वर्ल्ड कप फाइनल में हार पर विलियमसन ने कहा- इंग्लैंड खुद को लकी मान रही होगी

इंग्लैंड क्रिकेट टीम का विश्व विजेता बनने का सपना आखिरकार रविवार को क्रिकेट के मक्का कहे जाने वाले लॉडर्स मैदान पर बेहद नाटकीय अंदाज में 44 साल बाद पूरा हो गया. इंग्लैंड ने आईसीसी विश्व कप-2019 के फाइनल में न्यूजीलैंड को सुपर ओवर से मात दे पहली बार विश्व विजेता का तमगा हासिल किया है और इतिहास रचा.

लंदन. न्यूजीलैंड की टीम भले ही विश्व कप के फाइनल में मेजबान इंग्लैंड से हार गई हो, लेकिन कप्तान केन विलियमसन का मानना है कि उनकी टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है. मैच के बाद विलियमसन ने कहा, “हां, जाहिर तौर पर मैं निराश हूं. आप जानते हैं कि इस अवसर को पाने के लिए खिलाड़ियों ने बहुत काम किया था. यहां आकर लगातार दूसरे विश्व कप के फाइनल में खेलना और बेहद कम अंतर से खिताब न जीत पाना, यह दुखद है. मुझे लगता है कि इस टूर्नामेंट के दौरान मैंने संवाददाता सम्मेलन में पहले भी ‘अनियंत्रित’ चीजों के बारे में बात की है और कई ऐसी चीजें हुई जिन्हें झेल पाना बहुत मुश्किल है.”

विलियमसन ने कहा, “मैं इंग्लैंड को श्रेय दूंगा, केवल इस मैच में ही नहीं बल्कि पूरे टूर्नामेंट में उन्होंने जिस प्रकार की क्रिकेट खेली है, वे जीत के हकदार हैं. मैच टाई होने के बाद दोनों में जो भी टीम आज ट्रॉफी जीतकर गई वो शायद खुद को सौभाग्यशाली समझ रही होगी.”

इस पूरे टूर्नामेंट में कम रन बनाने के बाद भी न्यूजीलैंड ने कई मैच जीते. इस पर विलियमसन ने कहा, “हम 250, 260 का स्कोर चाहते थे. हम जानते थे कि यह आसान नहीं है और हम उम्मीद कर रहे थे कि पिच थोड़ी ड्राई होगी और ऐसा ही हुआ. मैं समझता हूं कि शुरुआती 10 ओवर में हमें मूवमेंट मिली और हम शुरुआती विकेट चटका पाए. मैं समझता हूं कि पूरे टूर्नामेंट में पिच और गेंदबाजों के सही जगह पर गेंद डालने के कारण हम जल्दी विकेट ले पाए.”

ये भी पढ़ें: अगर MS धोनी ने संन्यास नहीं लिया तो जबरदस्ती किए जाएंगे बाहर!

ये भी पढ़ें: World Cup Final: मैच टाई, सुपर ओवर भी टाई, फिर कैसे जीता इंग्लैंड !