इंजमाम उल हक का बयान- गावस्कर आज खेलते तो उनके खाते में होते 15,000 से ज़्यादा टेस्ट रन

टेस्ट क्रिकेट में 10,000 रनों के आंकड़े तक पहुंचना आसान काम नहीं है. क्रिकेट के इतिहास (History of Cricket) में पहली बार इस कारनामे को करने का श्रेय एक भारतीय क्रिकेटर को ही जाता है.
inzamam ul haq sunil gavaskar, इंजमाम उल हक का बयान- गावस्कर आज खेलते तो उनके खाते में होते 15,000 से ज़्यादा टेस्ट रन

टेस्ट क्रिकेट में 10,000 रनों के आंकड़े तक पहुंचना आसान काम नहीं है. क्रिकेट के इतिहास में पहली बार इस कारनामे को करने का श्रेय एक भारतीय क्रिकेटर को ही जाता है. और वो क्रिकेटर है सर सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar). सुनील गावस्कर ने 1987 में यानी 33 साल पहले ये कारनामा पाकिस्तान के ख़िलाफ़ किया था.

अब पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंज़माम उल हक़ (Inzamam-Ul-Haq) ने कहा है कि सुनील गावस्कर अगर आधुनिक क्रिकेट खेल रहे होते तो उनके खाते में 15,000 या 16,000 टेस्ट रन होते. इससे कम तो किसी भी हाल में नहीं. इंज़माम उल हक़ ने ये बयान हाल ही में अपने यूट्यूब चैनल पर दिया है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

आसान नहीं है 10,000 टेस्ट रनों तक पहुंचना

इंज़माम उल हक़ ख़ुद भी पाकिस्तान के बड़े खिलाड़ियों में गिने जाते हैं. उन्होंने पाकिस्तान के लिए 120 टेस्ट मैच खेले है. जिसमें उन्होंने 8830 रन बनाए हैं. गावस्कर के दस हज़ार रनों को लेकर इंजमाम ने कहा, “उस दौर में और उससे पहले भी कई महान खिलाड़ी मैदान में थे. जावेद मियांदाद, विवियन रिचर्ड्स, गैरी सोबर्स और सर डॉन ब्रैडमैन का नाम लिया जा सकता है. लेकिन इनमें से कोई भी 10 हज़ार के आंकड़े तक नहीं पहुंचा. आज जबकि टेस्ट क्रिकेट काफ़ी ज़्यादा खेला जाता है तब भी इस मुक़ाम तक पहुंचने वाले खिलाड़ी कुछ ही हैं.”

इंजमाम उल हक़ ने ये भी कहा, “आज अगर एक बल्लेबाज़ अच्छी फ़ॉर्म में हैं तो वो एक सीज़न में हज़ार से पंद्रह सौ रन बनाता है. लेकिन सुनील गावस्कर के वक़्त में ऐसा नहीं था. आज बल्लेबाजों के लिए ज़्यादा बेहतर विकेट बनायी जाती है. ICC भी चाहती है कि बल्लेबाज़ अच्छा प्रदर्शन करें, जिससे दर्शकों को मज़ा आए. लेकिन पहले के दौर में टेस्ट क्रिकेट में बल्लेबाज़ी करना आसान नहीं था, ख़ासतौर पर ‘सबकॉन्टिनेंट’ के बाहर.

सचिन तेंदुलकर के खाते में हैं सबसे ज़्यादा टेस्ट रनों का रिकॉर्ड

टेस्ट क्रिकेट में 10,000 से ज़्यादा रनों को बनाने का कारनामा एक दर्जन खिलाड़ियों ने किया है. भारत के ही सचिन तेंडुलकर टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की फ़ेहरिस्त में पहले नंबर पर हैं. उन्होंने 200 टेस्ट मैचों में 15,921 रन बनाए हैं. सुनील गावस्कर ने अपने टेस्ट करियर में 125 मैच खेले थे. इसमें 51.12 की औसत से उन्होंने 10122 रन बनाए थे. इसमें 34 शतक भी शामिल हैं.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts