विराट का नया सिरदर्द कौन करेगा टीम इंडिया के लिए पारी की शुरुआत?

टीम इंडिया के ताबड़तोड़ बल्लेबाज रोहित शर्मा के चोट की वजह से बाहर होने के बाद अब तीन ओपनर कैप्टन विराट के पास हैं.
new zealand vs india, विराट का नया सिरदर्द कौन करेगा टीम इंडिया के लिए पारी की शुरुआत?

न्यूजीलैंड दौरा टीम इंडिया के लिए अब तक काफी रोमांचक रहा है. टी-20 सीरीज 5-0 से जीतकर भारतीय टीम ने इतिहास रचा तो वनडे सीरीज में 3-0 की शर्मनाक हार भी झेली. टीम के खिलाड़ी इंजर्ड भी हुए. उनकी गैरमौजूदगी में कुछ युवा खिलाड़ियों ने सुर्खियां बटोरी. विराट की कई रणनीति फेल हुईं तो कई प्रयोग सफल भी रहे. अब बारी टेस्ट सीरीज की है जिसके शुरु होने में अभी वक्त है. 21 फरवरी से न्यूजीलैंड के खिलाफ शुरु हो रही टेस्ट सीरीज से पहले विराट कोहली के सामने कुछ बड़े सवाल हैं. ये सवाल टीम इंडिया की ओपनिंग जोड़ी और गेंदबाजों के ‘कॉम्बिनेशन’ को लेकर हैं.

कौन करेगा ओपनिंग?

टीम इंडिया के ताबड़तोड़ बल्लेबाज रोहित शर्मा के चोट की वजह से बाहर होने के बाद अब तीन ओपनर विराट के पास हैं. इसमें मयंक अग्रवाल, पृथ्वी साव और शुभमन गिल शामिल हैं. इस तिकड़ी में से सलामी जोड़ी किसकी बनेगी ये कप्तान कोहली के लिए बड़ा सिरदर्द है. सबसे पहले बात मयंक अग्रवाल की. मयंक अग्रवाल ने इसी न्यूजीलैंड दौरे पर अपने वनडे करियर का आगाज किया. लेकिन वनडे क्रिकेट में मयंक अपने डेब्यू को यादगार बनाने में नाकाम रहे.

वैसे लिमिटिड फॉर्मेट से टेस्ट क्रिकेट की तुलना करना गलत है. असली परेशानी तो तब हुई जब प्रैक्टिस मैच में भी मयंक अपने बल्ले से कोई कमाल नहीं कर पाए और 1 रन बनाकर आउट हो गए. इस तथ्य को भी दरकिनार नहीं किया जा सकता कि मयंक ने अपने टेस्ट करियर में ऐसी बेमिसाल पारियां खेली हैं जिसकी वजह से न सिर्फ टीम इंडिया को जीत मिली बल्कि उन्होंने टेस्ट टीम में अपनी जगह पक्की की. मयंक ने 9 टेस्ट मैच में 67 की लाजबाव औसत से 872 रन जोड़े हैं. इसमें 3 शतक और 3 अर्धशतक उनके नाम है. इन आंकड़ों में एक दिलचस्प तथ्य ये भी है कि इतने कम वक्त में मयंक ने 2 दोहरे शतक भी अपनी उपलब्धियों में शामिल किए हैं. जो उनकी दावेदारी को और मजबूत करते हैं. इन आंकड़ों से साफ जाहिर हैं कि कप्तान विराट कोहली मयंक अग्रवाल को हाल की नाकामियों के बाद भी प्लेइंग इलेवन में शामिल करने से पहले नहीं सोचेंगे.

