IPL में ‘शतक’ लगाने वाली पहली टीम बनी मुंबई इंडियंस

IPL की दो सबसे सफल टीमों के बीच मुकाबले में हार्दिक पांड्या अंतर साबित हुए. हार्दिक को मैच जिताऊ प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ़ द मैच भी चुना गया.

मुंबई. इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2019) के 12वें सीजन में बुधवार को हुए मुकाबले में मुंबई इंडियंस ने मौजूदा चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स को 37 रनों से हरा दिया. वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में मुंबई इंडियंस ने अपनी 100वीं जीत दर्ज की. ऐसा करने वाली वह IPL की पहली टीम है.

मुंबई ने सूर्यकुमार यादव (59) और क्रुणाल पांड्या (42) के अलावा अंत में हार्दिक पांड्या (25) और केरन पोलार्ड (17) की आतिशी पारी के दम पर 20 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 170 रन बनाए थे. चेन्नई की टीम पूरे ओवर खेलने के बाद आठ विकेट खोकर 133 रन ही बना सकी. इस मैच में मुंबई ने खेल के तीन विभागों में चेन्नई को मात दी. उसने शानदार बल्लेबाजी के बाद सटीक गेंदबाजी और बेहतरीन फिल्डिंग के दम पर जीत हासिल की. IPL 2019 में चेन्नई सुपर किंग्स की ये पहली हार थी, वहीं मुंबई इंडियंस ने दूसरी जीत दर्ज की.

मुंबई नंबर-1, CSK नंबर-2
मुंबई इंडियंस ने चेन्नई को हरा 100वीं जीत दर्ज की. जिसमे एक जीत उसे सुपर ओवर में मिली है. मुंबई IPL में 100 मैच जीतने वाली पहली टीम है. IPL में जीत दर्ज करने के मामले में दूसरा नंबर चेन्नई सुपर किंग्स का है. उनके नाम 93 जीत है. बता दें चेन्नई सुपर किंग्स दो साल तक प्रतिबंधित रही थी.

CSK की बल्लेबाजी, जाधव की शानदार पारी
171 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई की शुरुआत खराब रही. उसने छह के कुल स्कोर तक अपने दोनों सलामी बल्लेबाज अंबाती रायडू (0) और शेन वाटसन (5) खो दिए. सुरैश रैना (16) और केदार जाधव (58) ने टीम को संभालने की कोशिश की. दोनों अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे, लेकिन रैना को पोलार्ड ने सीमा रेखा के पास बेहतरीन कैच ले पवेलियन की राह दिखाई. महेंद्र सिंह धोनी आज सिर्फ 21 गेंदों पर 12 रन ही बना सके और 87 के कुल स्कोर पर हार्दिक पांड्या की गेंद पर सूर्यकुमार यादव के हाथों लपके गए. इस बीच हालांकि धोनी ने IPL में अपने 4000 रन पूरे कर लिए और ऐसा करने वाले वह चेन्नई के दूसरे बल्लेबाज हैं. उनसे पहले सुरेश रैना यह अपलब्धि हासिल कर चुके हैं.

MS DHONI
धोनी ने IPL करियर में 4000 रन पूरे किये.

जाधव हालांकि दूसरे छोर पर रन बना रहे थे, लेकिन बढ़ती रनगति ने उनकी राह भी मुश्किल कर दी. जाधव आखिरीकार 108 के कुल स्कोर पर लसिथ मलिंगा के हाथों लपके गए. उन्होंने अपनी पारी में 54 गेंदों का सामना करते हुए आठ चौके और एक छक्का मारा. मलिंगा ने ही ड्वायन ब्रावो (8) को पवेलियन भेजा। ब्रावो के रूप में चेन्नई ने अपना सातवां विकेट खोया. हार्दिक ने दीपक चहर (7) को आउट कर चेन्नई को आठवां झटका दिया.  मुंबई के लिए मलिंगा और हार्दिक पांड्या ने तीन-तीन विकेट लिए. जेसन बेहरनडॉर्फ को दो विकेट मिले.

पांड्या ब्रदर्स, सूर्यकुमार और पोलार्ड की शानदार बल्लेबाजी
इससे पहले मुंबई को शुरुआत धीमी मिली थी, लेकिन अंत उसके बल्लेबाजों ने तेजी से रन बटोर टीम का मजबूत स्कोर दिया. सूर्यकुमार और क्रुणाल के बाद अंत में हार्दिक पांड्या ने आठ गेंदों पर एक चौके और तीन छक्के की मदद से 25 और केरन पोलार्ड ने सात गेंदों पर दो छक्कों की मदद से 17 रन बनाए.  मुंबई के इन फॉर्म बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक (4) इस मैच में विफल रहे और 14 के कुल स्कोर पर दीपक चहर का शिकार बने. कप्तान रोहित शर्मा (13) भी 45 के कुल स्कोर पर पवेलियन निकल लिए. रोहित के जाने के पांच रन बाद युवराज सिंह (4) इमरान ताहिर की गेंद पर अंबाती रायडू के हाथों लपके गए. यहां से सूर्यकुमार और क्रुणाल ने टीम को संभाले रखा और लगातार रन बनाए. इस बीच क्रुणाल को एक जीवनदान भी मिला जब शार्दूल ठाकुर ने ड्वेन ब्रावो की गेंद पर उनका कैच छोड़ दिया.

HARDIK PANDYA
हार्दिक ने पारी के आखिरी तीन गेंदों में 16 रन बटोरे.

क्रुणाल अपने अर्धशतक की ओर बढ़ रहे थे लेकिन मोहित शर्मा की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में रवींद्र जडेजा द्वारा लपके गए. उन्होंने 32 गेंदों पर पांच चौके और एक छक्के की मदद से शानदार पारी खेली. जडेजा ने ही ब्रावो की गेंद पर सूर्यकुमार का कैच पकड़ा उनकी पारी का अंत किया. सूर्यकुमार का विकेट 125 के कुल योग पर गिरा. सूर्यकुमार ने अपनी पारी में 43 गेंदों का सामना किया और आठ चौकों के अलावा एक छक्का मारा. अंत में हार्दिक और पोलार्ड ने आतिशी अंदाज में बल्लेबाजी कर मुंबई को मजबूत स्कोर दिया. मुंबई ने आखिरी पांच ओवरों में दो विकेट के नुकसान पर 77 रन जोड़े जिसमें से 29 रन तो अकेले आखिरी ओवर में आए. इस ओवर में हार्दिक ने दो छक्के और एक चौका मारा. चेन्नई के लिए दीपक, मोहित, इमरान ताहिर, जडेजा, ब्रावो ने एक-एक विकेट लिए.