तेज गेंदबाजों की बड़ी टक्कर, कौन जीतेगा बुमराह या स्टार्क?

टीम इंडिया के पास बुमराह हैं तो ऑस्ट्रेलिया के पास मिचेल स्टार्क. मिचेल की ताकत उनकी रफ्तार है. वो बड़ी आसानी से 148 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार छू सकते हैं.

रफ्तार होगी. गेंदबाजी में धार होगी. कभी बाउंसर से हमला होगा. तो कभी यॉर्कर से गिल्लियां बिखेरी जाएंगी. जब दुनिया के सबसे बेहतरीन गेंदबाजों की टक्कर होगी तो मजा तो आएगा….

जसप्रीत बुमराह Vs मिचेल स्टार्क

दुनिया के नंबर 1 वनडे गेंदबाज जसप्रीत बुमराह इंजरी से ऊबर कर टीम में वापसी कर चुके हैं. बुमराह 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी कर रहे हैं जो कि ऑस्ट्रेलिया के लिए चेतावनी है. साथ ही उनके पास वेरिएशन है जो कि उनको और घातक गेंदबाज बनाता है.

बुमराह अबतक 58 वनडे में 103 विकेट अपने नाम कर चुके हैं. इकॉनमी महज 4.49 की है. 5 बार एक मैच में 4 से ज्यादा विकेट हासिल कर चुके हैं. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बुमराह ने 11 मैच में 17 विकेट हासिल किए हैं.

बुमराह की ताकत उनकी यॉर्कर और स्लोवर वन हैं. डेथ ओवर्स में बुमराह रन रोकने में कामयाब रहते हैं. बुमराह की कमजोरी फिलहाल उनकी लाइन-लेंथ है. चोट से वापसी के बाद वो थाड़ा संघर्ष करते नजर आए.

टीम इंडिया के पास बुमराह हैं तो ऑस्ट्रेलिया के पास मिचेल स्टार्क. मिचेल की ताकत उनकी रफ्तार है. वो बड़ी आसानी से 148 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार छू सकते हैं. मिचेल के बाउंसर बल्लेबाजों को संभलने का मौका नहीं देते और उनकी बाहर जाती गेंद दाएं हाथ के बल्लेबाजों के लिए बेहद खतरनाक साबित होती हैं. मिचेल ने 85 वनडे में 172 विकेट हासिल किए हैं. हालांकि भारत के खिलाफ मिचेल संघर्ष करते नजर आए हैं. मिचेल ने टीम इंडिया के खिलाफ खेले 8 वनडे मैच में 13 विकेट हासिल किए हैं. भारत में मिचेल ने सिर्फ एक मैच खेला है जिसमें उन्हें कोई विकेट नहीं मिला. यानी कि आंकड़ों के लिहाज से फिलहाल बुमराह ही भारी नजर आ रहे हैं.

मोहम्मद शमी Vs पैट कमिंस

पिछले साल टीम इंडिया के लिए वनडे में सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने वाले गेंदबाज हैं मोहम्मद शमी. शमी की तरह ही ऑस्ट्रेलिया के लिए विकेट टेकिंग गेंदबाज बने हैं पैट कमिंस. शमी ने 73 वनडे में 136 विकेट अपने नाम किए हैं. पैट कमिंस ने 58 वनडे में 96 विकेट हासिल किए. शमी की गेंदबाजी औसत 25 की है तो कमिंस की गेंदबाजी औसत 27.1 की है. शमी की इकॉनमी 5.5 है और कमिंस की 5.1. शमी 8 बार एक मैच में 4 से ज्यादा विकेट हासिल कर चुके हैं जबकि कमिंस ने 5 बार 4 से ज्यादा विकेट अपने नाम की है. शमी की ताकत उनकी इन कटर हैं तो वहीं पैट कमिंस की ताकत उनकी इनस्विंगर हैं. पैट कमिंस और शमी में से जो गेंदबाज बेहतर कर गया समझिए जीत उसकी टीम के कदम चूमेगी.