टेस्ट क्रिकेट में अगले वीरेंद्र सहवाग बन सकते हैं रोहित शर्मा – इरफान पठान

30 साल के रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने बतौर टेस्ट ओपनर कुल पांच मैच खेले हैं. इसमें उन्होंने 92.66 की शानदार औसत से 556 रन बनाए. इसमें तीन शतक समेत एक दोहरा शतक भी शामिल है. वहीं सहवाग ने बतौर टेस्ट ओपनर ने 99 टेस्ट मैच खेले थे.

Rohit Sharma, Rohit Sharma Tests, Rohit Sharma Opener, Rohit Sharma Test Opener, Rohit Sharma Opening in Tests, टेस्‍ट

भारतीय क्रिकेट में यूं तो कई खिलाड़ी ऐसे रहे, जो महान क्रिकेटर कहलाए. चाहे वो मंसूर अली पटौदी हों.. या सुनील गावस्कर और या मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर. लेकिन बतौर ओपनर टेस्ट क्रिकेट (Test cricket) में भारत को बड़ी पहचान दिलाने वाले खिलाड़ियों के नाम आप उंगलियों पर गिन सकते हैं.

जिसमें सबसे ज्यादा प्रभाव पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर का रहा. उनके बाद जिस खिलाड़ी ने टेस्ट क्रिकेट में सलामी बल्लेबाजी की परिभाषा बदली और उसमें रोमांच भर दिया उसका नाम वीरेंद्र सहवाग था. जिन लोगों को टेस्ट क्रिकेट में बोरियत होती थी वो भी सहवाग की बल्लेबाजी देखने के लिए टेस्ट क्रिकेट में दिलचस्पी लेने लगे थे.

अब ऐसा ही कारनामा एक और बल्लेबाज कर रहा है. वो बल्लेबाज हैं रोहित शर्मा. पूर्व भारतीय खिलाड़ी इरफान पठान (Irfan Pathan) का मानना है कि टीम इंडिया के हिटमैन रोहित शर्मा (Rohit Sharma) टेस्ट क्रिकेट में सहवाग (Virender Sehwag) जितने ही प्रभावशाली ओपनर बनने का माद्दा रखते हैं.

बतौर ओपनर टेस्ट में भी हिट हुए रोहित

रोहित शर्मा सीमित ओवर क्रिकेट के शानदार बल्लेबाज हैं. यहां तक कि उन्हें लिमिटेड ओवर क्रिकेट का सबसे खतरनाक बल्लबाज का तमगा भी मिल चुका है. लेकिन टेस्ट क्रिकेट में रोहित उतने कामयाब नहीं थे.

इसके बाद पिछले साल यानी 2019 में साउथ अफ्रीका के भारत दौरे पर रोहित को टेस्ट क्रिकेट में बतौर ओपनर खिलाने का फैसला किया गया. रोहित को जैसे इस पल का ही इंतजार था. रोहित शर्मा ने बतौर ओपनर अपने पहले टेस्ट की दोनों पारियों में शतक लगाकर ये साबित कर दिया कि वो हर फॉर्मेट में हिटमैन का रोल निभा सकते हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

उनके खेल पर इरफान पठान ने कहा, ‘हमें टेस्ट क्रिकेट में भी रोहित शर्मा का दोहरा शतक देखने को मिला. वनडे क्रिकेट में बतौर सलामी बल्लेबाज आने के बाद हम उनकी पारियां और दोहरे शतक देख ही चुके हैं. भविष्य में वो जितने ज्यादा मैच खेलेंगे, वो वीरेंद्र सहवाग की तरह ही प्रभावशाली बल्लेबाज बनने का माद्दा रखते हैं.

हमने देखा है जिस तरह उन्होंने हाल में बतौर टेस्ट ओपनर खेलना शुरू किया है. उसके बाद रोहित का पूरा टेस्ट करियर अलग दिखने लगा है. क्योंकि जब वो टेस्ट क्रिकेट में मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज के तौर पर खेलते थे तब जैसी उनसे उम्मीद होती थी वो वैसा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे थे.

फाइल फोटो- इरफान पठान

रोहित कब तक टेस्ट क्रिकेट खेल पाते हैं, ये सवाल रहेगा. क्योंकि सहवाग ने 100 टेस्ट मैच से ज्यादा खेले हैं. रोहित शर्मा वनडे क्रिकेट के चैंपियन हैं. वो वनडे क्रिकेट के इतिहास में मेरे लिए तीन टॉप ओपनिंग बल्लेबाजों में से एक हैं. लेकिन अगर हम टेस्ट क्रिकेट की बात करते हैं तो वो थोड़ा पीछे हैं क्योंकि शायद वो ज्यादा टेस्ट मैच नहीं खेल पाएं’.

rohit sharma, rohit sharma century, rohit sharma test, rohit sharma opening, rohit sharma opener, rohit sharma 4th test century, rohit sharma test ton, rohit sharma test 100, rohit sharma vs SA
फाइल फोटो- रोहित शर्मा

बतौर ओपनर रोहित और सहवाग का टेस्ट में प्रदर्शन

30 साल के रोहित शर्मा ने बतौर टेस्ट ओपनर कुल पांच मैच खेले हैं. इसमें उन्होंने 92.66 की शानदार औसत से 556 रन बनाए. इसमें तीन शतक समेत एक दोहरा शतक भी शामिल है. वहीं सहवाग ने बतौर टेस्ट ओपनर ने 99 टेस्ट मैच खेले थे.

इसमें उन्होंने 50.04 की औसत से 8207 रन बनाए थे. साथ ही 22 शतक भी बतौर टेस्ट ओपनर सहवाग के नाम हैं. इसमें सहवाग की वो पारी भी शामिल है जब वो टेस्ट में तिहरा शतक लगाकर मुलतान के सुलतान बने थे. जो भारतीय क्रिकेट के इतिहास में पहला तिहरा शतक था.

फाइल फोटो- रोहित शर्मा

Related Posts