Happy B’day Sunny Sir: क्या आप जानते हैं गावस्कर पर वेस्टइंडीज में लिखा गया है गाना, पढ़िए- दिलचस्प कहानी

आखिर क्यों पूरी दुनिया के मुकाबले वेस्टइंडीज में गावस्कर को लेकर इतनी ज्यादा थी दीवागनी? क्या है उस गाने की कहानी ? आज सुनील गावस्कर के जन्मदिन (Sunil Gavaskar Birthday) पर कुछ शानदार किस्से...
Happy birthday sunil gavaskar, Happy B’day Sunny Sir: क्या आप जानते हैं गावस्कर पर वेस्टइंडीज में लिखा गया है गाना, पढ़िए- दिलचस्प कहानी

सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) का नाम यूं तो पूरी दुनिया में बड़ी ही इज्जत से लिया जाता है. लेकिन वेस्टइंडीज़ (West Indies) में उनकी दीवानगी का आलम ही अलग था. उनकी शान में बाकायदा वहां एक गाना बनाया गया था. यहां तक कि वेस्टइंडीज के बड़े खिलाड़ी बीच टेस्ट मैच में गावस्कर की बल्लेबाजी के इतने कायल हो गए कि उन्होंने उनसे उनका बल्ला मांग दिया. गावस्कर उस बल्ले से कई शतक बना चुके थे.

गावस्कर के लिए वेस्टइंडीज में क्यों थी इतनी दीवानगी?

किस टेस्ट मैच में हुआ था ये वाकया? गावस्कर ने उस खिलाड़ी को अपना बल्ला दिया या नहीं? कौन था वो खिलाड़ी? साथ ही आखिर क्यों पूरी दुनिया के मुकाबले वेस्टइंडीज में गावस्कर को लेकर इतनी ज्यादा थी दीवागनी? क्या है उस गाने की कहानी ? आज सुनील गावस्कर के जन्मदिन पर कुछ शानदार किस्से…

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

वैनबर्न होल्डर, ग्रेजन शिलिंगफोर्ड, एंडी रॉबर्ट्स, माइकल होल्डिंग, जोएल गार्नर, मैलकम मार्शल. 1970 और 1980 के दशक में ये वो गेंदबाज थे, जिनके नाम से पूरी दुनिया के बल्लेबाज कांपा करते थे. वेस्टइंडीज की टीम का अपने गेंदबाजों के दम पर विश्व क्रिकेट पर दबदबा हुआ करता था.

Happy birthday sunil gavaskar, Happy B’day Sunny Sir: क्या आप जानते हैं गावस्कर पर वेस्टइंडीज में लिखा गया है गाना, पढ़िए- दिलचस्प कहानी

सुनील गावस्कर इसी दौर में भारतीय क्रिकेट में आए थे. बगैर हेलमेट के बल्लेबाजी करने के लिए मशहूर सुनील गावस्कर और वेस्टइंडीज के गेंदबाजों में जबरदस्त प्रतिद्वंदिता चलती थी. वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाजों की टोली दोनों छोर से लिटिल मास्टर पर हमला करती थी और गावस्कर बड़ी बहादुरी से उनको जवाब दिया करते थे. पूरे करियर में सुनील गावस्कर वेस्टइंडीज के खिलाफ हमेशा जबरदस्त प्रदर्शन करते रहे.

कुछ आंकड़े बता देते हैं आपको…

भारतीय मैदानों में सुनील गावस्कर ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 14 टेस्ट मैच खेले थे. इन 14 टेस्ट मैचों में उन्होंने 6 शतक लगाए थे. इन 14 टेस्ट मैचों में उनकी औसत भी अपने करियर औसत से ज्यादा की ही थी. इससे भी ज्यादा दिलचस्प आंकड़े उन मैचों के हैं जो सुनील गावस्कर ने वेस्टइंडीज के मैदानों में खेले.

गावस्कर ने वेस्टइंडीज में 13 टेस्ट मैच खेले थे. इन 13 टेस्ट मैचों में उन्होंने 7 शतक लगाए थे. सुनील गावस्कर का करियर औसत 51 रनों के आस पास का है जबकि वेस्टइंडीज की पिचों पर उन्होंने 70 से ज्यादा की औसत से रन बनाए थे.

