खिलाड़ी एडम गिलक्रिस्ट ने एक बार फिर अपने संन्यास के दिन को याद किया है. उन्होंने बताया, ‘अगर आप टेस्ट मैच में वीवीएस लक्ष्मण का कैच छोड़ दें तो मुझे लगता है कि ये सही वजह है संन्यास लेने के लिए. आप किसी को बहुत सारे मौके नहीं दे सकते. लक्ष्मण ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की काफी धुनाई करते थे और फिर हरभजन सिंह हमें आउट करते थे. जहां तक सही समय पर संन्यास लेने की बात है. मैं हमेशा से ऐसे समय पर रिटायर होना चाहता था, जब अच्छी फॉर्म में रहूं और लोग मुझसे कहें कि आप अभी क्यों रिटायर हो रहे हैं’.

गिलक्रिस्ट के फैसले ने सबको चौंका दिया था

2008 में भारत ने ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था. चार टेस्ट मैच की सीरीज में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 2-1 से हराया था. सीरीज का चौथा और आखिरी टेस्ट एडिलेड में खेला जा रहा था. इसी मैच में गिलक्रिस्ट से वीवीएस लक्ष्मण का कैच छूट गया था. इसके बाद ही गिलक्रिस्ट ने टेस्ट से संन्यास लेने का फैसला कर लिया था.

गिलक्रिस्ट का क्रिकेट करियर

एडम गिलक्रिस्ट ने 1996 में वनडे क्रिकेट से अपने इंटरनेशनल क्रिकेट करियर का आगाज किया था. उन्होंने 96 टेस्ट मैच में 47.60 की औसत से 5570 रन बनाए. इसमें 17 शतक और 26 अर्धशतक शामिल हैं. वहीं 287 वनडे मैच में उनके नाम 9619 रन हैं. इस दौरान उनके बल्ले से 16 शतक और 55 अर्धशतक भी निकले. और 13 टी-20 मैच में उन्होंने 272 रन बनाए. इसके साथ ही गिलक्रिस्ट ने 396 इंटरनेशनल मैचो में कुल 905 शिकार किए, जिसमें 813 कैच और 92 स्टंपिंग शामिल हैं. उनका आखिरी वनडे इंटरनेशनल मैच भी भारत के खिलाफ था.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

Related Posts