ICC Cricket World Cup Final: इंग्लैंड फेवरेट लेकिन ये दो कीवी खिलाड़ी बिगाड़ सकते हैं खेल

न्यूजीलैंड रविवार को लॉर्ड्स के मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ आईसीसी विश्व कप-2019 का फाइनल खेलेगी. कीवी टीम के कप्तान केन विलियम्सन ने कहा है कि मैच में उनका ध्यान बुनियादी चीजों को सही रखने पर है.

लंदन. क्रिकेट के मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स पर रविवार को इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच 2019 क्रिकेट वर्ल्ड कप का फाइनल मुकाबला खेला जाना है. टूर्नामेंट के शुरुआत से ही  मेजबान इंग्लैंड को फेवरेट माना जा रहा था और वह टूर्नामेंट में नंबर-1 रैंकिंग के साथ उतरी थी, हालांकि भारत ने बीच टूर्नामेंट में उससे रैंकिंग की बादशाहत छीन ली थी. इंग्लैंड ने बल्लेबाजों के आक्रामक खेल की बदौलत फाइनल में जगह बनाई है. वहीं दूसरी तरफ न्यूजीलैंड की बात करें तो वह लगातार चौथी बार वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में पहुंची और अब लगातार दूसरी बार फाइनल मुकाबला खेल रही है. न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड के विपरीत क्रिकेट खेली है. औसत बल्लेबाजी और अच्छी गेंदबाजी ने उन्हें खिताबी मुकाबले में जगह दिलाई है.

न्यूजीलैंड ने खिताब की दूसरी सबसे करीबी दावेदार भारतीय टीम को हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई है. सेमीफाइनल की ही तरह न्यूजीलैंड चाहेगी कि वह फाइनल मुकाबले में भी उलटफेर कर ट्राफी उठाए. इस बड़े कारनामे के लिए न्यूजीलैंड के सभी खिलाड़ियों को अपना बेस्ट क्रिकेट खेलना होगा, लेकिन इन दो सीनियर खिलाड़ियों से टीम को खासी उम्मीदें होंगी और इनसे पार पाने के लिए इंग्लैंड भी पूरी तैयारी के साथ उतरेगी.

न्यूजीलैंड के लिए सबसे अहम खिलाड़ी केन विलियमसन हैं. वह उनके कप्तान हैं और उन्होंने इस टूर्नामेंट में 548 रन भी बनाए हैं. उन्होंने ये रन 91.33 की औसत से बनाए हैं. इसके साथ ही उनके 2 शतक और 2 अर्धशतक भी हैं. ज्यादातर मौकों पर वह टीम के खेवनहार रहे हैं. उन्होंने सेमीफाइनल में भारत के खिलाफ भी शानदार पारी खेली थी. उन्होंने 67 रन बनाए थे. वह टीम के सबसे प्रमुख बल्लेबाज हैं.

गेंदबाजी में ट्रेंट बोल्ट ही न्यूजीलैंड टीम की आशा हैं. इस टूर्नामेंट में बोल्ट का प्रदर्शन उतना अच्छा नहीं रहा है पर वह महत्वपूर्ण विकेट निकालने में कामयाब रहे हैं. जैसे कि भारत के खिलाफ सेमीफाइनल में उन्होंने कोहली को आउट किया. बोल्ट के नाम इस टूर्नामेंट में 9 मैचों में 17 विकेट झटके हैं. उनकी इकॉनमी भी 4.63 की रही है.

इंग्लैंड को इन दो खिलाड़ियों के अलावा रॉस टेलर और लौकी फर्ग्युसन से भी सावधान रहना होगा. टेलर ने 8 मैचों में 335 रन बनाए हैं और सेमीफाइनल में उन्होंने भारत के खिलाफ 74 रनों की मैच जिताऊ पारी खेली थी. फर्ग्युसन की बात करें तो उनके नाम बोल्ट से एक ज्यादा 18 विकेट रहे हैं और मध्य ओवरों में वह सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले गेंदबाज रहे हैं.

ये तो बात न्यूजीलैंड के टॉप खिलाड़ियों की थी. न्यूजीलैंड को इंग्लैंड के जोफ्रा आर्चर और क्रिस वोक्स से बचना होगा, साथ ही जेसन रॉय और जो रूट के खिलाफ सधी हुई गेंदबाजी करनी होगी.

ये भी पढ़ें: फाइनल से पहले न्यूजीलैंड के कप्तान ने कहा- इस टूर्नामेंट में कोई किसी को भी हरा सकता है

ये भी पढ़ें: रोहित शर्मा को सौंपी जाए ODI और T20 की कप्तानी, पूर्व दिग्गज बल्लेबाज ने उठाई मांग