वेस्टइंडीज में गावस्कर के लिए लिखा गया गाना

यही वजह है कि सुनील गावस्कर शायद दुनिया के इकलौते ऐसे क्रिकेटर हैं जिनके लिए बाकायदा वेस्टइंडीज में गाना लिखा गया. 70 के दशक में लॉर्ड रीटेलर ने लिखा था –

“It was Gavaskar, the real master, just like a wall…..You know the West Indies couldn’t out Gavaskar at all”

ये कैलिप्सो बाद में इतना मशहूर हुआ कि भारत वेस्टइंडीज के मैचों में अक्सर बजा करता है. कहते हैं कि इसे टॉप 20 कैलिप्सो में भी शामिल किया गया. ये गावस्कर के करियर के शुरूआती दिनों की ही बात है. जब उन्होंने 4 टेस्ट मैचों में 774 रन बनाए  थे. 4 शतक. डेढ़ सौ से ज्यादा की औसत. इसके बाद गावस्कर पूरी दुनिया की टीमों के खिलाफ अपनी बल्लेबाजी का डंका पीटते रहे. करीब 15 साल के अंतर्राष्ट्रीय करियर में गावस्कर ने एक के बाद एक कई कीर्तिमान बनाए.

Happy birthday sunil gavaskar, Happy B’day Sunny Sir: क्या आप जानते हैं गावस्कर पर वेस्टइंडीज में लिखा गया है गाना, पढ़िए- दिलचस्प कहानी

किस बल्लेबाज ने मांगा गावस्कर का बल्ला

अब आपको बताते हैं कि वो कौन सा बल्लेबाज था, जिसने बीच मैच में उनसे उनका बल्ला मांग दिया था. हुआ यूं कि भारतीय टीम चेन्नई में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट मैच खेल रही थी. तब तक भारतीय टीम 1983 का विश्व कप जीतकर पूरी दुनिया को अपनी काबिलियत का परिचय दे चुकी थी. साल के अंत में 6 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलने के लिए वेस्टइंडीज की टीम भारत के दौरे पर थी. इसी दौरे की शुरूआत में मैल्कम मार्शल की गेंद पर गावस्कर का बल्ला कानपुर में छूटा था. इसी सीरीज में गावस्कर ने अगले मैच में मार्शल की जमकर धुनाई की थी.

सर डॉन ब्रैडमैन के 29 शतकों के रिकॉर्ड की बराबरी भी गावस्कर ने इसी सीरीज में की थी. सीरीज का आखिरी मैच चेन्नई में था. वेस्टइंडीज ने पहली पारी में 313 रन बनाए थे. सीरीज के तीन मैच वेस्टइंडीज की टीम पहले ही जीत चुकी थी. ऊपर से इस टेस्ट मैच में भी भारत की शुरुआत बहुत खराब रही थी. गावस्कर इस मैच में मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी करने उतरे थे. उनसे पहले अंशुमान गायकवाड़ और दिलीप वेंगसरकर बगैर खाता खोले पवेलियन लौट चुके थे. गावस्कर ने क्रीज संभाली और उसके बाद वेस्टइंडीज की पूरी टीम के गेंदबाज मिलकर भी उन्हें आउट नहीं कर पाए.

Happy birthday sunil gavaskar, Happy B’day Sunny Sir: क्या आप जानते हैं गावस्कर पर वेस्टइंडीज में लिखा गया है गाना, पढ़िए- दिलचस्प कहानी

सुनील गावस्कर ने उस पारी में नॉट आउट 236 रन बनाए. जो उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ स्कोर है. मजा तब आया जब उनकी बल्लेबाजी को विकेट के पीछे से देख रहे वेस्टइंडीज के विकेटकीपर जैफ्री डुजॉन को लगा कि गावस्कर का बल्ला बल्लेबाजी करते करते कहीं से टूट गया है. गावस्कर ने मैच के तीसरे दिन बल्लेबाजी की, चौथे दिन बल्लेबाजी की और पांचवे दिन भी बल्लेबाजी की. करीब 11 घंटे की उस पारी को सबसे करीब से देखने वाले जैफ्री डूजॉन से रहा नहीं गया. मैच के चौथे दिन जब गावस्कर अपना शतक बना चुके थे तो डुजॉन ने सुनील गावस्कर से जाकर उनका बल्ला मांग लिया.

बल्ले को मांगने के लिए उन्होंने ये दलील रखी कि वो बल्ला टूट चुका है इसलिए उन्हें दे दिया जाए. सुनील गावस्कर ने कहाकि वो मैच के इंटरवल में अपने बल्ले को बदल लेंगे. उन्होंने बल्ले को देने या नहीं देने का कोई वायदा नहीं किया. अगले कुछ मिनटों बाद जब इंटरवल में दोनों टीमें ड्रेसिंग रूम की तरफ लौट रही थी तो सुनील गावस्कर ने अचानक डुजॉन को बुलाया और अपना वो बल्ला दे दिया. डुजॉन चौंक गए. उनके लिए ये बेशकीमती तोहफा था. हाल ही में वेस्टइंडीज के दौरे पर जब डूजॉन और गावस्कर कॉमेंट्री बॉक्स में थे तो डूजॉन ने उन्हें बताया कि वो बल्ला उन्होंने अभी तक संभाल कर रखा है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts