जोंटी रोड्स ने इस भारतीय क्रिकेटर को बताया दुनिया का नंबर-1 फील्डर

Share this on WhatsAppनयी दिल्ली जैसे सचिन तेंदुलकर बल्लेबाजी और ग्लेन मैकग्रा गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं. वैसे ही फील्डिंग में जो नाम टॉप पर आता है वह है दक्षिण अफ्रीका के करिश्माई फील्डर जोंटी रोड्स का. रोड्स ने अपने मुताबिक दुनिया के टॉप-5 फील्डरों को चुना है और इस लिस्ट में पहला नाम […]

नयी दिल्ली

जैसे सचिन तेंदुलकर बल्लेबाजी और ग्लेन मैकग्रा गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं. वैसे ही फील्डिंग में जो नाम टॉप पर आता है वह है दक्षिण अफ्रीका के करिश्माई फील्डर जोंटी रोड्स का. रोड्स ने अपने मुताबिक दुनिया के टॉप-5 फील्डरों को चुना है और इस लिस्ट में पहला नाम भारतीय खिलाड़ी का है. ICC ने इसका विडियो अपने अधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर शेएर किया है. तो आइये जानते हैं फील्डिंग के बेताज बादशाह के मुताबिक विश्व के 5 बेस्ट फील्डर-

नंबर-5 पर एंड्रयू साइमंड्स

जोंटी ने ऑस्ट्रेलिया के हरफनमौला खिलाड़ी एंड्रयू साइमंड्स को इस लिस्ट में नंबर-5 पर रखा है. उन्होंने कहा कि साइमंड्स ऐसे फील्डर थे जोकि गोले के अन्दर और बाहर दोनों जगह गजब की फील्डिंग किया करते थे. साथ ही उनके थ्रो बहुत तेज होते थे.

नंबर-4 पर हर्शल गिब्स

दक्षिण अफ्रीका के सलामी बल्लेबाज हर्शल गिब्स इस लिस्ट में चौथे नंबर पर रखे गए हैं. रोड्स ने कहा उनको अपने बगल में फील्डिंग करते देखना शानदार अनुभव था. वह बहुत ही अच्छे फील्डर थे.

नंबर-3 पर पॉल कॉलिंगवुड

रोड्स ने इस लिस्ट में नंबर-3 पर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान पॉल कॉलिंगवुड को रखा है. रोड्स ने कॉलिंगवुड के बारे में कहा कि वह एक शानदार फील्डर थे. साथ ही उनका और मेरा फील्डिंग पोजीशन भी एक ही जैसा था.

नंबर-2 पर एबी डी विलियर्स

रोड्स ने अपने हमवतन एबी डी विलियर्स को बेस्ट फील्डरों की लिस्ट में नंबर-2 पर रखा है. उन्होंने एबी के बारे में कहा कि “मैं थोड़े समय के लिए दक्षिण अफ्रीका का कोच था और जब भी एबी विकेटकीपिंग ग्लव्स पहनते थे तो मैं उनसे कहा करता था कि मुझे उनकी जरूरत फील्ड में है.”

नंबर-1 पर सुरेश रैना

भारतीय हरफनमौला खिलाड़ी सुरेश रैना को रोड्स की इस लिस्ट में पहला स्थान मिला है. उन्होंने रैना पे कहा कि “जबसे उसने खेलना शुरू किया है, तबसे मैं उसका बड़ा फैन हूं.” उन्होंने आगे कहा कि मैंने भारत में काम किया है, इसलिए जनता हूं कि आप जब भी वहां डाइव लगाने जाते हैं तो कठोर सतह के कारण छिलने का डर होता है. पर रैना ने इसके बारे में कभी नहीं सोचा और हमेशा गेंद को पकड़ने के लिए छलांग लगाई. वह मेरे नंबर-1 फील्डर हैं.