Ind vs Aus Women’s T20 World Cup: भारत को 85 रनों से हरा, पांचवीं बार विश्व चैंपियन बना ऑस्ट्रेलिया

मैच में शुरुआत से ही भारतीय टीम पर हावी दिख रही ऑस्ट्रेलिया ने भारतीय टीम को महज 99 के स्कोर पर ऑल आउट कर दिया.
womens's t20 world cup final 2020, Ind vs Aus Women’s T20 World Cup: भारत को 85 रनों से हरा, पांचवीं बार विश्व चैंपियन बना ऑस्ट्रेलिया

भारत के खिलाफ 85 रनों की विशाल जीत दर्ज करने के साथ ही ऑस्ट्रेलियाई टीम पांचवीं बार विश्व चैंपियन बन गई है. वर्ल्ड कप फाइनल में भारत के सामने 184 रन का विशाल लक्ष्य रखने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम विरोधी भारतीय टीम को 100 रनों का आंकड़ा भी पार नहीं करने दिया. मैच में शुरुआत से ही भारतीय टीम पर हावी दिख रही ऑस्ट्रेलिया ने भारतीय टीम को महज 99 के स्कोर पर ऑल आउट कर दिया.

रविवार को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर भारत के साथ खेले जा रहे आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप के फाइनल में करीब 80 हजार दर्शकों की मौजूदगी में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम ने तूफानी शुरुआत करते हुए 20 ओवर में चार विकेट पर 184 रन का स्कोर का मजबूत स्कोर बनाया.

ऑस्ट्रेलियाई टीम को उसके दोनों ओपनरों बेथ मूनी (नाबाद 78) और एलीसा हिली (75) ने पहले विकेट के लिए 11.4 ओवर में 115 रनों की साझेदारी करके तूफानी शुरुआत दी. विशाल होती जा रही इस साझेदारी को राधा यादव ने हिली को सीमा रेखा पर वेदा कृष्णामूर्ति के हाथों कैच कराकर तोड़ा. हिली ने 39 गेंदों पर सात चौके और पांच छक्कों की मदद से अपने करियर का 12वां अर्धशतक लगाया.

हिली के आउट होने के बाद मूनी ने अपने करियर का नौवां अर्धशतक पूरा किया और उन्होंने कप्तान मेन लेनिंग (16) और मूनी ने दूसरे विकेट के लिए 39 रन जोड़े. लेनिंग के आउट होने के बाद ही एश्लेग गार्डनर (2) की आउट हो गई. दोनों बल्लेबाज दीप्ति शर्मा की ओवर में आउट हुई. दीप्ति ने अपने चौथे औवर में लेनिंग और गार्डनर को आउट करके भारत को मैच में वापस लाने की कोशिश की.

मूनी ने हालांकि एक छोर संभाले रखा और अपनी टीम को मजबूत लक्ष्य तक पहुंचाया. मूनी ने 54 गेंदों पर 10 चौके लगाए. उनके अलावा कप्तान मेग लेनिंग ने 15 गेंदों पर दो चौकों की बदौलत 16, एश्लेग गार्डनर ने दो, रचेल हायेनेस ने चार और निकोला कैरी ने नाबाद पांच रन बनाए. भारत की ओर से दीप्ति शर्मा ने दो और राधा यादव तथा पूनम यादव ने एक-एक विकेट चटकाए.

भारतीय महिला क्रिकेट टीम पहली बार टी-20 विश्व कप टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची थी और खिताब के लिए उसका सामना एक ऐसी टीम से होने जा रहा है जो चार बार चैंपियन रह चुकी थी और साथ ही 2009 में सेमीफाइनलिस्ट और 2016 में उपविजेता भी थी. हालांकि 185 रनों के विशाल लक्ष्य हासिल करने उतरी भारतीय टीम 100 का आंकड़ा भी पार नहीं कर सकी और 99 रन पर ही ऑल आउट हो गई.

भारतीय पारी शुरुआत में ही लड़खड़ा गई थी और पारी की तीसरी ही गेंद पर पहला विकेट गंवा बैठी. भारत को पहला झटका शैफाली वर्मा के रूप में लगा, जिनसे भारत को काफी उम्मीदें थीं. इसके बाद लगातार भारत के विकेट गिरते गए. टीम इंडिया की तरफ से सबसे ज्यादा 33 रन दीप्ति शर्मा ने बनाए. भारतीय टीम के 8 बल्लेबाज दहाई के आंकड़े तक भी नहीं पहुंच सकीं.

दोनों देशों की टीमें :

भारत : शेफाली वर्मा, स्मृति मंधाना, तानिया भाटिया (विकेट कीपर), जेम्मिहा रोड्रिगेज, हरमनप्रीत कौर (कप्तान), वेदा कृष्णामूर्ति, दीप्ति शर्मा, शिखा पांडे, राजेश्वरी गायाकवाड़, राधा यादव, पूनम यादव.

आस्ट्रेलिया : एलिसा हिली (विकेटकीपर), बेथ मूनी, मेग लेनिंग (कप्तान), जेस जोनासन, एश्ले गार्डनर, रचेल हायेनेस, निकोला कैरी, सोफी मोलिनेयुक्स, जॉर्जिया वारेहैम, डेलिसा किममिंसे, मेगन शट.

Related Posts