सचिन के आखिरी टेस्‍ट मैच में बने थे हीरो, प्रज्ञान ओझा ने सिर्फ 33 की उम्र में लिया संन्‍यास

ओझा ने भारत के लिए आखिरी टैस्‍ट मैच 2013 में खेला था. वह मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर का भी आखिरी मैच था. मुंबई के वानखेड़े स्‍टेडियम में वेस्‍टइंडीज के खिलाफ उस मुकाबले में ओझा ने दोनों पारियों में 5-5 विकेट्स लिए थे.
pragyan ojha retirement, सचिन के आखिरी टेस्‍ट मैच में बने थे हीरो, प्रज्ञान ओझा ने सिर्फ 33 की उम्र में लिया संन्‍यास

मशहूर स्पिनर प्रज्ञान ओझा (Pragyan Ojha) ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट्स से संन्‍यास ले लिया है. उन्‍होंने एक बयान जारी कर रिटायरमेंट का ऐलान किया. वह फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट भी नहीं खेलेंगे. 33 साल के प्रज्ञान ओझा ने बेहद भावुक चिट्ठी लिखी है जिसमें उन्‍होंने क्रिकेट एसोसिएशंस से लेकर मेंटर्स और साथी प्‍लेयर्स का शुक्रिया अदा किया है.

सचिन तेंदुलकर के हाथों टेस्‍ट कैप पाने वाले प्रज्ञान ने उनका आखिरी टेस्‍ट मैच यादगार बनाया. मुंबई के वानखेड़े स्‍टेडियम में वेस्‍टइंडीज के खिलाफ उस मुकाबले में ओझा ने दोनों पारियों में 5-5 विकेट्स लिए थे.

pragyan ojha retirement, सचिन के आखिरी टेस्‍ट मैच में बने थे हीरो, प्रज्ञान ओझा ने सिर्फ 33 की उम्र में लिया संन्‍यास
File Pic

ऐसा रहा करिअर

24 टेस्‍ट मैचों की 28 पारियों में ओझा ने 113 विकेट्स लिए हैं. प्रज्ञान ने कुछ 18 वनडे खेले जिसमें उन्‍होंने 21 विकेट्स हासिल किए. 6 T20I खेल वाले ओझा ने 10 विकेट लिए हैं. इसके अलावा फर्स्‍ट क्‍लास और लिस्‍ट ए में उनका अच्‍छा-खासा करिअर रहा है.

ओझा ने भारत के लिए आखिरी टैस्‍ट मैच 2013 में खेला था. वह मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर का भी आखिरी मैच था.

ये भी पढ़ें-

IND vs NZ : काइल जेमीसन का शानदार डेब्‍यू, पहले दिन भारत ने 122 रनों पर गंवाए 5 विकेट्स

रॉस टेलर की अनूठी ‘ट्रिपल सेंचुरी’, न्‍यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड ने गिफ्ट कीं शराब की 100 बोतलें

Related Posts