“अकेले मैंने नहीं लिया था MS धोनी को नंबर 7 पर भेजने का फैसला”

न्‍यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में धोनी को डिमोट करने का फैसला किसने किया? टीम इंडिया के बैटिंग कोच संजय बांगड़ ने दिया जवाब.

नई दिल्‍ली: वर्ल्‍ड कप 2019 सेमीफाइनल में न्‍यूजीलैंड के खिलाफ महेंद्र सिंह धोनी नंबर 7 पर बल्‍लेबाजी करने आए थे. विकेटों के पतझड़ के बीच धोनी को डिमोट करने का फैसला किसने किया? यह सवाल बहुत बार उठा. टीम इंडिया के बैटिंग कोच संजय बांगड़ ने इस बारे में अब बताया है कि यह फैसला किसका था.

बांगड़ ने हिंदुस्‍तान टाइम्‍स से बातचीत में कहा है कि वह ‘अकेले फैसले नहीं करते.’ उन्‍होंने कहा, “बैटिंग ग्रुप को वर्ल्‍ड कप शुरू होने पर साफ-साफ रोल्‍स दिए गए थे. हमने तय किया था कि नंबर 5, 6 और 7 को लेकर हमें मिडल ऑर्डर में फ्लेक्सिबल रहना होगा क्‍योंकि हम 30-40 ओवर वाले स्‍लैब का अधिक से अधिक फायदा उठाना चाहते थे. और सबको इस बारे में पता भी था.”

टीम इंडिया के बैटिंग कोच ने आगे कहा, “विराट ने सेमीफाइनल्‍स के बाद प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा भी कि अफगानिस्‍तान वाले मैच के बाद यह तय हुआ था कि धोनी थोड़ा नीचे भी बैटिंग कर सकते हैं ताकि वह 35 ओवर के बाद खेल सके. वह डेथ ओवर्स में तेज खेल सकते हैं और लोअर ऑर्डर को अपने एक्‍सपीरियंस से थाम भी सकते हैं. तो सेमीफाइनल में उन्‍हें नंबर 6 पर बैटिंग करनी थी.”

संजय बांगड़ खुद को जिम्‍मेदार ठहराए जाने से परेशान

उन्‍होंने कहा, “(सेमीफाइनल में) विकेटों के पतझड़ को रोकने और पारी को संभालने के लिए दिनेश कार्तिक को सलाह-मशवरे के बाद नंबर 5 पर भेजा गया. हमारे सबसे अनुभवी खिलाड़ी धोनी को फिनिशर की भूमिका के लिए रखा गया. रवि शास्‍त्री ने साफ तौर पर कहा है कि यह टीम का फैसला था. इसलिए मुझे समझ नहीं आता कि सबको ऐसा क्‍यों लगता है कि धोनी को नंबर 7 पर भेजने का फैसला सिर्फ मेरा था.”

संजय बांगड़ ने माना कि सेमीफाइनल में न्‍यूजीलैंड के खिलाफ शुरुआती 30-40 मिनटों में बल्‍लेबाजी ठीक नहीं रही. हालांकि उन्‍होंने कहा कि टीम ने आखिर तक जज्‍बे से लड़ाई की. बांगड़ के मुताबिक, अगर धोनी और जडेजा जीत दिला देते तो यह एक शानदार रन-चेज होती.

ये भी पढ़ें

कोच के लिए रवि शास्‍त्री की तरफदारी कर विराट कोहली ने तोड़ा प्रोटोकॉल?

ये तीन तस्‍वीरें बताती हैं विराट कोहली और रोहित शर्मा के बीच चल रहा ‘कोल्‍ड वॉर’

विराट की जगह रोहित शर्मा बनें कप्‍तान? ये चाहते हैं शोएब अख्‍तर