चेन्नई सुपर किंग्स के फैन्स के लिए खुशखबरी, टीम ने पूरी की जीत की हैट्रिक

कप्तान महेंद्र सिह धोनी के अर्धशतक और बेहतरीन गेंदबाजी के दम पर चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल के 12वें सीजन के 12वें मैच में रविवार को राजस्थान रॉयल्स को आठ रन से हराकर लीग में अपनी जीत की हैट्रिक पूरी कर ली है.

नई दिल्ली: गर्मियां आने के साथ आईपीएल का 12वां सीजन भी शुरू हो चुका है. क्रिकेट प्रेमियों के लिए आईपीएल किसी त्यौहार से कम नहीं है. यही वजह है कि आईपीएल प्रेमी टीवी के सामने अपनी कुर्सी यूं जमा चुके हैं जैसे सत्ता हथियानी हो. ऐसे में चेन्नई सुपर किंग्स को पसंद करने वालों के लिए अच्छी खबर है. बीते मैच में कप्तान धोनी की नाबाद 75 रनों की पारी और बेहतरीन गेंदबाजी के बलबूते टीम इंडियन प्रीमियर लीग इस सीजन के 12वें मैच में रविवार को राजस्थान रॉयल्स को आठ रन से हराकर जीत दर्ज की है.
चेन्नई की इस हैट्रिक के सफर से जुड़ी खास बातें ये रही-

  • चेन्नई की इस मैदान पर पिछले 15 मैचों में यह 14वीं जीत है. चेन्नई की इस सीजन में यह लगातार तीसरी जीत है और लिस्ट में टीम का नाम छठे से टॉप पर पहुंच गया है. वहीं राजस्थान को लगातार तीसरी हार का सामना करना पड़ा है और वह सबसे नीचे है. चेन्नई ने यहां एम.ए चिदंबरम स्टेडियम में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए पांच विकेट पर 175 रन का स्कोर बनाया और फिर राजस्थान को आठ विकेट पर 167 रन पर रोक दिया.
  • चेन्नई से मिले 176 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी राजस्थान की शुरुआत बेहद खराब रही और उसने पारी की दूसरी ही गेंद पर कप्तान अजिंक्य रहाणे (0) का विकेट खोने के बाद 14 रन के अंदर ही अपने तीन विकेट गंवा दिए.
  • इन तीन विकेटों में रहाणे के अलावा जोस बटलर (6) और पिछले मैच के शतकधारी संजू सैमसन (8) के विकेट भी शामिल हैं. इसके बाद स्टीव स्मिथ (28) और राहुल त्रिपाठी (39) ने चौथे विकेट के लिए 61 रन की साझेदारी कर राजस्थान को संकट से बाहर निकाला.
  • खतरनाक होती इस साझेदारी को इमरान ताहिर ने त्रिपाठी को आउट करके तोड़ा. त्रिपाठी टीम के 75 के स्कोर पर चौथे बल्लेबाज के रूप में आउट हुए. उन्होंने 24 गेंदों पर पांच चौके और एक छक्का लगाया. ताहिर ने इसके बाद स्मिथ को भी आउट कर राजस्थान का रास्ता मुश्किल कर दिया. स्मिथ ने 30 गेंदों पर दो चौके लगाए.
  • राजस्थान को जीत के लिए अंतिम छह गेंदों 12 रन बनाने थे लेकिन टीम निर्धारित 20 ओवर में आठ विकेट पर 167 रन ही बना सकी. बेन स्टोक्स (46) ने 26 गेंदों पर एक चौका तीन छक्के लगाए. कृषणप्पा गौतम ने नौ,श्रेयस अय्यर ने शून्य और जोफरा आर्चर ने 11 गेंदों पर एक चौके और दो छक्के की मदद से नाबाद 24 रन बनाए.
  • चेन्नई की ओर से ड्वेन ब्रावो, इमराह ताहिर, शार्दुल ठाकुर और दीपक चहर ने दो-दो विकेट लिए. इससे पहले, चेन्नई ने कप्तान महेंद्र सिह धोनी (नाबाद 75) के अर्धशतक के सहारे पांच विकेट पर 175 रन का मजबूत स्कोर बनाया और उसके गेंदबाजों ने इस स्कोर का बचाव कर लिया.
  • चेन्नई की शुरूआत खराब रही और उसने 4.5 ओवर में 27 रन के अंदर ही अपने तीन बल्लेबाजों अंबाती रायडू (1), शेन वाटसन (13) और केदार जाधव (8) का विकेट गंवा दिया. इसके बाद सुरेश रैना (36) और धोनी ने चौथे विकेट के लिए 61 रन की साझेदारी कर टीम को संभालने की कोशिश की. रैना टीम के 88 के स्कोर पर चौथे बल्लेबाज के रूप में आउट हुए. उन्होंने 32 गेंदों पर चार चौके और एक छक्का लगाया.
  • रैना के आउट होने के बाद धोनी ने ड्वेन ब्रावो (27) के साथ पांचवें विकेट के लिए 56 रन की साझेदारी कर चेन्नई को पांच विकेट पर 175 रन के स्कोर तक पहुंचाया. चेन्नई ने अंतिम चार ओवर में 67 रन जबकि अंतिम ओवर में 28 रन बटोरे. धोनी ने 46 गेंदों पर चार चौके और चार छक्के लगाए. आईपीएल में उनका 21वां अर्धशतक है. लीग में धोनी का यह दूसरा सर्वोच्च स्कोर है.
  • ब्रावो ने 16 गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का लगाया. रवींद्र जडेजा ने तीन गेंदों पर एक छक्के की मदद से नाबाद आठ रन बनाए. राजस्थान की ओर से जोफरा आर्चर ने दो और धवल कुलकर्णी, बेन स्टोक्स तथा जयदेव उनादकट ने एक-एक विकेट लिया.