विश्व कप को बीता करीब एक साल, अब भी जारी है अंबाती रायडू पर बवाल

गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने अंबाती रायडू विवाद (Ambati Rayudu) का मुद्दा उठाते हुए  टीम इंडिया के पूर्व चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद (MSK Prasad) से विश्व कप के सेलेक्शन पर कई तीखे सवाल पूछे हैं.

पूर्व भारतीय खिलाड़ी गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) अक्सर अपने तीखे बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं. वो खुलकर तारीफ करते हैं, तो आलोचना करने में भी कोई कंजूसी करते हैं. इस बार गौतम गंभीर ने टीम इंडिया के पूर्व चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद पर निशाना साधा है.

उन्होंने अंबाती रायडू विवाद (Ambati Rayudu) का मुद्दा उठाते हुए एमएसके प्रसाद (MSK Prasad) से विश्व कप के सेलेक्शन पर कई तीखे सवाल पूछे. साथ ही कप्तान और कोच को टीम का चयन करने का अधिकार देने का सुझाव तक दे डाला.

विश्व कप से रायडू को बाहर करने पर प्रसाद से भिड़े गंभीर

गौतम गंभीर, एमएसके प्रसाद और कृष्णामचारी श्रीकांत (Krishnamachari Srikkanth) ने एक कार्यक्रम में टीम इंडिया के सेलेक्शन पर बात की. इस दौरान गौतम गंभीर ने कहा कि आपने विश्व कप 2019 (World Cup 2019 ) के चयन में जो फैसले किए वो काफी चौंकाने वाले थे. दो साल तक रायडू को चौथे नंबर पर मौका दिया. फिर वर्ल्ड कप से पहले टीम से रायडू को बाहर कर दिया.

उनकी जगह पर विजय शंकर को मौका दिया. अचानक से आपको थ्री डी खिलाड़ी चाहिए था. क्या आप देखना चाहेंगे कि सेलेक्शन बोर्ड के अध्यक्ष कहें कि हमें थ्री डी क्रिकेटर चाहिए. इस पर प्रसाद ने भी जवाब दिया.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

उन्होंने कहा कि सबसे पहले मैं ये साफ करना चाहता हूं कि शिखर धवन (Shikhar Dhwan), रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और विराट कोहली (Virat Kohli) ये सभी बल्लेबाज हैं. हमें एक ऐसा खिलाड़ी चाहिए था जो ऊपर बल्लेबाजी कर सके और इंग्लैंड की पिच पर गेंदबाजी भी कर सके.

इसमें श्रीकांत ने कहा कि मैं गंभीर का समर्थन नहीं कर रहा हूं और ना ही प्रसाद की बात को कम महत्व देना चाहता हूं. लेकिन प्रसाद इंटरनेशनल क्रिकेट और घरेलू क्रिकेट में बहुत बड़ा अंतर होता है.

कप्तान और कोच को मिले टीम चयन का अधिकार- गंभीर

एमएसके प्रसाद के साथ हुई तीखी बहस में गंभीर ने कहा कि अब टीम चुनने का अधिकार कप्तान और कोच को मिलना चाहिए. कप्तान और कोच को सेलेक्टर बना देना चाहिए. टीम की प्लेइंग इलेवन चुनने में सेलेक्टर की किसी तरह की कोई भूमिका नहीं होनी चाहिए.

हालांकि पूर्व सेलेक्टर एमएसके प्रसाद का कहना है कि कप्तान हमेशा से ही सेलेक्शन प्रक्रिया का हिस्सा रहे हैं. इसमें कोई दो राय नहीं है. लेकिन भारतीय बोर्ड के नियमों के मुताबिक वो वोट नहीं कर सकते हैं.

विश्व कप 2019 (World Cup 2019 ) से पहले तक लग रहा था कि चौथे नंबर पर भारतीय टीम के बल्लेबाज अंबाती रायडू रहेंगे. खुद कप्तान कोहली ने भी कहा था कि रायडू विश्व कप तक के लिए चौथे नंबर पर फिट हो चुके हैं.

लेकिन चयन के वक्त रायडू को टीम से बाहर कर दिया गया और उनकी जगह विजय शंकर को मौका दिया गया. उस वक्त चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रदास थे. उन्होंने कहा था की टीम को एक 3डी प्लेयर चाहिए. इसके बाद रायडू ने नाराज होकर संन्यास का ऐलान कर दिया था.

Related Posts