अब पाकिस्तान को हराएगा उसका ही ‘कोच’

श्रीलंका के खिलाफ पाकिस्तान की टीम की चुनौती 2 मैच की टेस्ट सीरीज की होगी. साल 2009 में हुए आतंकी हमले के बाद पहली बार पाकिस्तान में कोई टेस्ट सीरीज खेली जाएगी. पहला मैच 11 दिसंबर से रावलपिंडी में खेला जाएगा. वहीं दूसरा मैच 19 दिसंबर से कराची में होगा.

ऑस्ट्रेलिया में करारी शिकस्त के बाद अब पाकिस्तान की टीम को अगली हार के लिए तैयार रहने की चेतावनी मिल चुकी है और ये चेतावनी दी है खुद पाकिस्तान के कोच ने. उन्होंने कहा है कि श्रीलंका की टीम ने टी-20 सीरीज में तो क्लीन स्वीप किया ही अब पाकिस्तान को एक बार फिर उन्हीं के घर पर टेस्ट सीरीज हराएगा श्रीलंका. पाकिस्तान का कोच क्यों लेगा पाकिस्तान की टीम से बदला.

पाकिस्तान के हेड कोच मिस्बाह उल हक की अगुवाई में उनकी टीम को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर सिर्फ शिकस्त मिली. अब हालात ये हैं कि उनको हटाने की मांग पूर्व खिलाड़ी से लेकर पाकिस्तान के मंत्री तक कर रहे हैं. मिस्बाह का सिरदर्द सिर्फ इतना ही नहीं है. उनका ताजा सिरदर्द ये है कि अब उन्हें उस कोच का सामना करना है जो पाकिस्तान की टीम की एक एक कमजोरी से वाकिफ है.

जो कुछ हफ्ते पहले तक पाकिस्तान की टीम के साथ ही था और अब वो उस टीम के साथ है जो पाकिस्तान के दौरे पर आने वाली है. उस कोच का नाम है मिकी आर्थर, जो अब श्रीलंका की टीम के कोच के तौर पर पाकिस्तान जाएंगे. श्रीलंका की टीम ने टी-20 सीरीज में जिस बुरी तरह पाकिस्तान को धोया था उससे ये तय है कि पाकिस्तान की टीम बैकफुट पर रहेगी. मिकी ऑर्थर ने पाकिस्तान की टीम को हराने की प्रतिज्ञा भी ले ली है.

पाकिस्तान की टीम से कोच का बदला
पाकिस्तान की टीम को पाकिस्तान में हराने का एलान किया है मिकी ऑर्थर ने. ऑर्थर को ही हटाकर मिस्बाह उल हक को पाकिस्तान का नया कोच बनाया गया था. दिलचस्प बात ये है कि अब ऑर्थर पाकिस्तान की टीम से इस बेइज्जती का बदला लेना चाहते हैं. ऑर्थर 2 साल के लिए श्रीलंका के हेड कोच होंगे और बतौर कोच उनकी पहली चुनौती पाकिस्तान दौरा ही होगा. ऑर्थर ने पाकिस्तान के टेस्ट कप्तान अजहर अली को चुनौती भी दे दी है.

ऑर्थर ने कहा – मैं जल्द ही आपसे मिलूंगा और अपने पाकिस्तानी बल्लेबाजों से कहना, अपने पैर विकेट से हटाकर रखें.
मिकी ऑर्थर के बयान से साफ है कि वो पाकिस्तान की टीम से खुद को हटाए जाने पर कितने आहत हैं. मिकी ऑर्थर 2006 से 2009 वर्ल्ड कप तक पाकिस्तान टीम के कोच रहे.

वर्ल्ड कप में खराब प्रदर्शन की वजह से उन्हें हेड कोच के पद से हटा दिया गया था. बहरहाल ऑर्थर के जाने के बाद पाकिस्तान की टीम और बर्बाद हो गई. पहले श्रीलंका की B टीम ने पाकिस्तान में जाकर पाकिस्तानी टीम को टी-20 सीरीज में 3-0 से करारी शिकस्त दी. उसके बाद पाक टीम ऑस्ट्रेलिया में टी-20 और टेस्ट सीरीज में भी मात खाकर वापस लौटी.

श्रीलंका के खिलाफ पाकिस्तान की टीम की चुनौती 2 मैच की टेस्ट सीरीज की होगी. साल 2009 में हुए आतंकी हमले के बाद पहली बार पाकिस्तान में कोई टेस्ट सीरीज खेली जाएगी. पहला मैच 11 दिसंबर से रावलपिंडी में खेला जाएगा. वहीं दूसरा मैच 19 दिसंबर से कराची में होगा.

इस सीरीज में पाकिस्तान पर दबाव होना तय है. एक तो ऑर्थर पाकिस्तानी खिलाड़ियों की कमजोरी जानते हैं और दूसरा टेस्ट में श्रीलंका का प्रदर्शन फिलहाल पाकिस्तान से कहीं बेहतर है. इस साल पाकिस्तान ने चार टेस्ट मैच खेले और चारों में उन्हें हार मिली. जबकि श्रीलंका ने कुल 6 टेस्ट खेले जिसमें से उन्हें 3 में जीत और 3 में हार मिली. श्रीलंका के खिलाफ टी-20 सीरीज में तो पाकिस्तान को हार मिली ही थी. अबकी बार अगर पाकिस्तान श्रीलंका से हारा तो पीसीबी और पाक क्रिकेट टीम के लिए अपने फैंस का सामना करना भी मुश्किल हो जाएगा.