INDvsSA: पहले टेस्ट के लिए कप्तान कोहली के कड़े फैसले

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विशाखापट्टनम टेस्ट मैच के लिए भारतीय टीम अपनी बेस्ट रणनीति के साथ उतरने को तैयार है. विराट कोहली ने वो प्लेइंग 11 तय किया है जो भारतीय पिचों के हिसाब से बेहतर है.

2 अक्टूबर से टीम इंडिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच 3 मैच की टेस्ट सीरीज शुरू होने जा रही है. भारत के लिहाज से इस टेस्ट मैच में कई बातें खास हैं. ऋषभ पंत को प्लेइंग 11 से बाहर किया गया है. आर अश्विन की प्लेइंग 11 में वापसी हुई है और रोहित शर्मा का ओपनिंग करना तय है.

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विशाखापट्टनम टेस्ट मैच के लिए भारतीय टीम अपनी बेस्ट रणनीति के साथ उतरने को तैयार है. विराट कोहली ने वो प्लेइंग 11 तय किया है जो भारतीय पिचों के हिसाब से बेहतर है. क्योंकि अब लक्ष्य सिर्फ टेस्ट मैच जीतने तक सीमित नहीं. बल्कि आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप में अपने खाते में अंक बढ़ाने का भी टारगेट है. जिसके तहत टीम इंडिया अपने बेस्ट कॉम्बिनेशन के साथ मैदान में उतारने की तैयारी में है.

विशाखापट्टनम टेस्ट में टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन में ओपनिंग की जिम्मेदारी रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल के कंधों पर होगी. रोहित शर्मा एक नए रोल में नजर आने वाले हैं. अब तक वो टेस्ट में मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी करते थे. अब टीम मैनेजमेंट ने उन्हें सलामी बल्लेबाज की भूमिका निभाने का मौका दिया है. इनके अलावा कप्तान विराट कोहली और उपकप्तान अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा मिडिल ऑर्डर को मजबूती देंगे लेकिन टीम में सबसे बड़े बदलाव के तौर पर नजर आएंगे 34 साल के विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा.

जिन्हें खराब फॉर्म से जूझ रहे 22 साल के युवा ऋषभ पंत से रिप्लेस किया गया है. साहा करीब 21 महीने के बाद टेस्ट की सफेद जर्सी में दिखाई देंगे. जबकि ऑलराउंडर हनुमा विहारी को एक बार फिर टीम में जगह मिली हैं. टीम में स्पिनर आर अश्विन की लंबे समय बाद वापसी हुई है.

प्लेइंग 11 में रवींद्र जडेजा और आर अश्विन की जोड़ी दिखेगी. अश्विन ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दिसंबर 2018 में अपना आखिरी टेस्ट मैच खेला था. जिसके 9 महीने बाद वो टीम में शामिल हुए हैं. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत पहले टेस्ट में 2 तेज गेंदबाजों के साथ उतरेगा. जिसमें अनुभवी ईशांत शर्मा और मोहम्मद शमी शामिल हैं.

इस प्लेइंग इलेवन को चुनने की कई वजह हैं जिसमें खिलाड़ियों की मौजूदा फॉर्म, उनकी फिटनेस. टीम की जरुरत और विशाखापट्टनम की परिस्थिति, मौसम और पिच के मिजाज को देखकर भारतीय खेमे को इस बात की उम्मीद है कि यहां रिवर्स स्विंग भी देखने को मिल सकती है.

वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज में जीत के बाद अब टीम इंडिया घरेलू सीजन के लिए तैयार है. टीम इंडिया को दक्षिण अफ्रीका से अपनी पिछली हार का बदला भी लेना है. टीम इंडियाअपनी ताकत दिखाएगी और ये साबित करेगी कि आखिर क्यों इस वक्त भारतीय टीम विश्व की नम्बर वन टेस्ट टीम है.