गौतम गंभीर के मुंह से निकली विदेशी खिलाड़ी की तारीफ, साथ ही पढ़ें खेल की हर बड़ी खबर

बेन स्टोक्स (Ben Stokes) के शानदार प्रदर्शन की बदौलत वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ इंग्लैंड (ENG vs WI) को दूसरे टेस्ट मैच में जीत मिली थी.

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज़ गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने कहा है कि इस वक़्त भारत के किसी भी खिलाड़ी की तुलना बेन स्टोक्स (Ben Stokes) से नहीं की जा सकती. एक इंटरव्यू में गौतम गंभीर ने बेन स्टोक्स की तारीफ़ करते हुए कहा, “इस वक़्त वो अपनी ही लीग में है”. बेन स्टोक्स के शानदार प्रदर्शन की बदौलत वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ इंग्लैंड (ENG vs WI) को दूसरे टेस्ट मैच में जीत मिली थी.

पिछले साल बेन स्टोक्स ने इंग्लैंड की विश्व कप (World Cup, 2019) जीत में भी बेहद अहम रोल निभाया था. वो ऐशेज सीरीज़ (Ashes Series) में भी करिश्माई पारी खेल चुके हैं. कुल मिलाकर बेन स्टोक्स इन दिनों कमाल की फ़ॉर्म में हैं. वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ सीरीज़ के पहले मैच में उन्हें कप्तानी भी दी गई थी. हालांकि वो मैच इंग्लैंड की टीम हार गई थी.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

ब्रैड हॉग ने कहा- इस बार RCB होगी ख़िताब की मज़बूत दावेदार

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर ब्रैड हॉग ने कहा है कि IPL के इस सीज़न में विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर जीत के लिए फ़ेवरेट टीम होगी. IPL के ऐलान के बाद ब्रैड हॉग क्रिकेट फैंस से बातचीत कर रहे थे. आपको बता दें कि नामी गिरामी सितारों से सजी RCB की टीम अब तक एक बार भी IPL का ख़िताब जीत नहीं पाई है.

भारतीय महिला क्रिकेट टीम को लेकर पूर्व कप्तान ने जताई मायूसी

भारत की पूर्व महिला क्रिकेट कप्तान शांता रंगास्वामी ने कहा कि ऐसा लगता है कि प्रकृति ने भी महिला क्रिकेट टीम के ख़िलाफ़ साज़िश शुरू कर दी है. कोरोना की वजह से महिला क्रिकेट टीम लंबे समय से खेल के मैदान से दूर है. इन दिनों पुरुषों की टीम के एक्शन की बहाली को लेकर बातचीत चल रही है. लेकिन महिला क्रिकेट टीम पर किसी का ध्यान नहीं है. जबकि हाल के दिनों में महिला क्रिकेट टीम का प्रदर्शन शानदार रहा है. इस साल भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया में टी-20 विश्व कप का फ़ाइनल खेला था.

‘रन टू द मून’ मुहिम से 19 लाख रुपए इकट्ठा

कोरोना की वजह से प्रभावित हुए खेलों के सपोर्ट स्टाफ़ की मदद के लिए आयोजित ‘रन टू द मून’ से 19 लाख रुपये इकट्ठा हुए. इस मुहिम की अगुवाई पुलेला गोपीचंद, अश्विनी नाचप्पा और मलाथी होला कर रहे थे. 30 दिन तक चली इस मुहिम में दुनिया भर के क़रीब 14 हज़ार रनर्स ने हिस्सा लिया और इन्होंने मिलकर नौ लाख किलोमीटर से ज़्यादा की दूरी तय की.

विश्वनाथन आनंद की लगातार पांचवीं हार

पूर्व वर्ल्ड चेस चैंपियन भारतीय ग्रैंडमास्टर विश्वनाथन आनंद को ‘लीजेंड्स ऑफ़ चेस’ प्रतियोगिता में लगातार पांचवी हार का सामना करना पड़ा. डेढ़ लाख US डॉलर की ईनामी राशि वाली ये प्रतियोगिता ऑनलाइन खेली जा रही है. विश्वनाथन आनंद को हंगरी के पीटर लेको ने मात दी. इससे पहले विश्वनाथन आनंद को पीटर स्वीडलर, मैगनस कार्लसन, ब्लादिमीर क्रामनिक और अनीश गिरी ने हराया था.

जिस जीत ने बदल दिया पीवी सिंधु का करियर

भारतीय बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधू ने कहा कि शुरुआती असफलताओं के बाद जब उन्होंने चाइना ओपन में ली जू रूई को हराया तो उसके बाद उनका करियर ही बदल गया. ली उस वक़्त ओलंपिक चैंपियन थीं. पीवी सिंधू ने चाइना मास्टर्स के क्वार्टर फ़ाइनल में उन्हें हराया था. इसके अगले साल वर्ल्ड चैंपियनशिप में पीवी सिंधू ने ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया था. बाद में उन्होंने ओलंपिक सिल्वर मेडल भी जीता.

रेसिंग की दुनिया के ‘द चीफ़’ मॉरिस पेटी नहीं रहे

रेसिंग की दुनिया का बड़ा नाम मॉरिस पेटी नहीं रहे. NASCAR हॉल ऑफ़ फ़ेम में शामिल मॉरिस पेटी 81 साल के थे. रेसिंग की दुनिया में ये उनका सम्मान ही था कि उन्हें ‘द चीफ़’ बुलाया जाता था. उनके निधन की पुष्टि उनके परिवार वालों ने ही की.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts