सलाइवा बैन के बाद गेंदबाजों की मदद के लिए इरफान पठान ने दिया सुझाव

क्रिकेट में सलाइवा के इस्तेमाल पर लगी रोक (Saliva Ban) के बाद विश्व के कई गेंदबाज इससे निराश हुए हैं क्योंकि गेंद को चमकाने के लिए वो सलाइवा का इस्तेमाल करते थे.
cricketer Irfan Pathan, सलाइवा बैन के बाद गेंदबाजों की मदद के लिए इरफान पठान ने दिया सुझाव

कोरोना वायरस महामारी (Corona virus epidemic) संक्रमण से फैलती है. इसी वजह से अब क्रिकेट में सलाइवा के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाया गया है. हालांकि इस नए नियम से गेंदबाज निराश हैं. गेंद को चमकाने के लिए गेंदबाज सलाइवा का इस्तेमाल करते थे लेकिन अब वो सिर्फ स्वैट यानी का इस्तेमाल कर सकते हैं. गेंदबाजों की इस परेशानी को देखते हुए पूर्व भारतीय ऑलराउंडर इरफान पठान (Irfan Pathan) ने एक सुझाव दिया है. उन्होंने कहा है कि अगर गेंदबाज सलाइवा (saliva) का इस्तेमाल नहीं कर सकते तो पिच को गेंदबाज फ्रेंडली बनाना चाहिए.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

गेंदबाज फ्रेंडली होनी चाहिए पिच

क्रिकेट में सलाइवा के इस्तेमाल पर लगी रोक के बाद विश्व के कई गेंदबाज इससे निराश हुए हैं क्योंकि गेंद को चमकाने के लिए वो सलाइवा का इस्तेमाल करते थे. इससे उन्हें गेंद को स्विंग कराने में भी मदद मिलती थी. लेकिन अब गेंदबाजों के लिए स्थिति काफी मुश्किल हो चुकी है. इसी मामले पर जवाब देते हुए इरफान पठान ने कहा कि आपको ये सुनिश्चित करना पड़ेगा कि पिच बल्लेबाजों की तुलना में गेंदबाजों के लिए भी ज्यादा मददगार हों. क्योंकि देखा जाए तो अगर आप बॉल को ठीक से चमका नहीं पाते तो, आप वैज्ञानिक कारणों से हवा को काट नहीं सकेंगे. आप बॉल को स्विंग नहीं करा पाओगे तो ये बल्लेबाज के लिए बहुत आसान हो जाएगा. बल्लेबाज सिर्फ स्पीड से तो नहीं डरता. स्विंग और गति का तालमेल ही बल्लेबाजों को परेशान करता है.

‘टेस्ट मैच में गेंदबाजों के प्रदर्श पर पड़ेगा फर्क’

इसके अलावा इरफान ने ये भी कहा कि बॉल को सलाइवा से साफ ना करने पर ये प्रतिबंध टेस्ट मैचों में बॉलर्स को बहुत हद तक प्रभावित करने वाला है. हालांकि इस प्रतिबंध से सफेद बॉल वाले क्रिकेट में कोई परेशानी नहीं होगी क्योंकि गेंदबाज वैसे भी पहले कुछ ओवरों के बाद बॉल को नहीं चमकाते हैं. जिससे बॉल सोफ्ट हो जाए लेकिन रेड-बॉल वाले क्रिकेट में तेज गेंदबाज और स्पिनर दोनों को बॉल चमकाने की जरूरत पड़ती है. क्योंकि स्पिनर बॉल को ड्रिफ्ट कराने के लिए चमक पर निर्भर रहता है. ये बैन बल्लेबाज के लिए एक बहुत बड़ा फायदा होगा और खेल बल्लेबाजों के अनुकूल ही हो जाएगा.

इरफान पठान का मानना है कि अगर सलाइवा बैन हुआ तो फिर पूरा खेल ही बल्लेबाजों के हक में चला जाएगा. ऐसे में जरूरत है कि गेंदबाजों के पक्ष को देखते हुए पिच को गेंदबाजों के लिए मददगार बनाया जाए. जिससे बल्लेबाज और गेंदबाजों की बीच बैलेंस बना रहे.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts