IPL 2019 FINAL: मुंबई इंडियंस का पलड़ा भारी लेकिन इन तरकीबों से चेन्नई बिगाड़ सकती है खेल

आंकड़ो में मुंबई इंडियंस का पलड़ा चेन्नई सुपर किंग्स पर भारी है. लेकिन महेंद्र सिंह धोनी के पास कुछ तरकीबें ऐसी हैं जो रोहित शर्मा का खेल बिगाड़ सकती हैं.
IPL 2019, IPL 2019 FINAL: मुंबई इंडियंस का पलड़ा भारी लेकिन इन तरकीबों से चेन्नई बिगाड़ सकती है खेल

हैदराबाद. मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स एक बार फिर IPL फाइनल में आमने-सामने हैं. 12 सीजन में ऐसा चौथी बार है जब फाइनल मुकाबला इन दो टीमों के बीच खेला जा रहा है. आज यानी 12 मई को दोनों टीमों के बीच हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम में खिताबी मुकाबला रात 7:30 बजे खेला जाएगा.  दोनों टीमों का इतिहास शानदार रहा है. जहां चेन्नई ने 8 बार IPL फाइनल में जगह बनाई है, वहीं मुंबई 5 बार फाइनल में पहुंचने में कामयाब रही है. दोनों टीमों के नाम 3-3 IPL ट्राफी है.

मुंबई के पक्ष में हैं आंकड़े 

मुंबई और चेन्नई के बीच कुल 27 मुकाबले खेले गए हैं. इसमें 16 मुंबई ने जीते हैं और 11 मुकाबले चेन्नई के नाम रहे हैं. प्लेऑफ की बात की जाए तो दोनों टीमों ने 4-4 मुकाबले जीते हैं. फाइनल में मुंबई का पलड़ा 2-1 से भारी है. मुंबई ने अपने तीनों IPL खिताब महेंद्र सिंह धोनी की टीम के ही खिलाफ जीते हैं- दो चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ और एक राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स के खिलाफ.  इसके साथ ही मुंबई ने अपने सारे फाइनल मुकाबले धोनी की टीम के ही खिलाफ खेलें हैं.

इन सब के साथ IPL 2019 में दोनों टीमों के बीच तीन मुकाबले खेले गए हैं. तीनों में ही मुंबई ने जीत दर्ज की है. मुंबई ने पहला मुकाबला 37 रन से, दूसरा मुकाबला 46 रन से और तीसरा मुकाबला 6 विकेट से जीता.

ये भी पढ़ें:  IPL 2019: विजेता टीम पर होगी धनवर्षा, जानिए रनरअप को मिलेंगे कितने रुपये

 इस तरह खेल बिगाड़ सकती है चेन्नई 

चेन्नई के सलामी बल्लेबाज फॉर्म में लौट आए हैं-  शेन वाटसन और फाफ डु प्लेसिस ने पिछले मुकाबले में अर्धशतक जड़े थे. इसके बावजूद भी IPL 2019 में चेन्नई पॉवर प्ले में सबसे कम गति (6.29 रन प्रति ओवर) से रन बनाने वाली टीम है. फॉर्म में लौटने के बाद चेन्नई के सलामी बल्लेबाज इस मैच में तेज गति से रन बनाना चाहेंगे.

ऊपर बल्लेबाजी कर सकते हैं धोनी-  महेंद्र सिंह धोनी को रोकने के लिए मुंबई ने पिछले मुकाबले में जसप्रीत बुमराह का बेहतरीन इस्तेमाल किया था. ऐसे में धोनी इस मुकाबले में बुमराह से बचने और तेज गति से रन बनाने के लिए उपरी क्रम में बल्लेबाजी कर सकते हैं.

रोहित-डी कॉक के खिलाफ स्पिन-  रोहित शर्मा और क्विंटन डी कॉक इस सीजन में 5 बार पॉवरप्ले में आउट नहीं हुए हैं और इनमे से 4 बार टीम को जीत मिली है. दोनों ही बल्लेबाज तेज गेंदबाजों को खेलना पसंद करते हैं. हैदराबाद की पिच तेज गेंदबाजों के लिए अच्छी है, फिर भी चेन्नई इसके उलट जाकर स्पिन गेंदबाजी से शुरुआत कर सकती है. दोनों ही बल्लेबाज स्पिन के खिलाफ इस सीजन में 6-6 बार आउट हुए हैं. दोनों का स्ट्राइक रेट स्पिन के खिलाफ घट जाता है.

पिछली बार की तरह IPL फाइनल में कर्ण शर्मा को खिलाएगी CSK- कर्ण शर्मा को पिछले IPL के फाइनल में हरभजन सिंह की जगह टीम में शामिल किया गया था. धोनी ऐसा एक बार फिर कर सकते हैं.  शार्दुल ठाकुर ने पिछले मैच में सिर्फ 1 ओवर फेंका था. ऐसे में धोनी उनकी जगह शर्मा को शामिल कर सकते हैं. कर्ण ने पिछले IPL में विपक्षी टीम के कप्तान  केन विलियम्सन को आउट किया था.

पकड़ने होंगे कैच- सुपर किंग्स की टीम में ज्यादातर खिलाड़ियों की उम्र 30 के ऊपर है. धोनी, ताहिर, हरभजन, वाटसन तो 40 के करीब हैं.  कैच छोड़ना चेन्नई की सबसे बड़ी कमजोरी रही है. मुंबई के खिलाफ फर्स्ट क्वालीफायर में मुरली विजय ने सूर्यकुमार यादव का कैच 11 रन के स्कोर पर छोड़ा था, इसके बाद वाटसन ने ईशान किशन का 2 रन पर कैच छोड़ा था. दोनों के बीच 80 रन की साझेदारी हुई थी और मुंबई ने ये मुकाबला जीत लिया था.

धोनी आउटर फील्ड में फाफ डु प्लेसिस और रवीन्द्र जडेजा को कठिन कैच लेने के लिए रखते हैं. चेन्नई को आज का मुकाबला जीतना है तो कैच छोड़ने से बचना होगा.

Related Posts