जावेद मियांदाद के हालिया बयानों पर बरसे मदनलाल, कहा- दिमागी संतुलन खो बैठे हैं मियांदाद

आमतौर पर देखा जाता है कि खिलाड़ी एक दूसरे का काफी सम्मान करते हैं लेकिन इस मामले में पड़ोसी देश पाकिस्तान की तस्वीर थोड़ी अलग है. वहां खिलाड़ी एक दूसरे का अपमान करने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं.
Miandad is losing his mind balance, जावेद मियांदाद के हालिया बयानों पर बरसे मदनलाल, कहा- दिमागी संतुलन खो बैठे हैं मियांदाद

पाकिस्तान में इमरान खान को लेकर कई खिलाड़ियों में नाराजगी है लेकिन पूर्व खिलाड़ी जावेद मियांदाद ने इमरान खान पर कई गंभीर आरोप लगाकर सनसनी फैला दी थी. उन्होंने इमरान खान के खिलाफ बोलते हुए यहां तक कह दिया था वो खुद को खुदा समझने लगे हैं. इसके बाद पाकिस्तान के कई खिलाड़ियों ने मियांदाद के बयान पर मिली जुली प्रतिक्रिया दी. कई खिलाड़ियों को मियांदाद की बात सही लगी तो कई ने इसका विरोध भी किया. अब पूर्व भारतीय खिलाड़ी मदनलाल भी इस बहस में कूद पड़े हैं. उन्होंने जावेद मियांदाद के इमरान खान पर दिए बयान की निंदा की है. उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि जावेद मियांदाद अपना दिमागी संतुलन खो बैठे हैं.

मियांदाद पर भड़के मदनलाल

आमतौर पर देखा जाता है कि खिलाड़ी एक दूसरे का काफी सम्मान करते हैं. भारतीय खिलाड़ियों के बारे में ये बात कही जाती है कि वो एक दूसरे के लिए कभी गलत शब्दों का इस्तेमाल नहीं करते लेकिन इस मामले में पड़ोसी देश पाकिस्तान की तस्वीर थोड़ी अलग है. वहां खिलाड़ी एक दूसरे का अपमान करने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं. ऐसा ही कुछ जावेद मियांदाद ने पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ किया है. इसके बाद पूर्व भारतीय खिलाड़ी मदनलाल ने कहा कि – ‘वो जो भी बोलते है उसका कोई मतलब नहीं होता, इससे सिर्फ ये दिखता है कि वो कितने शिक्षित हैं. पहले उन्होंने कश्मीर और हमारे प्रधानमंत्री पर भी टिप्पणी की थी. मुझे लगता है कि वो दिमागी तौर पर थोड़े अस्थिर हैं’.

जावेद मियांदाद ने इमरान खान को लेकर की थी तीखी टिप्पणी

इससे पहले जावेद मियांदाद ने पूर्व कप्तान और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को लेकर कई गंभीर आरोप लगाए थे. जावेद मियांदाद ने कहा था कि – ‘पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड में किसी को भी क्रिकेट की ए बी सी नहीं आती. मैं इमरान खान से इस मुद्दे पर बात करूंगा. देश में जो भी गलत कर रहा है अब मैं उसे नहीं छोड़ूंगा. इमरान खान ने पीसीबी में कई बड़े पदों पर विदेशी लोगों की भर्ती की. वसीम खान को पीसीबी का सीईओ बना दिया. अगर वो सब कुछ लूटकर विदेश भाग गया तो फिर क्या होगा? क्या हमारे देश में लोगों की कमी है जो आप विदेश से लोगों को लाकर पीसीबी मे काम दे रहे हैं. आज जो पाकिस्तान के खिलाड़ी हैं उनका भविष्य क्रिकेट में ही होना चाहिए. ये नहीं कि कोई बेचारा गाड़ी चलाकर अपना गुजारा करे. इमरान खान रोजगार दे नहीं सकते. आज सभी को बेरोजगार किया हुआ है. मैं इमरान खान का कप्तान था, ना कि इमरान मेरे कप्तान थे. अब मैं राजनीति में आऊंगा, तब बात करूंगा. इमरान खान खुद को खुदा समझ कर बैठे हुए हैं. उनको लगता है कि उनके अलावा कोई ऑक्सफोर्ड नहीं गया, कोई कैंब्रिज नहीं गया, कोई यूनिवर्सिटी नहीं गया. इन्हें देश की कोई चिंता नहीं है’.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts