खेतों में काम कर बाजुओं को बनाया फौलाद, पढ़ें कौन हैं U-19 वर्ल्‍ड कप में गेंदों से आग उगल रहे कार्तिक त्‍यागी

कार्तिक त्‍यागी गेंद को दोनों तरफ स्विंग करा लेते हैं. 140 किलोमीटर प्रतिघंटा की स्‍पीड से बॉलिंग करते हैं. अंडर-19 हेड कोच पारस महाम्‍ब्रे को लगता है कि त्‍यागी इससे भी तेज बॉलिंग कर सकते हैं.

ICC Under-19 World Cup 2020 में भारतीय टीम का विजयी सफर जारी है. क्‍वार्टर-फाइनल 1 में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ कार्तिक त्‍यागी ने कहर बरपा दिया. त्‍यागी ने 8 ओवर में 24 रन देकर 4 विकेट लिए और टीम इंडिया 74 रनों से जीतने में कामयाब रही. मैन ऑफ द मैन चुने गए कार्तिक त्‍यागी आखिर हैं कौन?

उत्‍तर प्रदेश के हापुड़ का एक छोटा सा गांव है, धनौरा. कार्तिक त्‍यागी यहीं से आते हैं. 13 साल के थे जब क्रिकेट से पहली बार वास्‍ता पड़ा. मगर नेशनल टीम तक का सफर आसान नहीं था. पिता योगेंद्र किसान थे मगर इतने बड़े नहीं कि बेटे की प्रैक्टिस का खर्च उठा सकें. कार्तिक ने कड़ी मेहनत की.

अभी और तेज होगी स्‍पीड

वह खेत से फसलों का बोझा लाद स्‍टोर तक पहुंचाने लगे. शायद इसी ने कार्तिक के बाजुओं में वो ताकत भरी जिससे अब वो 140 किलोमीटर प्रतिघंटा की स्‍पीड से बॉलिंग कर पाते हैं. इंडिया के अंडर-19 हेड कोच पारस महाम्‍ब्रे को लगता है कि त्‍यागी अभी भी डेवलपमेंट फेज में हैं और इससे तेज बॉलिंग भी कर सकते हैं.

17 साल की उम्र में कार्तिक ने अंडर-19 कूच बिहार ट्रॉफी में शानदार परफॉर्म किया. उत्‍तर प्रदेश की रणजी टीम में उनकी एंट्री हो गई. डिफेंडिंग चैंपियंस विदर्भ के खिलाफ उनकी गेंदबाजी ने यूपी को जीत दिलाई और कार्तिक की जिंदगी बदल गई.

पिछले साल जून-जुलाई में अंडर-19 टीम में कार्तिक का सेलेक्‍शन हुआ. तब उन्‍होंने ANI से कहा था, “मैंने और मेरे पिता ने यहां तक पहुंचने के लिए बहुत कुछ झेला है. बचपन से ही मुझे क्रिकेट में इंटरेस्‍ट था और पापा ने मुझे सपोर्ट किया. क्रेडिट मेरे पापा को जाता है.”

IPL में RR की तरफ से खेलेंगे कार्तिक

कार्तिक गेंद को दोनों तरफ स्विंग करा लेते हैं. अभी सिर्फ 19 साल के हैं. इस वर्ल्‍ड कप के चार मैचों में वह नौ विकेट ले चुके हैं. पिछले साल इंग्‍लैंड में यूथ ODI सीरीज के दौरान कार्तिक ने 5 मैचों में 9 विकेट्स लिए थे. इसी की बदौलत इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में राजस्‍थान रॉयल्‍स ने उन्‍हें खरीदा.

मंगलवार को हुए मैच में, पहले ओवर में ही मैकेंजी हार्वी और लचलन हीर्नी को पवेलियन भेजा. फिर तीसरे ओवर में ऑलिवर डेवीज का विकेट लेकर कंगारुओं की कमर ही तोड़ दी. ऑस्‍ट्रेलियाई पारी थोड़ी संभली ही थी कि 21वें ओवर में कार्तिक फिर लौटे और 51 रनों की साझेदारी का अंत कर दिया.

ये भी पढ़ें

टीम बस में माही की सीट रहती है खाली, चहल ने खोला राज, बोले- हम उन्हें बहुत मिस करते हैं

सालों बाद रिकी पोंटिंग ने किया खुलासा, किसने और क्यों दिया उन्हें ‘पंटर’ का नाम