आम्रपाली केस की चार्जशीट में MS धोनी का नाम, पत्‍नी साक्षी थीं एक कंपनी की डायरेक्‍टर

धोनी ने खुद को 2016 में आम्रपाली ग्रुप से अलग कर लिया था. इसी साल मार्च में धोनी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाकर अपनी 40 करोड़ रुपये फीस दिलाए जाने की गुहार लगाई थी.
Amrapali Case, आम्रपाली केस की चार्जशीट में MS धोनी का नाम, पत्‍नी साक्षी थीं एक कंपनी की डायरेक्‍टर

नई दिल्‍ली: आम्रपाली समूह धोखाधड़ी मामले की चार्जशीट में महेंद्र सिंह धोनी और उनकी पत्‍नी साक्षी का नाम आया है. धोनी भले ही यह कहते रहे हों कि वह केवल Amrapali Group के ब्रांड एम्‍बेसडर भर थे, मगर रजिस्‍ट्रार ऑफ कंपनीज के दस्‍तावेज दिखाते हैं कि दोनों के रिश्‍तों की कई परतें हैं.

धोनी की पत्‍नी साक्षी सिंह धोनी Amrapali Mahi Developers Pvt Ltd (AMDPL) नाम की एक कंपनी में डायरेक्‍टर और 25% की शेयरहोल्‍डर थीं. इस कंपनी की बाकी 75% मिल्कियत Amrapali Group के CMD अनिल कुमार शर्मा के पास थी. ऐसा सितंबर 2014 तक उपलब्‍ध दस्‍तावेज जाहिर करते हैं.

Amrapali Mahi Developers Pvt Ltd इस ग्रुप की उन 47 कंपनियों में से एक है, जिनके जरिए पैसों का घालमेल किए जाने का आरोप है. ऑडिट रिपोर्ट में कहा गया है कि फ्लैट खरीदने वालों के करीब 5,619 करोड़ रुपये इन कंपनियों को डायवर्ट किए गए. AMDPLको सारा भुगतान कैश में हुआ.

धोनी ने खुद को 2016 में आम्रपाली ग्रुप से अलग कर लिया था. इसी साल मार्च में धोनी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाकर अपनी 40 करोड़ रुपये फीस दिलाए जाने की गुहार लगाई थी.

सुप्रीम कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय को निर्देश दिया है कि वह कंपनी, अनिल शर्मा, निदेशक शिव प्रिया और अजय कुमार के खिलाफ विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम व प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) के उल्लंघन के लिए मनी लॉड्रिंग का मामला दर्ज करे.

अदालत का मानना है कि आम्रपाली समूह के शीर्ष प्रबंधन ने आवास परियोजनाओं को पूरा करने के बजाय अपनी व्यक्तिगत संपत्ति बनाने के लिए खरीदारों के पैसे को कहीं और निवेश किया. आम्रपाली ग्रुप के प्रमोटर अनिल शर्मा ने बिहार की जहानाबाद सीट से जनता दल-युनाइटेड (जद-यू) के टिकट पर 2014 का लोकसभा चुनाव लड़ा था.

ये भी पढ़ें

‘धोनी को T20 वर्ल्ड कप तक संन्यास नहीं लेने के लिए कहा गया है’

BCCI ने कहा- इस समय कोच बदलना खतरनाक, शास्‍त्री-कोहली की जोड़ी है ‘शानदार’

Related Posts