किसी अग्निपरीक्षा से कम नहीं है टीम इंडिया के लिए दूसरा टेस्ट मैच, इशांत पर सस्पेंस

विराट की अगुवाई में टीम इंडिया ने एक बात कई बार साबित की है. वो ये कि उसे बाउंस बैक करना आता है. इसी साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक बड़ी हार के बाद टीम इंडिया ने कमाल का ‘कमबैक’ किया था.
India vs New Zealand second Test, किसी अग्निपरीक्षा से कम नहीं है टीम इंडिया के लिए दूसरा टेस्ट मैच, इशांत पर सस्पेंस

अब से कुछ ही घंटे बाद टीम इंडिया की अग्निपरीक्षा शुरू होगी. न्यूजीलैंड दौरे पर पहला टेस्ट मैच गंवा चुकी टीम इंडिया दूसरे टेस्ट मैच के लिए मैदान में उतरेगी. विराट कोहली की अगुवाई में टीम इंडिया के सामने 5 फरवरी से शुरू हुए हार के सिलसिले को तोड़ने की चुनौती होगी. पिछले मैच को याद कीजिए टीम इंडिया के खिलाड़ियों के चेहरे पर मायूसी सिर्फ हार की नहीं थी. दरअसल 10 विकेट से मिली ये बड़ी हार टीम इंडिया की साख पर भी सवाल खड़े कर रही थी.

दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम की ये हालत? विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में अपराजेय चल रही टीम की इतनी बड़ी हार? मैदान में हर मोर्चे पर क्यों नाकाम रही टीम? ये चंद ऐसे सवाल थे जो खिलाड़ियों की मायूसी की वजह थे. अब इस मायूसी को दूर करने के लिए एक बार फिर मैदान में उतरने के लिए टीम इंडिया तैयार है. खिलाड़ियों ने नेट्स में खूब पसीना बहाया है. टीम के कोच रवि शास्त्री का कहना है कि पहले टेस्ट मैच की हार पर हायतौबा करने की जरूरत नहीं है. हमारे खिलाड़ियों को पता है कि उन्हें क्या करना है.

पृथ्वी को हरी झंडी, इशांत पर बढ़ा सस्पेंस

भारतीय टीम की सबसे बड़ी चिंता सलामी बल्लेबाजों को लेकर थी. पृथ्वी शॉ की फिटनेस को लेकर सवाल थे, लेकिन मैच शुरू होने से पहले उनकी फिटनेस को हरी झंडी मिल गई है. अब उन्हें मयंक अग्रवाल के साथ मिलकर टीम को अच्छी शुरूआत दिलानी है. जिसमें वो वनडे सीरीज से लेकर अब तक नाकाम रहे हैं. चुनौती चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली के सामने भी है. इन दोनों ही बल्लेबाजों से पिछले टेस्ट मैच में रन नहीं बने थे.

गेंदबाजी में सस्पेंस सिर्फ इस बात को लेकर है कि पिछले मैच में कामयाब रहे इशांत शर्मा को प्लेइंग 11 में जगह मिलती है या नहीं. इशांत की फिटनेस को लेकर समस्या है. इसके अलावा ये भी देखना होगा विराट कोहली प्लेइंग 11 में आर अश्विन को जगह देते हैं या रवींद्र जडेजा को. इसके अलावा जसप्रीत बुमराह के प्रदर्शन पर फैंस की नजर रहेगी, क्योंकि पिछले टेस्ट मैच में उन्हें सिर्फ एक विकेट मिला था. कोच रवि शास्त्री का कहना है कि बुमराह अपने कामयाब स्पेल से सिर्फ एक कदम दूर हैं.

हाल के प्रदर्शन से मिली साख को बचाने की चुनौती

हाल के दिनों में भारतीय टीम ने विदेश में टेस्ट सीरीज जीती. इसमे सबसे बड़ी जीत ऑस्ट्रेलिया में मिली थी. टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 4 मैच की सीरीज में 2-1 से हराया था. इसके अलावा भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका, बांग्लादेश और वेस्टइंडीज को भी टेस्ट मैच में हराया था. मेजबान न्यूज़ीलैंड के खिलाफ भारतीय टीम जब शनिवार की सुबह क्राइस्टचर्च में उतरेगी तो उसे इसी कड़े इम्तिहान से गुजरना होगा कि वो विदेशी पिचों पर भी अच्छा प्रदर्शन करने का माद्दा रखती है.

विराट की अगुवाई में टीम इंडिया ने एक बात कई बार साबित की है. वो ये कि उसे बाउंस बैक करना आता है. इसी साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक बड़ी हार के बाद टीम इंडिया ने कमाल का ‘कमबैक’ किया था. क्राइस्टचर्च टेस्ट में भी टीम इंडिया से यही उम्मीद होगी कि मैच के नतीजे की परवाह किए बगैर वो अपनी साख के मुताबिक प्रदर्शन करे.

ये भी पढ़ें : IPL 2020 से पहले बदला एमएस धोनी का अंदाज, पिच पर रोलर चलाते आए नजर, देखें VIDEO

Related Posts