वेस्टइंडीज के पूर्व खिलाड़ी दिनेश रामदीन ने बताया कैसे विराट को सबसे बुरे दौर से धोनी ने निकाला था बाहर

भारतीय कप्तान विराट कोहली सफलता के नए-नए मुकाम हासिल कर रहे हैं. लेकिन जब बात उनके मुश्किल वक्त की होती है, तो खुद विराट कई बार कह चुके हैं कि 2014 का इंग्लैंड दौरा उनके करियर का सबसे बुरा वक्त था.

ipl 2020 virat kohli royal chllengers bangalore csk mahendra singh dhoni virat kohli most matches for t20 team
विराट कोहली लंबे समय से रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर का ही हिस्सा बने हुए हैं.

विराट कोहली की गिनती आज विश्व के सर्वश्रेठ बल्लेबाजों में होती है. ICC रैंकिंग में भी विराट का जलवा दिखाई देता है. वो टेस्ट में इस वक्त टॉप-3 में हैं तो वनडे में नंबर वन का ताज विराट के सिर पर ही सजा हुआ है. लेकिन एक दौर वो भी था जब विराट के बल्ले से रन नहीं निकल रहे थे. उनकी बाहर जितनी आलोचना हो रही थी, उतना ही विराट खुद से भी निराश थे.

ये बात भारत के 2014 इंग्लैंड दौरे की है. जहां विराट पूरी तरह असफल हुए. विराट के इस मुश्किल दौर में धोनी उनके साथ खड़े रहे. धोनी को विराट पर भरोसा था. उनकी काबिलियत पर विश्वास था. इसलिए धोनी ने विराट को टीम से बाहर नहीं किया. वेस्टइंडीज के पूर्व खिलाड़ी दिनेश रामदीन ने कहा कि धोनी ने विराट के बल्लेबाजी क्रम में बदलाव किया और विराट अपने खराब दौर से ‘बैक टू नॉर्मल’ हो गए.

धोनी की रणनीति ने विराट को किया था हिट

भारतीय कप्तान विराट कोहली सफलता के नए-नए मुकाम हासिल कर रहे हैं. लेकिन जब बात उनके मुश्किल वक्त की होती है, तो खुद विराट कई बार कह चुके हैं कि 2014 का इंग्लैंड दौरा उनके करियर का सबसे बुरा वक्त था. विराट को इस मुश्किल वक्त से धोनी ने कैसे बाहर निकाला इस बात का खुलासा वेस्टइंडीज के दिनेश रामदीन ने किया है.

उन्होंने कहा, “मुझे याद है कि विराट का इंग्लैंड दौरा खराब गया था और उनसे रन नहीं बन रहे थे. हम भारत में तीन मैच की वनडे सीरीज खेलने आए थे और हमने विराट को पहले मैच में सस्ते में ही आउट कर दिया था. पहले मैच में विराट दो रन बनाकर आउट हो गए थे. लेकिन धोनी ने उन्हें टीम से बाहर नहीं किया. बल्कि धोनी ने विराट से कहा कि मैं आपको नंबर तीन की जगह नंबर चार या पांच पर भेजूंगा.”

“उसके अगले मैच में विराट चौथे नंबर पर आए और 62 रन की अर्धशतकीय पारी खेली. वहीं तीसरे और आखिरी मैच में फिर वो तीसरे नंबर पर आए और शतक जड़ा. इस तरह विराट अपने मुश्किल वक्त से बाहर आए और नॉर्मल हो गए.”

2014 इंग्लैंड दौरे पर विराट का प्रदर्शन

2014 में भारत ने इंग्लैंड का दौरा किया था. इस दौरे पर भारतीय टीम को शर्मनाक हार झेलनी पड़ी थी. इंग्लैंड ने भारत को पांच टेस्ट मैच की सीरीज में 3-1 से शिकस्त दी थी. इस सीरीज में विराट कोहली पूरी तरह फ्लॉप साबित हुए थे. विराट ने पांच टेस्ट की 10 पारियों में 13.40 की खराब औसत से कुल 134 रन बनाए थे. इस दौरान उनके बल्ले से एक अर्धशतक तक नहीं निकला था.

Related Posts