चयनकर्ताओं से खफा हुए हरभजन सिंह, सौरव गांगुली से बदलाव की अपील

एमएसके प्रसाद वाली चयन समिति ने हाल ही में विंडीज सीरीज के लिए टीम चुनी जिसमें संजू सैमसन को नहीं चुना गया.
Harbhajan Singh Ganguly, चयनकर्ताओं से खफा हुए हरभजन सिंह, सौरव गांगुली से बदलाव की अपील

ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरभ गांगुली से चयन समिति में बदलाव करने की अपील की है. हरभजन ने कहा है कि चयन समिति में मजबूत लोग होने चाहिए.

एमएसके प्रसाद वाली चयन समिति ने हाल ही में विंडीज सीरीज के लिए टीम चुनी जिसमें संजू सैमसन को नहीं चुना गया. इसके बाद चयन समिति की काफी आलोचना हो रही है. संजू को बांग्लादेश के खिलाफ टी-20 सीरीज में जगह मिली थी लेकिन वह अंतिम-11 में नहीं खेल पाए थे.

सैमसन को टीम से हटाए जाने के बाद तिरुवंनतपुरम से कांग्रेस के सांसद शशि थरूर ने निराशा जताते हुए ट्वीट किया था, “संजू सैमसन को बिना मौका दिए हटा दिया गया है इस बात से काफी निराश हूं. वह तीन टी-20 मैचों में पानी पिलाते हुए देखे गए थे. क्या वह उसकी बल्लेबाजी देख रहे थे या दिल?”

हरभजन ने सोमवार को थरूर के ट्वीट का जवाब दिया, “मुझे लगता है कि वह उसका दिल देख रहे थे. चयन समिति में बदलाव होना चाहिए, वहां मजबूत लोगों की जररूत है. उम्मीद है कि दादा सौरभ गांगुली ऐसा करेंगे.”


दूसरी तरफ, भारत ने ऐतिहासिक ईडन गार्डन्स स्टेडियम में अपना पहला दिन-रात प्रारूप का टेस्ट मैच खेला. अगर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरभ गांगुली न होते तो भारत के लिए यह मुमकिन भी नहीं था. यह गांगुली का सपना था और इसे साकार करने के लिए उन्होंने कोई कसर नहीं छोड़ी.

टेस्ट मैच के दूसरे दिन के अंतिम सत्र में गांगुली ने आईएएनएस से बात की और कहा कि इस मैच के दौरान विश्व कप फाइनल जैसी अनुभूति हुई. पूर्व कप्तान ने कहा, “आप, आस-पास देखिए (प्रशंसकों को दिखाते हुए). क्या आपने यह देखा है? आपने कब आखिरी टेस्ट मैच में इतने दर्शक देखे थे? ऐसा लग रहा है कि यह विश्व कप का फाइनल हो.”

ये भी पढ़ें-

दिन-रात टेस्ट मैच पर बोले गांगुली- आपने इतने दर्शक कब देखे थे, ऐसा लगा जैसे विश्व कप का फाइनल हो

विराट की सेना ने 5 दिन के टेस्ट मैचों को बना दिया 3 दिनों का खेल

भारत ने पहला ‘पिंक बॉल’ टेस्ट पारी और 46 रनों से जीता, सीरीज में क्लीन स्वीप

Related Posts