पाकिस्तान की क्रिकेट टीम में बड़ा भूचाल, अब इमरान अपने चहेते मिस्बाह को बचा नहीं पाएंगे

शोएब अख्तर ने तो यहां तक कह दिया था कि अब अगर इमरान खान ने क्रिकेट पर अपनी आखें बंद रखी तो पाकिस्तान में बाकी खेल की तरह क्रिकेट भी हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा.

पाकिस्तान में क्रिकेट को लेकर नया भूचाल आ गया है. ऑस्ट्रेलिया में टी-20 से लेकर टेस्ट क्रिकेट में पिट रही पाकिस्तान की टीम के कोच मिस्बाह उल हक पर अब गाज गिरनी तय हो गई है. अब इमरान खान अपने पसंदीदा मिस्बाह को बचा नहीं पाएंगे. इमरान के खास सलाहकार नईम उल हक ने मिस्बाह को नाकाम और नाकाबिल बताया है. नईम ने तुरंत मिस्बाह को कोच और चीफ सेलेक्टर पद से हटाने की सलाह अपने दोस्त इमरान खान को दे दी है. तो अब बस इंतजार है, पाकिस्तान की टीम का ऑस्ट्रेलिया दौरे के खत्म होने का.

इमरान खान अब चाहे जितनी भी तिकड़म लगा लें, इमरान खान चाहे जितना भी सिर पीट लें, इमरान खान चाहे जितना भी जुगत लगा लें, अब वो अपने चहेते मिस्बाह उल हक को बचा नहीं पांएगे. पाकिस्तान की क्रिकेट टीम को लेकर शुरू हुआ बवाल अब और बड़ा हो गया है. पाकिस्तान की टीम लगातार मैदान में मात खा रही है. टीम के न बल्लेबाज चल रहे हैं न गेंदबाज और सबसे बड़ा बवाल टीम के कोच मिस्बाह उल हक को लेकर चल रहा है.

श्रीलंका के खिलाफ घरेलू सीरीज में हार के बाद ऑस्ट्रेलिया में अपनी बेईज्जती करा रही पाकिस्तान टीम के कोच मिस्बाह उल हक की काबिलियत पर सवाल उठ रहे हैं. विश्व कप के बाद पाकिस्तान की टीम अपने घर में पहले श्रीलंका के हाथों टी-20 और वन डे सीरीज में बुरी तरह हारी, उसके बाद अब ऑस्ट्रेलिया में टी-20 सीरीज के बाद टेस्ट सीरीज में भी सरेंडर कर चुकी है. अब मिस्बाह पर जिस शख्स ने उंगली उठाई है वो इमरान का सबसे करीबी दोस्त और उनके खास सलाहकार हैं.

प्रधानमंत्री इमरान खान के विशेष सलाहकार नईम उल हक ने साफ-साफ इमरान को कह दिया है कि मिस्बाह बतौर हेड कोच और चीफ सेलेक्टर नाकाबिल हैं. नईम ने इमरान खान को कहा है कि इस शख्स को तुरंत कोच और चीफ सेलेक्टर की जिम्मेदारियों से हटा दिया जाना चाहिए. नईम उल हक ने ट्वीट कर कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया में हमारी टीम का बेहद खराब प्रदर्शन जारी है. चीफ सेलेक्टर और हेड कोच को फौरन हटाया जाना चाहिए. इस टीम से अच्छे प्रदर्शन की रत्ती भर भी उम्मीद नहीं की जा सकती है.

नईम के इतने सख्त बयान के बाद अब इमरान खान के लिए मिस्बाह उल हक को बचा पाना अब किसी भी लिहाज से मुमकिन नहीं है. पाकिस्तान में ये खबर आम है कि एक नियाजी, दूसरे नियाजी पर मेहरबान है और इसलिए मिस्बाह तीन-तीन पद लेकर मलाई खा रहे हैं, लेकिन अब इमरान खान नियाजी अपने चहेते मिस्बाह को बचा नहीं पाएंगे. ऑस्ट्रेलिया से बैरंग लौटते ही सबसे पहले गाज मिस्बाह पर गिरेगी.

विश्व कप के बाद श्रीलंका के खिलाफ पाकिस्तान में हुई सीरीज से पाकिस्तान की टीम के हेड कोच, चीफ सेलेक्टर और बल्लेबाजी कोच बने मिस्बाह पर पहले से पाकिस्तान में पूर्व क्रिकेटरों से लेकर क्रिकेट फैंस खूब हो-हल्ला कर रहे हैं. एक शख्स को तीन-तीन अहम पद देने के पीसीबी के फैसले को पहले से बेसिर पैर का फैसला बताया जा रहा है. पूर्व क्रिकेटर राशिद लतीफ और स्पोर्ट्स कॉमेंटेटर नौमान नियाज, पहले ही मिस्बाह उल हक को तीनों पद देने पर सवाल उठा चुके हैं. राशिद लतीफ कह चुके हैं कि एक शख्स तीन-तीन जिम्मेदारियों के साथ न्याय नहीं कर सकता है. लतीफ तो मौजूदा टीम और पीसीबी के एक गुट को माफिया तक कह चुके हैं.

मिस्बाह उल हक पाकिस्तान के सबसे सफल टेस्ट कप्तान रह चुके हैं, लेकिन कोचिंग के किसी तजुर्बे के बिना नेशनल टीम के हेड कोच, चीफ सेलेक्टर और बल्लेबाजी कोच की जिम्मेदारी मिस्बाह को देना किसी के समझ में नहीं आ रहा था. लेकिन पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड में फैले भाई-भतीजावाद , भ्रष्टाचार के बोलबाले के चलते मिस्बाह की लॉटरी लग गई. मिस्बाह तीन-तीन पद लेकर भले खुद को खुशकिस्मत समझ रहे होंगे, लेकिन अब यही तीन पद उनके लिए घातक साबित होने जा रहे हैं.

सकलैन मुश्ताक कह चुके हैं कि मिस्बाह ने अपने पैर पर खुद कुल्हाड़ी मारी है. मिस्बाह की जगह अगर वो होते तो कभी तीन-तीन जिम्मेदारियों के लिए हां नहीं कह सकते थे. मिस्बाह पर तीखा हमला पूर्व क्रिकेटर तनवीर अहमद ने किया है. तनवीर ने कहा है कि जिस शख्स को घरेलू टीम की कोचिंग का तजुर्बा नहीं है, उसको सीधे नेशनल टीम का कोच कैसा बना दिया गया. मिस्बाह को पहले घरेलू टीम का कोच बनाना चाहिए था. हाल ही में शोएब अख्तर ने तो यहां तक कह दिया था कि अब अगर इमरान खान ने क्रिकेट पर अपनी आखें बंद रखी तो पाकिस्तान में बाकी खेल की तरह क्रिकेट भी हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तानी गेंदबाजी पर बरसे शोएब अख्तर, बोले- बेदम हैं गेंदबाज, पारी घोषणा का करते रहे इंतजार