मयंक के बाद कोहली के पास पृथ्वी साव और शुभमन गिल हैं. पृथ्वी साव भी इसी दौरे पर वनडे में डेब्यू करने वाले खिलाड़ी हैं. पृथ्वी ने तीन वनडे मैच की सीरीज में बतौर ओपनर 28 की औसत से 84 रन बनाए. जिसमें उनका सर्वोच्च स्कोर 40 रन रहा. पृथ्वी को सचिन तेंदुलकर का उत्तराधिकारी कहा जाता है लेकिन जिस तरह से वो इस दौरे पर दिखाई दिए उनके अंदाज में लापरवाही दिखाई दी. यही वजह रही कि वो अपने स्कोर को बड़ी पारी में तब्दील करने में चूके. पृथ्वी साव का टेस्ट करियर अभी छोटा ही है. उन्होंने सिर्फ 2 टेस्ट मैच ही खेले हैं.

पृथ्वी ने 2018 में वेस्टइंडीज के खिलाफ होम सीरीज से टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया. अपने डेब्यू मैच में ही पृथ्वी ने शतक जड़कर तहलका मचा दिया था. पृथ्वी ने 2 टेस्ट मैच में 118.50 की जबरदस्त औसत से 237 रन बनाए हैं. इन दोनों मैच में पृथ्वी ने एक बार शतक जड़ा तो दो पारियों में उन्होंने 2 अर्धशतक लगाकर अपनी बल्लेबाजी में निरंतरता का प्रमाण दिया. लेकिन उसके बाद कभी उनकी इंजरी तो कभी डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने की वजह से वो टीम में शामिल नहीं हो पाए. अब वो टेस्ट टीम में शामिल हैं. वनडे सीरीज से पहले पृथ्वी ने इंडिया ए की तरफ से न्यूजीलैंड XI के खिलाफ लिस्ट ए मैच की एक पारी 150 रन भी बनाए थे. उससे पहले घरेलू क्रिकेट में भी पृथ्वी ने बरोड़ा के खिलाफ दोहरा शतक जड़ा था. जाहिर है विराट इन पहलूओं पर भी ध्यान देंगे.

अब बात उस खिलाड़ी की जिसका चयन तो भारतीय टीम में कई बार हुआ लेकिन अब तक उसके टेस्ट करियर की शुरुआत नहीं हो पाई है. हम बात 20 साल के शुभमन गिल की कर रहे हैं. इससे पहले हम उनके आंकड़ो पर चर्चा करें या उनकी बल्लेबाजी का आंकलन करें. उन्होंने न्यूजीलैंड दौरे पर अपने रोल को लेकर मीडिया से क्या कहा वो भी जान लेते हैं. शुभमन गिल ने कहा कि जब आप ओपन करते हैं तो आप नई गेंद का सामना करते हैं. कहीं भी नई गेंद का सामना करना चुनौतीपूर्ण होता है. मैं अपनी घरेलू टीम के लिए ओपनिंग करता रहा हूं. इससे मुझे काफी मदद मिली. जब मुझे ओपनिंग के लिए पूछा गया तो मैंने कहा कि मेरे लिए ओपनिंग करना कोई नई बात नहीं है.

शुभमन गिल के बयान से साफ जाहिर हैं कि वो टेस्ट में बतौर ओपनर डेब्यू करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. ये तैयारी सिर्फ शुभमन के बयान में ही नहीं झलकी बल्कि इंडिया ए की ओर से न्यूजीलैंड XI के खिलाफ उनके प्रदर्शन में भी दिखाई दी. शुभमन ने आखिरी 2 मैच में 1 दोहरा शतक, 1 शतक और 1 अर्धशतक लगाकर अपनी दावेदारी मजबूत की है. एक छोटा सा पेंच इस बात का है कि प्रैक्टिस मैच में वो भी चूक गए और बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए.

मयंक अग्रवाल, पृथ्वी साव और शुभमन गिल इन तीनों ने ही टीम मैनेजमैंट के सामने अपना दावा पेश किया है. देखना दिलचस्प होगा कि विराट की पहली पसंद बनने में कौन कामयाब होगा.

Related Posts